cm_nitish_speaks_on_bihar_exams_cheating

cm_nitish_speaks_on_bihar_exams_cheating

By: | Updated: 20 Mar 2015 07:40 AM

नई दिल्ली: बिहार में बोर्ड परीक्षा में खुलेआम नकल की तस्वीरें सामने आने के बाद और दुनिया भर में बिहार की किरकिरी होने के बाद सीएम नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया सामने आई है. नीतिश कुमार ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लिखा है कि नकल की ये तस्वीरें पूरे बिहार की कहानी नहीं हैं, नकल की इन कुछ तस्वीरों से बिहार की प्रतिभा का आंकलन नहीं किया जा सकता.

 

नीतीश कुमार का ब्लॉग

बिहार में मैट्रिक की परीक्षा में नकल की जो तसवीरें सामने आई हैं मैं उनके प्रत्येक पहलू के विरूद्ध हूँ. एक, इन तसवीरों में पूरे बिहार की कहानी नहीं है. बिहार के छात्र मेधावी हैं, और देश और दुनिया में अपनी प्रतिभा से अपनी जगह बनाते रहे हैं. नक़ल की कुछ तस्वीरें बिहार की प्रतिभा पर हावी नहीं हो सकतीं.



 

दो, प्रशासन अपने स्तर पर सचेत है और गड़बड़ी की खबर मिलते ही सरकार ने इस प्रक्रिया से जुड़ी प्रत्येक एजेंसी से पूरी सतर्कता और जवाबदेही से काम करने को कहा है. अतः प्रशासन के काम की छवि महज़ इन तस्वीरों से नहीं बल्कि पूरी प्रक्रिया को सुचारू ढंग से क्रियान्वित करने के आधार पर आंकी जानी चाहिए.

नकल की तस्वीरें पूरे बिहार की कहानी नहीं- नीतीश 

तीन, और सबसे अहम् बात. मैं बिहार में नक़ल में सहयोग देने वाले अभिभावकों, संबंधियों और मित्रों से कहूँगा कि अपनी गलत सोच से आप छात्र का और बिहार का नुकसान कर रहे हैं. नक़ल से मिले इस सर्टिफिकेट का असल जीवन में उपयोग नहीं होगा और इस तरह से उत्तीर्ण छात्र का मनोबल सदैव के लिए कमज़ोर रहेगा. नक़ल के प्रयास सदैव के लिए छात्र को नक़ल पर निर्भर करने की मानसिकता से बोझिल कर देंगे. अतः मैं अपील करूंगा कि नक़ल करने कराने का हिस्सा न बनें. छात्र सर्टिफिकेट से नहीं काबलियत से आगे बढ़ते हैं और इसके लिए परिवार और समाज को प्रेरणा भी देनी होगी और सहयोग भी.

 

मैं अपने स्तर पर पूरी तरह तत्पर होकर काम कर रहा हूँ ताकि बिहार के भविष्य का निर्माण छात्रों और युवाओं की प्रतिभा, कौशल और परिश्रम के बल पर हो. इसके लिए मैं बिहार के सभी लोगों से सहयोग की अपील करता हूँ.

जय बिहार, जय भारत.

 

अब भी जारी है नकल

बिहार में नकल बदस्तूर जारी है. कल हाजीपुर से तस्वीर आईं, आज सहरसा, नवादा, लखीसराय में भी खुलेआम नकल होते दिखी. सहरसा में तो पुलिसवाले भी नकल की पुर्जी पहुंचाने में मदद करते दिखे. नवादा में महिला कर्मचारी पॉलीथीन बैग में पुर्जी लेकर वहां पहुंच गई जहां परीक्षा हो रही है. कल बिहार के शिक्षा मंत्री पीके शाही ने कहा है कि सरकार नकल नहीं हो सकती है. सवाल ये है कि जब इंतजाम ऐसे होंगे तो नकल कैसे रूकेगी.  बिहार में नकल पर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बिहार सरकार से रिपोर्ट मांगी है.

 

बिहार के शिक्षा मंत्री ने खड़े किए हाथ

बिहार में मैट्रिक परीक्षा में धड़ल्ले से हो रही नकल पर राज्य के शिक्षा मंत्री ने हाथ खड़े कर दिए हैं. एबीपी न्यूज ने इस बारे में उनसे बात की तो बिहार के शिक्षा मंत्री पी के शाही ने कहा कि वो अपने ही लोगों पर गोलियां थोड़े ना चलवा सकते हैं.

 

पी के शाही ने नकल पर तत्काल लगाम लगाने पर एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा, ''हमें नहीं पता कि इसे रोकने में कौन सा कारगर कदम उठाया जाए या कौन सी व्यवस्था कराई जाए. मैं मीडिया के माध्यम से बच्चों के अभिभावकों से अपील करता हूं कि बच्चों के भविष्य को देखते हुए अभिभावक बच्चों को नकल ना कराएं. यह एक बहुत गंभीर विषय है. नकल रोकने के लिए सरकार अकेले कुछ नहीं कर सकती, यह सरकार के बूते की बात नहीं है. सरकार अपने ही लोगों पर गोली थोड़े ही चलवा सकती है या उन पर कोई दंडात्मक कार्रवाई थोड़े करेगी.''

 

संबंधित खबरें-

नकल पर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने मांगी बिहार सरकार से रिपोर्ट, नवादा और लखीसराय में भी खुलेआम दीवार पर चढ़कर नकल कराते दिखे लोग 

बिहार में नकल पर शिक्षा मंत्री की दो टूक, 'लोगों पर गोलियां थोड़े ना चलवा सकते हैं' 

बिहार: परीक्षा बिगड़ने पर छात्र ने की आत्महत्या

बिहार: मैट्रिक परीक्षा में डंके की चोट पर नकल, दीवारों पर चढ़कर दिए जा रहे हैं चिट



फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जानिए- सीएम से विधायकों की अजब-गजब मांग, योगी का दिलचस्प जवाब