एनसीपी ने कांग्रेस को महाराष्ट्र में सीट बंटवारे के लिए 24 घंटे का दिया अल्टीमेटम

By: | Last Updated: Saturday, 20 September 2014 12:22 PM
congress make pressure on ncp through ajit pawar?

नई दिल्ली : कांग्रेस एनसीपी गठबंधन को लेकर नई खबर आ रही है, सूत्रों के मुताबिक एनसीपी ने कांग्रेस की ओर से दिया गया 124 सीटों का फॉर्मूला ठुकरा दिया है. एनसीपी कम से कम 134 सीटें चाहती हैं और अगर ये मांग पूरी नहीं हुई तो एनसीपी अकेले चुनाव लड़ेगी.

 

एनसीपी ने कांग्रेस को महाराष्ट्र में सीट बंटवारे के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया . एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि गठबंधन चाहते हैं लेकिन 124 सीट का फॉर्मूला मंजूर नहीं.

 

एक तरफ महाराष्ट्र में अबतक कांग्रेस और एनसीपी के बीच कोई समझौता नहीं हो पाया है. दूसरी तरफ उप मुख्यमंत्री अजित पवार के खिलाफ सिंचाई घोटाले में जांच की तैयारी हो रही है. गृह मंत्रालय ने अजित पवार के खिलाफ जांच के लिए एंटी करप्शन ब्यूरो को हरी झंडी दे दी है और अब इस फाइल पर सीएम पृथ्वीराज चव्हाण के हस्ताक्षर की देरी है. अब सवाल उठ रहा है कि क्या वाकई सीएम अजित पवार के खिलाफ जांच का आदेश देंगे या फिर ये बस दबाव की राजनीति का एक हिस्सा है ?

 

सिंचाई घोटाले में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार के खिलाफ गृह मंत्रालय ने एंटी करप्शन ब्यूरो को जांच की इजाजत दे दी है . अब अगर मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण जांच की फाइल पर हस्ताक्षर कर देंगे तो उपमुख्यमंत्री के खिलाफ जांच शुरु हो जाएगी .

 

अब सवाल उठ रहा है कि क्या वाकई मुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री के खिलाफ जांच का आदेश देंगे या फिर ये कांग्रेस और एनसीपी के बीच सीटों को लेकर जो तनातनी चल रही है, उसी का एक हिस्सा मात्र है.

 

आपको बता दें कि अजित पवार साल 1999 से लेकर साल 2009 तक महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री थे और उसी दौरान उनपर करीब 72 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप लगा है. इसी मुद्दे पर अजित पवार ने सितंबर 2012 में उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा भी दिया था हालांकि राज्य सरकार ने श्वेत पत्र जारी करते हुए उन्हें क्लीन चिट दे दी थी और 2 महीने बाद ही अजित पवार ने फिर से उपमुख्यमंत्री का पद संभाल लिया था.

 

लेकिन अब जब सीटों को लेकर कांग्रेस और एनसीपी के बीच तनातनी चल रही है तब एकबार फिर से अजित पवार के खिलाफ जांच की बात हो रही है . गौरतलब है कि बीजेपी पहले से इस मुद्दे को उठाकर अजित पवार पर निशाना साध रही है.

 

अब देखना है कि अजित पवार का मुद्दा कांग्रेस और एनसीपी के रिश्ते पर क्या असर डालता है. आपको बता दें कि एनसीपी राज्य की 288 में से 144 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है.  एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन में भी फंसा हुआ है पेंच. सूत्रों के मुताबिक अगर 134 सीटें नहीं मिली तो  एनसीपी अकेल चुनाव लड़ेगी.

 

दूसरी तरफ एनसीपी का कहना है कि चूंकि उसे लोकसभा में कांग्रेस से ज्यादा सीटें मिली हैं लिहाजा विधानसभा में उसकी सीटों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए. दोनों के बीच सीएम के पोस्ट को लेकर भी पेंच फंसा हुआ है.

 

कांग्रेस और एनसीपी के बीच जारी इस तनातनी के बीच अब सबकी नजर सोनिया गांधी और शरद पवार के बीच होनेवाली बैठक पर टिकी है. उसी बैठक के बाद तय होगा कि कांग्रेस एनसीपी के गठबंधन का क्या होगा ?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: congress make pressure on ncp through ajit pawar?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Ajit Pawar Congress Ncp
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017