कांग्रेस ने पार्टीजनों को मीडिया के सामने टिप्पणी करने के प्रति आगाह किया

By: | Last Updated: Friday, 5 September 2014 4:00 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस में टीम राहुल और वरिष्ठ नेताओं के बीच गहराती खाई के मद्देनजर पार्टी ने आज निर्देश जारी कर नेताओं को सार्वजनिक बयानबाजी से दूर रहने को कहा. लोकसभा चुनावों में मिली भारी पराजय के बाद दोनों पक्ष के नेता एक दूसरे पर निशाना साध रहे थे.

 

एक सख्त संदेश देते हुए पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने पार्टी के वरिष्ठ और कनिष्ठ दोनों नेताओं को मीडिया के जरिये सार्वजनिक रूप से एक दूसरे को सुझाव देने से परहेज करने को कहा.

 

द्विवेदी पार्टी में संगठन मामलों के प्रभारी महासचिव हैं . उन्होंने यह निर्देश पार्टी के 14 युवा सचिवों द्वारा उन्हें एक पत्र लिखे जाने के एक दिन बाद जारी किया है . कांग्रेस के युवा सचिवों ने पार्टी की छवि को आघात पहुंचाने वाली सार्वजनिक ‘‘नकारात्मक’’ टिप्पणियां करने को लेकर वरिष्ठ नेताओं पर हमला बोला था.

 

द्विवेदी ने उनके पत्रों को अपनी सलाह के साथ सभी महासचिवों, कार्य समिति के सदस्यों और वरिष्ठ नेताओं को अग्रसरित कर दिया है .

 

विवाद तब पैदा हुआ जब पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह ने हाल में कहा कि अहम मुद्दों पर राहुल गांधी की चुप्पी ने घारणाओं की लडाई में पार्टी की पराजय का कारण बनी . राहुल गांधी को और मुखर होना चाहिए .

 

राहुल गांधी के करीबी युवा सचिवों ने इसे कांग्रेस उपाध्यक्ष पर हमले के रूप में लिया .

 

द्विवेदी ने भी पार्टी में सक्रिय पदों पर रहने के लिए कुछ उम्र की सीमा तय करने के बारे में टिप्पणी की थी . संगठन महासचिव ने अपने पत्र में कहा, ‘‘मैं एआईसीसी के उन 14 सचिवों का पत्र संलग्न कर रहा हूं जिन्होंने पार्टी के मामलों पर कुछ वरिष्ठ नेताओं के सार्वजनिक बयानों पर चिंता जताई है . इन सचिवों का मानना है कि इससे पार्टी की छवि को आघात पहुंचा है . द्विवेदी ने कहा, ‘‘मुझे पूरा भरोसा है कि सभी सहयोगी पूरी संवेदनशीलता से उनके विचारों को लेंगे . मैं उन्हें अलग से पत्र जारी कर रहा हूं और उन्हें सलाह भी दे रहा हूं कि भविष्य में मीडिया के जरिये सार्वजनिक रूप से एक दूसरे को सुझाव देने से परहेज करें . कांग्रेस ब्रीफिंग के दौरान पार्टी प्रवक्ता सलमान खुर्शीद ने एआईसीसी के सचिवों द्वारा अपने वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ पत्र लिखे जाने को कोई खास तवज्जो नहीं देने का प्रयास किया .

 

वरिष्ठ नेताओं द्वारा ‘‘सार्वजनिक रूप से नकारात्मक टिप्पणियां’’ किए जाने पर वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कांग्रेस के युवा सचिवों ने कल जनार्दन द्विवेदी से मुलाकात की और अपनी नाखुशी का इजहार किया.

 

उधर , अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अमेठी का दौरा कर रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कल इन सब बातों पर परदा डालने का प्रयास किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में अनेक आवाजें हैं और उन सभी आवाजों से समस्याओं का समाधान निकलेगा .

 

लोकसभा चुनावों में मिली भारी पराजय के बाद पार्टी के अंदर आपसी झगड़े के बारे में प्रतिक्रिया पूछे जाने पर राहुल ने कहा कि हमेशा इस तरह के तनाव होते हैं और हम इससे निपट लेंगे .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: congress
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017