छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए CRPF के जवानों की तादाद हुई 14, आज गृह मंत्री का दौरा

By: | Last Updated: Tuesday, 2 December 2014 1:02 AM

रायपुर/नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में पिछले 10 दिनों के भीतर एक ही स्थान पर दूसरा बड़ा हमला करते हुए सोमवार को नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के दो अधिकारियों समेत 14 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी. इस हमले में 12 अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गये.

 

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सोमवार देर रात संवाददाताओं को बताया, ‘‘ताजा रिपोर्टों के अनुसार, 14 सीआरपीएफ कर्मी मारे गए और 12 अन्य घायल हुए हैं.’’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हमले की निंदा की है.

 

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘सुकमा में राष्ट्र विरोधी तत्वों द्वारा किए गए नृशंस और अमानवीय हमले की निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं.’’ वहीं राजनाथ सिंह ने इसे कायराना हरकत बताया. हालात का जायजा लेने के लिए सिंह आज छत्तीसगढ़ के लिए रवाना हो रहे हैं.

 

सिंह ने लखनऊ में संवाददाताओं से कहा, ‘‘नक्सलियों ने मासूम ग्रामीणों को ढाल बनाकर हमला किया.’’ राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र में दोरनापाल और चिंतलनार गांव के मध्य नक्सलियों ने सोमवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के गश्ती दल पर घात लगाकर हमला कर दिया. इस हमले में सीआरपीएफ के एक असिस्टेंट कमांडेंट राजेश कपूरिया और एक डिप्टी कमांडेंट बी एस वर्मा समेत 14 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. वहीं इस घटना में 12 पुलिसकर्मी घायल हैं जिनमें से छह की हालत गंभीर है.

 

सुकमा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 13 जवान शहीद

 

अधिकारियों ने बताया कि चिंतागुफा थाना क्षेत्र से 29 नवंबर को सीआरपीएफ के 223वीं बटालियन और 206 कोबरा बटालियन के अधिकारियों और जवानों को नक्सल विरोधी आभियान में रवाना किया गया था. सोमवार को वापसी के दौरान नक्सलियों ने कासलपाड़ा गांव के जंगल में पुलिस दल पर घात लगाकर हमला कर दिया. बाद में पुलिस जवानों ने भी नक्सलियों पर जवाबी कार्रवाई की.

 

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र के लिए पुलिस दल रवाना किया गया तथा मृत जवानों के शवों और घायल जवानों को बाहर निकालने की कार्रवाई की गई. राज्य के नक्सल मामलों के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आरके विज ने बताया कि जवानों के शवों और घायलों को चिंतागुफा से रायपुर लाया जाएगा. जवानों के शवों और घायल जवानों को चिंतागुफा थाना लाया गया है.

 

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में आठ नक्सलियों के भी मारे जाने की संभावना जताई गई है. मुठभेड़ के दौरान जवानों ने नक्सलियों के मरने की पुष्टि की है. हालांकि, इस दौरान नक्सलियों का शव बरामद नहीं किया गया है.

 

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने नक्सली हमले की निंदा की है और इसे कायरना हरकत कहा है. सिंह ने कहा कि नक्सलियों में इतना साहस नहीं है कि वे हमारे सुरक्षा बलों से आमने-सामने मुकाबला कर सकें. इसलिए उन्होंने कायरतापूर्ण तरीके से घात लगाकर हमला किया.

 

राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसे सरकार और खुफिया तंत्र की विफलता कहा है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से लगातार सरकार नक्सलियों के आत्मसमर्पण के बड़े-बड़े दावे कर रही थी. नक्सलवाद के कमजोर होने की बात भी सरकार कर रही थी फिर अचानक इतना बड़ा हादसा कैसे हो गया. यह पुलिस के सूचना तंत्र से हुई गंभीर चूक है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: chhattisgarh_crpf_naxals
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017