कोयला घोटाला में पहली सजा 31 मार्च को होगी

Coal scam: Court convicts Jharkhand Ispat Pvt Ltd

नई दिल्ली:  कोयला घोटाले में पहला बड़ा फैसला. दिल्ली की पटियाला हाउस की विशेष कोयला अदालत ने झारखंड इस्पात प्राइवेट लिमिटेड और उसके दो निदेशकों को दोषी करार दिया है. अदालत ने आर एस रुंगटा और आर सी रुंगटा को धोखाधड़ी और आपराधिक साज़िश रचने के आरोप में दोषी करार दिया है. आरोपियों की सज़ा का एलान 31 मार्च को किया जा सकता है.

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट की विशेष कोयला अदालत का ये फैसला झारखंड इस्पात प्राइवेट लिमिटेड को उत्तरी धाडु कोयला खदान में कोयला खदान आबंटन गलत तरीके से हासिल करने के मामले में आया है. झारखंड इस्पात प्राइवेट लिमिटेड को साल 2005 में कोयला खदान का आबंटन हुआ था. जब सुप्रीम कोर्ट ने 1993 से 2010 तक के सभी कोयला खदान आबंटन को रद्द किया तो जांच एजेंसी सीबीआई ने झारखंड इस्पात प्राइवेट लिमिटेड और उसके दो निदेशको आर एस रुंगटा और आर सी रुंगटा के खिलाफ नवंबर 2014 में धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश समेत अलग अलग धाराओं में चार्जशीट दायर की थी. जिसके बाद अदालत ने 21 मार्च 2015 को तीनों आरोपियों के खिलाफ आरोप तय कर दिए थे. हालांकि फैसला आने से पहले ही 2 सह आरोपियों की मौत भी हो गयी.

अदालत ने अपने फैसले में साफ़ तौर पर लिखा है की आरोपियों के गलत जानकारी देकर और धोखाधड़ी के ज़रिये स्क्रीनिंग कमिटी के सामने तथ्य रखे और स्क्रीनिंग कमिटी ने उन तथ्यों को सही मानते हुए ही झारखंड इस्पात प्राइवेट लिमिटेड को कोयला खदान का आबंटन कर दिया.

ये पहला मामला है जहाँ अदालत ने कोयला घोटाले में कठघरे में खड़ी कंपनी और आरोपियों को दोषी करार दिया है. लेकिन अदालत में कोयला घोटाले से जुड़े इसके अलावा भी अभी कई और मामले लंबित है. विशेष कोयला अदालत में इस फैसले के बाद भी अभी 21 और मामले लंबित हैं. जिसमें से 19 सीबीआई और 2 प्रवर्तन निदेशालय से जुड़े मामले शामिल हैं. इन 21 मामलों में
– 3 आरोप तय होने को लेकर आदेश आने वाला है.
– 1 में अंतिम बहस चल रही है.
– 2 में सबूत और गवाह पेश किये जा रहे हैं.
– 1 मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा रखी है क्योंकि उसमे पूर्व प्रधानमन्त्री और तत्कालीन कोयला मंत्री मनमोहन सिंह को आरोपी बनाने का अदालत ने आदेश दिया था जिसको मनमोहन सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी हुई है.
– 1 मामले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है.
– 6 मामलो में आरोपो पर बहस चल रही है.
– 4 अभी शुरूआती चरण में हैं
और
– 1 में सीबीआई ने क्लोज़र रिपोर्ट दाखिल की हुई है जिस पर अदालत का फैसला आना बाकी है.
इसके आलावा 2 मामले प्रवर्तन निदेशालय के हैं जिन पर भी सुनवाई शुरू हो चुकी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Coal scam: Court convicts Jharkhand Ispat Pvt Ltd
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017