25 साल बाद मुलायम को 'अयोध्या' में गोली चलवाने का अफसोस

By: | Last Updated: Monday, 25 January 2016 10:21 AM
Decision to order firing on ‘kar sevaks’ in Ayodhya `painful`: Mulayam

नई दिल्ली/लखनऊ : उत्तर प्रदेश में अगले साल चुनाव है और राजनीतिक पारा चढ़ चुका है. इसी क्रम में 25 साल बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का एक चौंकाने वाला बयान आया है. उन्होंने कहा है कि अय़ोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने का उन्हें अफसोस है. 1990 में अयोध्या में गोली चलवाना जरूरी हो गया था.

लखनऊ में कर्पूरी ठाकुर की जयंती के मौके पर मुलायम ने कहा कि 1990 में मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्होंने विवादित ढांचे को बचाने के लिए गोली चलाने का आदेश दिया था, इसका उन्हें अफसोस है.

गौरतलब है कि 1990 में अयोध्या में गोली चलवाने से 16 लोगों की मौत हुई थी. विवादित ढांचे के आसपास कारसेवा की कोशिश कर रहे लोगों पर चलाई गई थी गोली.

मुलायम के इस बयान के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. इससे पहले कई दफा मुलायम की मोदी से बढ़ती नजदीकियों को लेकर खबरें आ चुकी हैं. बताया जा रहा है कि मोदी से हुई ‘औचक’ मुलाकात के बाद ही मुलायम ने बिहार चुनाव से पहले ‘महागठबंधन’ से खुद को अलग किया था. अब कारसेवकों को लेकर दिए गए इस बयान पर भी राजनीति तेज हो गई है.

चुनावी विश्लेषकों की राय है कि मुलायम का ये बयान राज्य के आगामी चुनाव के मुद्देनजर किया गया है. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी की लहर में मुलायम की पार्टी सिर्फ परिवार तक सिमट कर रह गई थी और सिर्फ पांच सीटों पर जीत पाई थी. विश्लेषकों के मुताबिक मुलायम को लगता है कि उनके ताजा बयान से नाराज हिंदू वोटर उनके खेमे में आ सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Decision to order firing on ‘kar sevaks’ in Ayodhya `painful`: Mulayam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017