दिल्ली में बीएसएफ का सुपरकिंग विमान क्रैश, सभी 10 लोगों की मौत

By: | Last Updated: Tuesday, 22 December 2015 8:19 PM
charter plane crash in Delhi, Two dead

नई दिल्ली : दिल्ली से रांची जा रहा बीएसएफ (सीमा सुरक्षाबल) का चार्टर विमान हादसे का शिकार हो गया है. विमान में पायलट और को-पायलट के साथ कुल 10 लोग सवार थे.  इस हादसे में इन सभी दस लोगों की मौत हो गई है.

ये हादसा दिल्ली एयरपोर्ट के करीब ही शाहबाद रेलवे स्टेशन के पास हुआ. इस विमान में  बीएसएफ की इंजीनियरिंग टीम के सात लोग सवार थे.

बीएसएफ के मुताबिक विमान ने सुबह 9.37 मिनट पर दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के रनवे नंबर 28 से से उड़ान भरी थी, लेकिन तकनीकी खराबी के बाद अगले पांच मिनट में ही हादसे का शिकार हो गया. हादसे के बाद मौके पर विमान का मलबा काफी दूर तक फैल गया. विमान में आग लगने की वजह से आसमान में धुएं का गुब्बार देखा गया. जहां हादसा हुआ है वहां पास से चालू सड़क गुजरती है और करीब में ही खाली मैदान भी है.

हादसे के तुरंत बाद मौके पर एंबुलेंस और दमकल की गाड़ियां भेजी गईं, आग बुझाई गई. लेकिन किसी भी जान को बचाया नहीं जा सका.

हादसे के तुरंत बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मौके का दौरा किया. उन्होंने हादसे पर दुख प्रकट करते हुए ये जानकारी दी कि उस विमान में  10 लोग सवार थे. उनकी जानकारी देने के थोड़ी देर बाद विमानन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने बताया कि कि विमान में सवार सभी 10 के दस लोग  मारे गए हैं.

कैसे हुआ हादसा?

BSF plane crash 3 final

इस चार्टर विमान ने सुबह 9.37 मिनट पर उड़ान भरी, जैसे ही विमान ने उड़ान भरी, तकनीकी खराबी पाई गई और उसे वापिस एयरपोर्ट पर लैंडिग की कोशिश की गई, तभी ये विमान एयरपोर्ट के पास ही क्रैश कर गया.

विमान के उड़ान भरने के तीन मिनट बाद पायलट ने एटीएस (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) से संपर्क किया और तनीकी खराबी की बात बताई. एटीएस की तरफ से वापस लैंडिंग करने के लिए कहा गया. विमान को रनवे नंबर 10 पर लैंड करने का आदेश दिया गया. जब विमान रनवे नंबर 10 की तरफ बढ़ रहा था तब भी ये हादसे का शिकार हो गया.

इस विमान को सुपरकिंग विमान कहा जाता है और इस विमान का इस्तेमाल वीआईपी मूवमेंट के लिए भी किया जाता है.

बीएसएफ के पूर्व एडीजी पीके मिश्रा का कहना है कि जो विमान हादसे का शिकार हुआ है वह काफी पुराना सुपरकिंग विमान था. इसे बीएसएफ के एयरविंग से निकाल देना चाहिए था.

ये भी जानकारी मिली है कि इस विमान को बीएसएफ एयरविंग में 1982 में शामिल किया गया था. ये विमान पुराना और काफी जर्जर हालत में था.

चश्मदीदों ने क्या कहा?

मौके पर मौजूद चश्मदीद रमेश शेखर ने एबीपी न्यूज़ को बताया, ”मैं उसी रास्ते से जा रहा था तभी अचानक बहुत तेज आवाज आई. धुएं और आग का गुबार चारो तरफ फैल गया. विमान का मलबा चारों ओर बिखरा पड़ा था. मैंने अपने मोबाइल से वीडियो शूट किया और एबीपी न्यूज़ को भेज दिया.”

रमेश शेखर के अलावा हिना ने कहा कि जैसे ही हादसा हुआ, उन्हें काफी तेज़ आवाज़ सुनाई दी. जैसे ही उन्होंने देखा आग की लपटें और धुआं हादसे की जगह से निकल रहा था. उन्होंने कहा, “मैंने अपनी आंँखों से दो लाशें देखीं.”

कैसा होता है सुपरकिंग विमान?

BSF plane crash 4 final

इस विमान में पायलट और को-पायलट सहित कुल ग्यारह लोगों के बैठने की जगह होती है.

इसकी रफ्तार 490 किलोमीटर प्रति घंटा होता है.

ये विमान एक उड़ान में 2400 किलोमीटर की उड़ान भर सकता है.

30 से 35 हज़ार फीट की ऊंचाई पर उड़ सकता है.

ये विमान 1982 में बीएसएफ एयरविंग को मिला था.

बीएसएफ एयरविंग के पास तीन सुपरकिंग विमान है. पहला विमान 1982 में मिला तो दूसरा 1987 में मिला था और तीसरा विमान 1994 में मिला था. जो सुपरकिंग विमान हादसे का शिकार हुआ, वह सबसे पुराना सुपरकिंग विमान था.

हादसे के शिकार लोग

1- पायलट कैप्टन भगवती प्रसाद

2- को पायलट राजेश शिवरेन (एसएसबी)

3- डिप्टी कमांडेंट डी कुमार (इंजीनियरिंग)

इंजीनियरिंग टीम

4- राघवेंद्र कुमार

5- एसएन शर्मा

6- छोटेलाल

7- रवींद्र कुमार

8- डीपी चौहान

9- सुरेंद्र सिंह

10- के रावत

बताया जा रहा है कि पायलट कैप्टन भगवती प्रसाद औैर को पायलट राजेश शिवरेन काफी अनुभवी पायलट थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: charter plane crash in Delhi, Two dead
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017