महाराष्ट्र सदन घोटाले में एनसीपी नेता छगन भुजबल के खिलाफ एफआईआर

By: | Last Updated: Thursday, 11 June 2015 5:37 PM
chhagan bhujbal

नई दिल्ली: एंटी करप्शन ब्यूरो ने आज महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और एनसीपी नेता छगन भुजबल के खिलाफ महाराष्ट्र सदन घोटाले के सिलसिले में FIR  दर्ज की. तीन दिन पहले यहां कलीना में जमीन आवंटन के सिलसिले में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. भुजबल महाराष्ट्र की पिछली कांग्रेस-एनसीपी सरकार में लोक निर्माण मंत्री थे. एफआईआर में उनका, उनके बेटे पंकज, भतीजे समीर और 14 अन्य के नाम हैं.

 

मामला नयी दिल्ली में महाराष्ट्र सदन के नये भवन के निर्माण के लिए ठेका देने से जुडा है. एफआईआर में अन्य आरोपियों में अरण देवधर, देवदत्त मराठे, बिपिन सांखे, कृष्णा चमनकर, प्रणीता चमनकर, तनवीर शेख, संजय जोशी, मानिक शाहा, दीपक देशपांडे, अनिल कुमार गायकवाड, प्रवीणा चमनकर, प्रसन्ना चमनकर, इराम तनवीर शेख और गीता जोशी हैं. आम आदमी पार्टी की नेता अंजलि दमानिया की शिकायत के बाद राज्य एसीबी ने भुजबल और उनके परिवार के खिलाफ जांच शुरू की थी.

 

दमानिया का आरोप था कि नये महाराष्ट्र सदन के निर्माण में बडे स्तर पर भ्रष्टाचार और गडबडियां हुईं. उनका आरोप था कि भुजबल के समय में लोक निर्माण विभाग ने नियमों का व्यापक तौर पर उल्लंघन करते हुए कंपनियों को ठेके दिये थे. ये सभी कंपनियां भुजबल परिवार के सदस्यों की बनाई थीं या उनके नियंत्रण में थीं.

 

बंबई उच्च न्यायालय ने इस साल अप्रैल में कहा था कि प्रथमदृष्टया साक्ष्य हैं और भ्रष्टाचार का मामला होने पर एसीबी प्राथमिकी दर्ज कर सकता है. दिल्ली में नये महाराष्ट्र सदन का निर्माण 100 करोड रुपये की लागत से कराया गया था. उस समय महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी सरकार थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: chhagan bhujbal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017