DCW ने 16 दिसंबर गैंगरेप के दोषी किशोर की रिहाई रोकने को राष्ट्रपति से की हस्तक्षेप की मांग

By: | Last Updated: Saturday, 19 December 2015 7:42 AM
Dec 16 gangrape: DCW chief seeks President, CJI intervention to stall juvenile’s release

नई दिल्ली: दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि 16 दिसंबर सामूहिक बलात्कार मामले के दोषी किशोर की रिहाई के खिलाफ राष्ट्रपति और प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) के हस्तक्षेप का अनुरोध किया गया है. उन्होंने कहा कि उसमें सुधार सुनिश्चित होने तक उसे सुधार गृह में ही रखा जाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि मामले के दोषी किशोर की रिहाई पर रोक लगाने से हाईकेर्ट का इंकार इतिहास का ‘काला दिन’ है. स्वाति ने किशोर की रिहाई के खिलाफ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधान न्यायाधीश टीएस ठाकुर और किशोर न्याय बोर्ड के प्रधान मजिस्ट्रेट मुरारी प्रसाद सिंह को पत्र लिखे.

देश को झकझोर कर रख देने वाले ’16 दिसंबर’ गैंगरेप के मामले में अदालत का फैसला आ गया है. फैसले के अनुसार गैंगरेप के आरोपी किशोर की रिहाई तय मानी जा रही है. क्योंकि अदालत ने कह दिया है कि उसे बाल सुधार गृह में रोका नहीं जा सकता है. 21 साल के हो चुके दोषी को रिहा न करने को लेकर याचिका दी गई थी.

जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत सजायाफ्त दोषी की रिहाई 20 दिसंबर को होनी है. हाई कोर्ट ने अपनी ओर से कहा है कि इस बारे में जुवेनाईल जस्टिस बोर्ड ही फैसला करेगा. निर्भया के परिजन इस फैसले से काफी निराश हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Dec 16 gangrape: DCW chief seeks President, CJI intervention to stall juvenile’s release
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017