कैंब्रिज एनालिटिका के कांग्रेस कनेक्शन पर नया खुलासा, कंपनी के हेडक्वार्टर में दिखा कांग्रेस का पोस्टर

कैंब्रिज एनालिटिका के कांग्रेस कनेक्शन पर नया खुलासा, कंपनी के हेडक्वार्टर में दिखा कांग्रेस का पोस्टर

कैंब्रिज एनालिटिका के लंदन स्थित हेड ऑफिस में सीईओ के कमरे में कांग्रेस के हाथ का पोस्टर दीवार पर टंगा है.

By: | Updated: 28 Mar 2018 10:05 PM
Congress poster in Cambridge Analytica CEO Nix's London office

नई दिल्लीः कैंब्रिज एनालिटिका से कांग्रेस के कनेक्शन का एक और सूबूत सामने आया है. इसके लंदन स्थित हेड ऑफिस में सीईओ के कमरे में कांग्रेस के हाथ का पोस्टर दीवार पर टंगा है. बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री सीक्रेट ऑफ सिलिकन वैली में इस बात का खुलासा हुआ है. एबीपी न्यूज ने जब इस डॉक्यूमेंट्री को देखा तो इस पोस्टर को सीईओ के केबिन में पाया. डेटा लीक मामले में सीईओ निक्स को निलंबित किया जा चुका है.



कैम्ब्रिज एनालिटिका के पास भारत का जातिगत डेटा


कैम्ब्रिज एनेलिटिका की मुख्य कंपनी SCL के अधिकारी रहे क्रिस्टोफर वायली ने बड़ा खुलासा किया है. वायली ने बताया कि चोरी किए हुए डेटा के इस्तेमाल से भारत के कई राज्यो में जातिगत रिसर्च डेटा तैयार किया गया. साल 2003 में कंपनी ने भारत के कई राज्यों के चुनाव में काम किया.


वायली ने ट्वीट किया, '' मुझे भारतीय पत्रकारों के कई सारे मैसेज मिले. मैं भारत के साथ SCL कंपनी के कुछ पुराने प्रोजेक्ट के दस्तावेज शेयर कर रहा हूं. सबसे ज्यादा मुझसे पूछा गया कि क्या SCL/कैम्बिज एनालिटिका भारत में काम करती है, उन्हें मैं बताना चाहता हूं कि इन कंपनियों का ऑफिस भारत में हैं. इस दस्तावेज के जरिए समझिए कि वर्तमान उपनिवेशवाद कैसा दिखता है.''


इन डॉक्यूमेंट में बेहद माइक्रो लेवल पर जातिगत डेटा शामिल है इसमें 600 जिले और 7 लाख गावों का डेटा दिया गया है.



कांग्रेस हो सकती है CA की क्लाइंट-वायली
कैम्ब्रिज एनेलिटिका डेटा लीक मामले में व्हिसिल ब्लोअर क्रिस्टोफर वायली ने ब्रिटिश संसद के सामने दिए गए बयान में बताया कि भारतीय राजनीतिक पार्टी कांग्रेस कैम्ब्रिज एनेलिटिका कंपनी की क्लाइंट थी. इस खुलासे पर बीजेपी ने राहुल गांधी से झूठ बोलने के लिए देश से माफी मांगेने के कहा है.


क्रिस्टोफर वाइली ने कहा, ''भारत में कंपनी का एक दफ्तर भी था. मेरा मानना है कि कांग्रेस कंपनी की क्लाइंट थी. मुझे इसका कोई नेशनल प्रोजक्ट याद नही, लेकिन रीजनल प्रोजेक्ट था. भारत इतना बड़ा देश है कि वहां का एक राज्य ब्रिटेन से बड़ा है. मेरे पास भारत पर कंपनी के कुछ डाक्यूमेंट हैं अगर जरुरत पड़ी तो मैं मुहैया करा सकता हूं.''


क्या है कैंब्रिज एनालिटिका को लेकर विवाद


कैंब्रिज एनालिटिका एक पॉलिटिकल कंसल्टेंसी फर्म है जिसने करीब 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा एक थर्ड पार्टी एप के जरिए एक्सेस किया. चैनल 4 के स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा हुआ कि इस डेटा का इस्तेमाल अमेरिका में हुए 2016 चुनावों में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को फायदा पहुंचाने, और ब्रिक्जिट में जनमत संग्रह बदलने में किया गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Congress poster in Cambridge Analytica CEO Nix's London office
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्दर सच्चर का निधन, 'सच्चर कमेटी' के रहे थे अध्यक्ष