कांग्रेस का फौरी मकसद बिहार में बीजेपी को रोकना: जयराम रमेश

By: | Last Updated: Sunday, 12 April 2015 6:17 AM

हैदराबाद/नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने जेडीयू के साथ गठबंधन की संभावना का संकेत देते हुए कहा है कि पार्टी का तात्कालिक उद्देश्य बिहार में बीजेपी को रोकना है जहां पर भगवा पार्टी को विधानसभा चुनाव में नुकसान से राष्ट्रीय राजनीति में बड़ा असर पड़ेगा.

 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने जनता परिवार की पार्टियों के प्रस्तावित विलय का स्वागत करते हुए कहा यह ठीक है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘वे (जनता परिवार दल) इस तरह के संकट का सामना कर रहे हैं जैसे संकट का सामना कांग्रेस कई तरीके से कर रही है. बिहार हम सब के लिए अगला इम्तिहान है. दिल्ली (जहां इस साल चुनाव हुआ) ने (नरेंद्र) मोदी को तबाह कर दिया. और अगर बीजेपी बिहार में रोकी जाती है तो मिस्टर मोदी खत्म हो जाएंगे.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए, मुझे लगता है कि बीजेपी विरोधी ताकतों की एकजुटता के तौर पर जनता परिवार का साथ आना एक स्वागत योग्य घटनाक्रम है.’’ यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस की जदयू के साथ ‘रणनीतिक साझेदारी’ होगी, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने बिहार में नीतीश कुमार सरकार का समर्थन किया था.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने अविश्वास प्रस्ताव (जीतन राम मांझी सरकार) में वोट किया था. हमने नीतीश कुमार के साथ वोट किया था.’’ पिछले कई चुनावों में पराजय का सामना करने वाली पार्टी के आगे के रास्ते के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कांग्रेस का दीर्घकालीन लक्ष्य 2019 लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करना है.

 

रमेश ने कहा, ‘‘लेकिन, इससे पहले हमारा फौरी मकसद नवंबर 2015 में बिहार में बीजेपी को रोकना है. बिहार में बीजेपी को रोकने के लिए हमें जो भी करना पड़ेगा हम करेंगे. इससे राष्ट्रीय स्तर पर भी एक बड़ा असर पड़ेगा.’’ उन्होंने वामपंथी दलों के ‘‘ह्रास’’ पर भी अफसोस व्यक्त किया.

 

रमेश ने कहा, ‘‘वामपंथी दलों की स्थिति देखकर मैं दुखी हूं. मुझे लगता है कि वामपंथी दलों का ह्रास ठीक नहीं है. वाम धर्मनिरपेक्ष, प्रगतिशील मूल्यों की ताकत है. इसकी :वामदलों की: आर्थिक नीतियां हमेशा अद्यतन नहीं रही.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसकी आर्थिक नीतियां भले ही व्यवहारिक नहीं रही पर बुद्धदेव भट्टाचार्य (पश्चिम बंगाल के तत्कालीन मुख्यमंत्री) का मनमोहन सिंह की नीति के साथ अच्छा तालमेल रहा.’’ रमेश ने कहा, ‘‘कांग्रेस और वाम दल तीन राज्यों (केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा) में प्रतिस्पर्धी हैं. लेकिन, मैं यह एक प्रतिस्पर्धी के तौर पर कह रहा हूं. मैं एक मजबूत बीजेपी नहीं चाहता पर राजनीतिक विरोधी होने के बावजूद मैं एक मजबूत वाम चाहता हूं.’’ रमेश ने यह भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार किसान विरोधी है.

 

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘हमारा जो नारा है. यह एक हकीकत है. मोदी ने एमएसपी :न्यूनतम समर्थन मूल्य: नहीं बढ़ाया. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना आवंटन घटाकर 8,500 करोड़ रूपये से 4,500 करोड़ रूपये कर दिया गया..उन किसानों को कोई राहत नहीं दी गयी जिनकी फसल बेमौसमी बारिश से प्रभावित हुयी है.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: congress_bihar_bjp
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Bihar BJP Congress jairam ramesh JDU
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017