पेरिस में हमलावर भाइयों ने कुछ लोगों को बनाया बंधक!

By: | Last Updated: Friday, 9 January 2015 2:25 AM
delhi assembly election dates can be announced today

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  दिल्ली में चुनाव को लेकर आज चुनाव आयोग की बैठक हो रही है लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि आज चुनाव की तारीखों का एलान शायद ही हो. दूसरी तरफ पेरिस में हमलावर भाइयों को उत्तरी पेरिस में देखा गया है.

 

LIVE UPDATE:

 

# फ्रांस के पेरिस में आज फिर फायरिंग की घटना हुई है. कार का पीछे करते समय फायरिंग की खबर आई है.खबर ये भी है कि एक कार हाईजैक हुई है.

 

# पेरिस में तीन दिन में फायरिंग की लगातार तीसरी घटना है.

 

# पेरिस में शार्ली एबदो नाम की मैगजीन के कार्टून से नाराज हमलावरों ने 10 पत्रकारों की हत्या की थी. अभी तक हमले के दो आरोपी भाईयों की तलाश चल रही है. बताया जा रहा है कि आरोपी भाइयों को इसी इलाके में देखा गया था.

आज सुबह 11 बजे चुनाव आयोग की बैठक होने वाली है. सूत्रों ने कहा कि चुनाव का कार्यक्रम इस तरह बनाया जाएगा कि इसकी प्रक्रिया फरवरी के दूसरे सप्ताह में या ज्यादा से ज्यादा तीसरे हफ्ते में पूरी हो जाए और इसमें सीबीएसई की या अन्य वाषिर्क परीक्षाएं बीच में नहीं आएं. सीबीएसई की परीक्षाएं इस साल दो मार्च से शुरू होंगी.

 

सूत्रों के अनुसार इस समय केवल दिल्ली में चुनाव होने हैं, इसलिए अर्धसैनिक बलों की उपलब्धता को लेकर कोई समस्या नहीं रहेगी. यहां निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव संपन्न कराने के लिए सीआरपीएफ की करीब 100 कंपनियां पर्याप्त होंगी.

 

हालांकि दिल्ली में पिछले कुछ सालों में अन्य राज्यों की तरह चुनाव में हिंसा का या बूथ पर कब्जा करने की घटनाओं का कोई इतिहास नहीं रहा है.

 

केजरीवाल का पीएम मोदी से सवाल

दिल्ली के रामलीला मैदान में कल पीएम नरेंद्र मोदी की रैली होने वाली है. रैली को लेकर आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को चुनौती है कि वो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का एलान करें. केजरीवाल ने ये भी सवाल उठाया है कि पीएम एलान करेंगे या यू टर्न लेंगे?

 

दिल्ली में चुनाव की नौबत क्यों?

दिल्ली में पिछले साल फरवरी में केजरीवाल सरकार ने इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद से दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू है. साल 2013 में दिल्ली में चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाई थी लेकिन 49 दिनों बाद ही केजरीवाल सरकार ने इस्तीफा दे दिया था.

 

बहुमत ना मिलने पर आप को समर्थन देगी कांग्रेस- शीला दीक्षित

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने गुरूवार को कहा, “विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत नहीं मिलने पर कांग्रेस आम आदमी पार्टी को समर्थन देगी.”

 

उन्होंने कहा कि बीजेपी को समर्थन देने का सवाल ही नहीं है और अगर सरकार बनाने के लिए ‘आप’ को समर्थन देने की जरूरत पड़ी तो चुनावी नतीजों का विश्लेषण करने के बाद निर्णय लिया जाएगा.

 

इसी बयान को लेकर केजरीवाल ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा है.अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा, “कांग्रेस को वोट देना कुएं में वोट डालने जैसा है.” केजरीवाल ने महंगाई और धर्म परिवर्तन को लेकर बीजेपी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, “49 दिनों में जो हमने किया वो 5 साल में कोई पार्टी नहीं कर सकी.”

