चेन्नई बाढ़: जब चप्पलें तैरने लगीं चेन्नई के घरों में

By: | Last Updated: Tuesday, 8 December 2015 4:22 AM
Chennai floods: when slippers started floating in homes

चेन्नई: पूरे पांच दिन और छह रातें अंधेरे में बिताने के बाद सोमवार को मानस मुखर्जी के घर में बिजली लौटी है. बाढ़ की विभीषिका झेल रहे मानस को इससे थोड़ी राहत तो मिली, लेकिन उनका मानना है कि चेन्नई को शताब्दी की इस सबसे भीषण बाढ़ और बारिश से उबरने में काफी वक्त लगेगा. इन सबके बावजूद 2009 में चेन्नई आकर बसे 44 वर्षीय मुखर्जी चेन्नई छोड़कर नहीं जाना चाहते.

 

मुखर्जी ने कहा, “आपदा ने पड़ोसियों के बीच भाईचारे की भावना विकसित की है. इस दौरान हम एकदूसरे के बेहद नजदीक आए.”

 

दक्षिणी चेन्नई स्थित तिरुवानमियूर में लगातार जारी भारी बारिश और टखने तक डूबे घर में बिना बिजली-पानी रहे स्थानीय वासियों को सोमवार तक शायद ही कोई राहत पहुंची हो.

 

मुखर्जी ने आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कहा, “मैं पूरी परिस्थिति को तीन शब्दों में बयां कर सकता हूं. लाइफ ऑफ पाई. क्या आपने यह फिल्म देखी है? मेरे चारों ओर पानी ही पानी था और मैं खुद को फिल्म के उस मुख्य किरदार जैसा महसूस कर रहा था.”

 

यह आपदा एक दिसंबर से शुरू हुई जब मुखर्जी ने आधी रात के वक्त अपने घर में चप्पलों को तैरते हुए देखा. मुखर्जी ने कहा, “वे सच में तैर रही थीं.”

 

मुखर्जी चेन्नई के उन हजारों लोगों की तरह चौंकते हुए उठ खड़े हुए जिनके भूतल पर स्थित घरों में बारिश का पानी आठ-आठ फुट तक भर चुका था.

 

यहीं से मुसीबत की शुरुआत हुई. मुखर्जी और उनकी पत्नी झट से अपने बिस्तर से उठे जमीन पर रखे कीमती सामानों को ऊंचे स्थानों पर रखने लगे. हालांकि वह भाग्यशाली रहे कि तलघर होने के कारण पानी उससे अधिक नहीं उठा.

 

मुखर्जी ने कहा, “हम पूरे 20 घंटों तक घुटनों पानी में ही रहे.” हालांकि सोमवार तक भी उनके घर के बाहर सड़कों पर दो फुट पानी भरा हुआ है. एक दिसंबर की ही रात जहां बिजली कट गई, वहीं दो दिनों में उनकी टंकी का पानी भी खत्म हो गया.

 

उन्होंने बताया, “हमने कई दिनों तक नहाया ही नहीं. आप विश्वास नहीं करेंगे कि हमारे पास दांत साफ करने तक के लिए पानी नहीं था. कुछ ही समय बाद हमारे पास शौच तक के लिए पानी नहीं रहा. यहां तक कि स्नानघर और शौचालय से गंदा पानी बाहर आने लगा.”

 

बाढ़ की भीषण आपदा झेल रहे चेन्नई में भूतल पर रहने वाले लोग जहां बड़ी संख्या में ऊपरी तल पर अपने पड़ोसियों के यहां रहने चले गए, मुखर्जी ने अपने बेहद वृद्ध माता-पिता की वजह से घर नहीं छोड़ा. मुखर्जी ने बताया, “यह नर्क के समान था. पास वाली दुकान से सभी जरूरी दवाएं, साबुन यहां तक की मोमबत्तियां भी बिक चुकी थीं.”

 

शुक्र है कि उनकी कार ठीक रही जिससे वह बारिश के बीच ही पानी और अन्य जरूरी सामानों की तलाश में कई किलोमीटर चक्कर लगाने के बाद वे 100 रुपये में दो दर्जन केले लेकर घर लौटे. इस बीच रास्ते में पड़े सारे एटीएम खाली पड़े मिले.

 

राहत कार्य पर मुखर्जी ने कहा, “साफ-साफ कहूं तो मुझे किसी भी समय कोई भी सरकारी संस्थान राहत कार्य करता नहीं दिखा. बल्कि अब तक कोई नहीं आया. हां कुछ गैर सरकारी संगठन जरूर मदद के लिए आगे आए. जिन्हें हम जानते तक नहीं थे उन पड़ोसियों ने भी हमारी बहुत मदद की.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Chennai floods: when slippers started floating in homes
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017