इसी हफ्ते इंडोनेशिया से भारत लाया जा सकता है छोटा राजन

By: | Last Updated: Tuesday, 27 October 2015 1:33 AM

नई दिल्ली: अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की गिरफ्तारी की पुष्टि होने के बाद भारत सरकार की तरफ से उसे डिपोर्ट कराने की कोशिशें तेज़ हो गई हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राजन को भारत लाने की कोशिशों के तहत सीबीआई और मुंबई पुलिस की संयुक्त टीम बाली जाएगी और वहां की अथॉरिटीज के साथ कानूनी औपचारिकताएं शुरू करेंगी. छोटा राजन की गिरफ्तारी के बाद इंडोनेशिया के अधिकारियों का कहना है कि इसी हफ्ते छोटा राजन को भारत को सौंप दिया जाएगा.

 

इस गिरफ्तारी को लेकर हुए ऑपरेशन की बड़ी जानकारी एबीपी न्यूज के पास आई है. एबीपी न्यूज को ये पता चला है कि छोटा राजन की गिरफ्तारी से पहले विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह अपने ओएसडी और बड़े अधिकारियों की टीम के साथ शुक्रवार को इंडोनेशिया पहुंच गए थे. वी के सिंह राजन की गिरफ्तारी के बाद इंडोनेशिया से लौटे.

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन इंडोनेशिया में गिरफ्तार, सीबीआई ने की पुष्टि 

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने छोटा राजन की गिरफ्तारी पर कहा, “छोटा राजन को लेकर पहले ही रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जा चुका था. भारत सरकार प्रयत्नशील थी कि इसे भारत लाया जाए. इंटरपोल से इस संबंध में पहले ही रिक्वेस्ट की थी. छोटा राजन की गिरफ्तारी के बाद सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.”

 

दाऊद की गिरफ्तारी को लकेर पूछे गए सवाल पर गृहमंत्री ने कहा, ”आप लोग देखते जाइए उसके बारे में मुझे अभी कुछ नहीं कहना है.”

WATCH: अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन इंडोनेशिया में गिरफ्तार, सीबीआई ने की पुष्टि 

सीबीआई डायरेक्टर अनिल सिन्हा ने छोटा राजन की गिरफ्तारी की पुष्टि की है. सिन्हा पुष्टि करते हुए कहा कि सीबीआई के कहने पर ही इंटरपोल ने छोटा राजन को गिरफ्तार किया गया. छोटा राजन को अब भारत लाने की तैयारी हो रही है.

 

छोटा राजन को तब गिरफ्तार किया गया जब वह ऑस्ट्रेलिया के सिडनी से इंडोनेशिया के बाली पहुंचा था.

 

WATCH: अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन इंडोनेशिया में गिरफ्तार, सीबीआई ने की पुष्टि 

आपको बता दें कि मुंबई के अंडरवर्ल्ड छोटा राजन पर 16 हत्याओं के मामले दर्ज हैं और वह उन मामलों में वांछित है. एक समय में छोटा राजन अंडरवर्ल्ड दाऊद इब्राहीम के साथ काम करता था, लेकिन 1993 में मुंबई बम धमाकों के बाद दोनों के रास्ते अलग हो गए और छोटा राजन ने दाऊद को मारने की कई साजिशें तक की. दाऊद ने भी छोटा राजन पर हमले कराए.

 

छोटा राजन पिछले 20 साल से फरार था. पुलिस का कहना है कि 55 साल के छोटा राजन को 1995 से इंटरपोल तलाश कर रही थी.

कैसे हुआ गिरफ्तार?

 

बाली पुलिस के प्रवक्ता के मुताबिक इंडोनेशिया की पुलिस ने ऑस्ट्रेलिया पुलिस की जानकारी के आधार पर छोटा राजन को धर दबोचा है. पुलिस के मुताबिक जैसे ही छोटा राजन ऑस्ट्रेलिया के सिडनी से इंडोनेशिया के शहर बाली में पहुंचा उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

SPECIAL: ये गिरफ्तारी कैसे हुई, कैसे कसा शिकंजा छोटा राजन अरेस्ट की इनसाइड स्टोरी 

इंडोनेशिया पुलिस ने कहा, “रविवार को कैनबेरा पुलिस ने हमें एक हत्यारे को लेकर रेड नोटिस जारी किया. हमने उसे एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार किया. हमें ये जानकारी दी गई कि ये शख्स भारत में 15 से 20 हत्याओं में पुलिस को वांछित है.”

 

एएफपी के मुताबिक बाली की पुलिस इंटरपोल और भारतीय अधिकारियों के संपर्क में है और ये कहा रहा है कि छोटा राजन को भारत डिपॉर्ट किया जा सकता है.

छोटा राजन : डी-कंपनी का खास जो बना दाऊद का सबसे बड़ा दुश्मन 

ऑस्ट्रेलिया की फेडरल पुलिस के मुताबिक कैनबेरा में इंटरपोल ने भारतीय अधिकारियों की गुजारिश पर इंडोनेशियाई अधिकारियों से छोटा राजन की जानकारी दी और फिर उसकी गिरफ्तारी अमल में आई.

 

ऑस्ट्रेलिया की फेडरल पुलिस ने पिछले महीने इस बात की जानकारी दी थी कि छोटा राजन नाम बदलकर ऑस्ट्रेलिया में रह रहा है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: chhota rajan to bring india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: CBI Chhota Rajan India indonesia
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017