गठबंधन विकल्प पर कांग्रेस असमंजस में

By: | Last Updated: Tuesday, 21 October 2014 11:39 AM

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव और विभिन्न राज्यों के विधानसभा चुनाव में चुनावी तकदीर के गोते खाने के बावजूद कांग्रेस ‘‘अकेले चलने के’’ सवाल पर असमंजस की स्थिति में नजर आ रही है , हालांकि पार्टी के नेता हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव के परिणामों में ‘उम्मीद की किरण’ होने की भी बात कर रहे हैं.

 

बदले परिदृश्य में अकेले आगे बढ़ने को लेकर पार्टी में स्वर तेज हो रहे हैं लेकिन कांग्रेस अभी भी भाजपा से निपटने की रणनीति का आकलन करने में जुटी है जिसने राष्ट्रीय राजनीति में मुख्य स्थान हासिल कर लिया है.

 

राजनीतिक समीकरणों के विभिन्न राज्यों में अलग अलग रूप लेने पर जोर देते हुए पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘ हम गठबंधन के विकल्प को मनमाने तरीके से नहीं छोड़ेंगे , न ही हम ‘‘अकेले चलो ’’ की नीति को पूरी तरह ना कहेंगे. ’’ कांग्रेसी नेता ने नाम जाहिर नहीं करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव परिणामों में ‘‘उम्मीद की किरण है’’ जहां उसे सत्ता से हाथ धोना पड़ा और वह भाजपा और शिवसेना के बाद सीटों की संख्या के लिहाज से तीसरे नंबर पर रही है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘ पिछले 15 सालों के विपरीत हम पूरे महाराष्ट्र में अब विस्तार कर रहे हैं जहां हम राज्य की 288 सीटों में से कुल मिलाकर करीब 124 पर भी नहीं लड़ रहे थे.’’ उन्होंने साथ ही कहा कि पार्टी को फिर से खड़े करने के एजेंडे में यह भी शामिल है कि पार्टी को पूरे राज्य में अपनी मौजूदगी जतानी चाहिए.

 

वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले गठबंधन टूटने से पूर्व कांग्रेस 1999 से महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के साथ गठबंधन में थी जिसका गठन शरद पवार ने सोनिया गांधी के विदेशी मूल के मुद्दे पर कांग्रेस से अलग होने के बाद किया था.

 

कांग्रेस नेता ने हरियाणा को लेकर कहा कि राज्य में इस बार दलित और गैर जाट वोट भाजपा को मिले जबकि कांग्रेस जिन जाट वोटों पर निर्भर थी वे उसके और इनेलोद के बीच बंट गए. हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा जिस भी तरह से अपने नेता का चुनाव करती है कांग्रेस को फायदा होगा क्योंकि उसे उन वर्गांे का समर्थन मिलेगा जिन्हें मुख्यमंत्री पद नहीं मिला. नतीजों से यह भी पता चलता है कि इनेलोद को जाट वोटों का सबसे ज्यादा फायदा नहीं हुआ.

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि शिवसेना से अलग होने के बाद महाराष्ट्र में भाजपा को उत्तर भारतीय लोगों के खूब वोट मिले जबकि मराठा वोट तीन पक्षों में बंट गए.

 

हाल में बिहार के जिला समिति अध्यक्षों समेत कई कांग्रेस नेताओं ने यहां नेतृत्व से मुलाकात की और राज्य में किसी भी गठबंधन का विरोध किया. पार्टी राज्य में जदयू सरकार को बाहर से समर्थन दे रही है. लालू प्रसाद की पार्टी राजद भी राज्य सरकार को समर्थन दे रही है जिसके साथ मिलकर कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव लड़ा था.

 

लोकसभा चुनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए हाल में बिहार में हुए विधानसभा उपचुनाव में गैर भाजपा दल जदयू, राजद और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव लड़ा था. उत्तर प्रदेश में पार्टी के मजबूरीवश अकेले चुनाव लड़ने की संभावना है और तमिलनाडु में भी ऐसी ही स्थिति हो सकती है. एक दूसरे नेता ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में कोई भी पार्टी हमारे साथ गठबंधन नहीं करना चाहती और हमने रालोद से दूरी बना ली है.’’ आठ सालों के राजनीतिक वनवास के बाद मई 2004 में कांग्रेस ने गठबंधन का रास्ता अपनाकर केंद्र में वापसी की थी. तब सोनिया गांधी ने धर्मनिरपेक्ष ताकतों को साथ लाने का विचार अपनाया था.

 

2003 के शिमला सम्मेलन ने 1998 में पंचमढ़ी में हुए सम्मेलन के बाद से चली आ रही गठबंधन की राजनीति को अस्थायी मानने की पार्टी की विचारधारा को बदल दिया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: congress
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं क्या...?
'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं...

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रिश्तों में टकराव के लिए चीन ने पीएम नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. http://bit.ly/2vINHh4  मंगलवार को...

 'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता
'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया...

नई दिल्ली: जानलेवा ‘ब्लू व्हेल’ गेम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को...

विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!
विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव कल यानि गुरुवार को अपनी ताकत के प्रदर्शन के लिए सम्मेलन...

भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं
भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं

बीजिंग: चीन ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में मंगलवार को दो बार भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश...

योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'
योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'

नई दिल्लीः यूपी के किसानों के लिए खुशखबरी का इंतजार खत्म हो गया है. कल सीएम योगी आदित्यनाथ 7 हज़ार...

दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान
दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान

नई दिल्ली: दिल्ली के कनॉट प्लेस इलाके में तेज रफ़्तार स्पोर्ट्स बाईक से एक्सिडेंट का बड़ा मामला...

कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता
कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता

बेंगलुरू: कर्नाटक में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं और इसकी तैयारी अब से शुरू हो गई है. इसी...

यात्रियों को सौगात, रेलवे ने शुरू की कई नई ट्रेनें, यहां है पूरी List
यात्रियों को सौगात, रेलवे ने शुरू की कई नई ट्रेनें, यहां है पूरी List

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे ने बीते हफ्ते यात्रियों को नई सौगात देते हुए कई सारी नई ट्रेनों को शुरु...

गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत
गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, रविवार को 11 तो इस साल अब तक 208 की मौत

अहमदाबाद शहर स्वाइन फ्लू से सबसे ज्यादा प्रभावित है. प्रशासन भरपूर कोशिश कर रहा है लेकिन...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017