पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी में फिर हिंसा, निषेधाज्ञा लगायी गयी

By: | Last Updated: Saturday, 25 October 2014 12:49 PM

नई दिल्ली: पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके में आज ताजा हिंसा में पांच लोगों के घायल होने के बाद इलाके में निषेधाज्ञा लगा दी गयी. दिवाली की रात दो समूहों के बीच हुई झड़प के बाद आज तीसरे दिन भी वहां तनाव बना रहा.

 

इस घटना के सिलसिले में अबतक 70 से अधिक बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है और ऐसे तत्वों की धरपकड़ जारी है. पुलिस ने लोगों को वहां नहीं जाने की सलाह दी है.

 

इलाके के निवासी दिवाली की रात से ही आपसी भिडंत में लगे हैं, उन्होंने सुरक्षाकर्मियों पर पत्थर भी फेंके, जिसके चलते 13 पुलिसकर्मियों समेत कम से कम 35 लोग घायल हो गए. उपद्रवियों ने स्थानीय लोगों एवं पुलिसकर्मियों के कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया.

 

घायलों में पांच व्यक्तियों को गोलियां लगी हैं. स्थानीय लोगों ने दावा किया कि पुलिस ने गोलियां चलायीं जबकि वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि बदमाशों ने गोलियां चलायीं.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘चार व्यक्तियों को गोलियां लगीं लेकिन वह हमने नहीं चलायी थीं. हम यह पता करने में जुटे हैं किसने गोलियां चलाईं. कल इस सिलसिले में दस लोग गिरफ्तार किये गए जबकि आज दंगा फैलाने के सिलसिले में 60 पकड़े गए. स्थिति तनावपूर्ण है लेकिन नियंत्रण में है. ’’ पुलिस के अनुसार कल रात की हिंसा में 13 पुलिसकर्मियों समेत 14 लोग घायल हो गए. दस व्यक्ति दंगा फैलाने में कथित संलिप्तता को लेकर गिरफ्तार किए गए हैं. प्रभावित क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं. इलाके में पथराव की छिटपुट घटना के बाद आज सुबह फिर समस्या खड़ी हो गयी.

 

दिल्ली पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘‘त्रिलोकपुरी की कुछ घनी बस्तियों में कुछ घटनाएं होने की खबर आयी है. पुलिस को स्थिति से निबटने के लिए आवश्यक न्यूनतम बल प्रयोग करना पड़ा और हमने दंगा फैलाने एवं आगजनी को लेकर 60 से अधिक लोगोंे को गिरफ्तार किया है . गोलियां लगने से पांच व्यक्तियों के घायल होने की खबर है.’’ बयान के अनुसार हिंसा प्रभावित क्षेत्र में पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि और समस्या न हो. स्थिति सामान्य बनाने के लिए स्थानीय अमन समितियां बहाल की गयी हैं.

 

इस घटना की शुरूआत उस समय हुई जब दिवाली की रात दो समुदायों के युवक आपस में भिड़ गए. पुलिस ने स्थिति को तत्काल नियंत्रण में लिया लेकिन कल रात एक बार फिर झड़प हो गई. इसके बाद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और हल्के बल का प्रयोग किया.

 

पुलिस के अनुसार कल रात की हिंसा में 13 पुलिसकर्मियों समेत 14 लोग घायल हो गए. दस व्यक्ति दंगा फैलाने में कथित संलिप्तता को लेकर गिरफ्तार किए गए हैं. प्रभावित क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं. इलाके में पथराव की छिटपुट घटना के बाद आज सुबह फिर समस्या खड़ी हो गयी.

 

दिल्ली पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘‘त्रिलोकपुरी की कुछ घनी बस्तियों में कुछ घटनाएं होने की खबर आयी है. पुलिस को स्थिति से निबटने के लिए आवश्यक न्यूनतम बल प्रयोग करना पड़ा और हमने दंगा फैलाने एवं आगजनी को लेकर 60 से अधिक लोगोंे को गिरफ्तार किया है . गोलियां लगने से पांच व्यक्तियों के घायल होने की खबर है.’’ बयान के अनुसार हिंसा प्रभावित क्षेत्र में पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि और समस्या न हो. स्थिति सामान्य बनाने के लिए स्थानीय अमन समितियां बहाल की गयी हैं.

 

इस घटना की शुरूआत उस समय हुई जब दिवाली की रात दो समुदायों के युवक आपस में भिड़ गए. पुलिस ने स्थिति को तत्काल नियंत्रण में लिया लेकिन कल रात एक बार फिर झड़प हो गई. इसके बाद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और हल्के बल का प्रयोग किया.

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: communal tension in delhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017