 

केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस ने पहले ही हार मान ली है, इसलिए मतदाता उसे देकर अपना वोट बर्बाद नहीं करें. केजरीवाल ने कहा कि लड़ाई अब केवल बीजेपी और ‘आप’ के बीच रह गई है.

 

शीला के बयान को पार्टी ने किया खारिज

 

दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद खंडित जनादेश की स्थिति में कांग्रेस द्वारा ‘आप’ को समर्थन देने की संभावना से जुड़ी दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बयान को जहां उनकी ही पार्टी ने खारिज कर दिया वहीं बीजेपी ने कहा कि इससे साबित हो गया है कि ‘आप’, कांग्रेस की बी टीम (दूसरी टीम) है. दीक्षित के बयान पर आम आदमी पार्टी ने कहा कि कांग्रेस ने पहले ही हार मान ली है.

 

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने कहा कि ‘आप’ को समर्थन देने का सवाल ही नहीं उठता. उसने जनता के साथ विश्वासघात किया है. उन्होंने कहा कि जो भी इस तरह के बयान हैं उनका पार्टी के विचारों से कोई मेल नहीं है. बीजेपी और ‘आप’ को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुए लवली ने कहा कि कांग्रेस को जनता का समर्थन मिलने का विश्वास है और वह चुनाव के बाद अपने दम पर सरकार बनाएगी.

 

बीजेपी ने लिया कांग्रेस को निशाने पर

बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने शीला दीक्षित के बयान पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘शीला दीक्षित के बयान के बाद साफ हो जाता है कि ‘आप’ कांग्रेस की बी टीम के तौर पर काम करती रही है.’’ उपाध्याय ने कहा कि दिल्लीवासियों को विधानसभा चुनावों में बीजेपी को चुनना चाहिए और अन्य दोनों दलों को खारिज कर देना चाहिए.

 

 

क्या कहते हैं ओपिनियन पोल-

दिसंबर में हुए एबीपी न्यूज-नीलनस के ताजा सर्वे में बीजेपी गठबंधन को 45, आम आदमी पार्टी को 17, कांग्रेस को सात और अन्य के खाते में एक सीट मिलती दिख रही है.

 

इंडिया टुडे-सिसेरो के सर्वे में बीजेपी को 34-40 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि आप कांटे की टक्कर में है. 25-31 सीटें ‘आप’ को मिल सकती हैं. कांग्रेस को तीन से पांच सीटें मिल सकती हैं.

 

न्यूज एक्स-सी वोटर के नवंबर मे हुए सर्वे में  बीजेपी को 40, आम आदमी पार्टी को 22, कांग्रेस को छह और अन्य को दो सीटें मिलने का अनुमान है.

 

2013 में हुए चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. बीजेपी को 32, आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. हालांकि कांग्रेस के समर्थन से ‘आप’ ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया.

 

संबंधित ख़बरें-

दिल्ली चुनावः करीब 1.72 लाख मतदाता पहली बार करेंगे वोट

दिल्ली विधानसभा चुनाव: आप, बीजेपी, कांग्रेस के दावे

केजरीवाल ने शुरू किया ‘आई फंड ऑनेस्ट पार्टी’ अभियान

‘तो स्मृति ईरानी होंगी दिल्ली में मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार’

राजधानी में जून 2014 तक की अवैध कॉलोनियां होंगी नियमित

दिल्ली चुनाव में नहीं चलेगा मोदी का जादू: आप

दिल्ली दंगल: गिरी ने बनाया ‘आप’ का माखौल तो सभा में नहीं पहुंची इलाके की सांसद लेखी

‘आप’ ने जारी की 13 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट

आज 20 हजार रूपये में केजरीवाल के साथ डिनर

केजरीवाल ने मुंबई में रखी डिनर पार्टी, शामिल होने की फीस 20 हजार रुपये

शोएब इकबाल कल थामेंगे कांग्रेस का हाथ 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: delhi assembly election dates can be announced today
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017