Delhi Assembly_bhartiya janta party_vijender gupta_

Delhi Assembly_bhartiya janta party_vijender gupta_

By: | Updated: 23 Feb 2015 05:28 PM

नई दिल्ली: दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा में महज तीन सीटों पर सिमट गयी बीजेपी को उम्मीद है कि सत्ता पक्ष उसे सदन में नेता प्रतिपक्ष का दर्जा देगा लेकिन पार्टी खुद इसके लिए नहीं कहेगी.

 

बीजेपी ने जहां कहा कि वह विधानसभा में विपक्ष के नेता का पद नहीं मांगेगी लेकिन अगर विधानसभा अध्यक्ष इसकी पेशकश करते हैं तो विचार कर सकती है, वहीं उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. दोनों पक्ष एक दूसरे से पहल की उम्मीद कर रहे हैं.

 

बीजेपी विधायक दल के नेता विजेंद्र गुप्ता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम नेता प्रतिपक्ष के पद के लिए नहीं कहेंगे. लेकिन हम चाहते हैं कि विधानसभा अध्यक्ष नियम पुस्तिका के अनुसार चलें.’’

 

जब गुप्ता से पूछा गया कि क्या पार्टी पेशकश होने पर एलओपी का पद स्वीकार करेगी तो उन्होंने कहा, ‘‘अगर स्पीकर प्रस्ताव देते हैं तो हम विचार करेंगे.’’ सिसौदिया से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

 

आम आदमी पार्टी के सूत्रों ने कहा कि पार्टी बीजेपी को नेता प्रतिपक्ष का पद देने के लिए तैयार है, लेकिन चाहती है कि बीजेपी खुद पहल करे.

 

एक वरिष्ठ पार्टी नेता ने कहा, ‘‘उन्हें एलओपी का दर्जा देने से हमें पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. लोकसभा में कांग्रेस पिछले आठ महीने से एलओपी पद का इंतजार कर रही है.’’

 

इस बीच नवनिर्वाचित स्पीकर राम निवास गोयल ने कहा कि वह मामले को बीजेपी के साथ उठाएंगे क्योंकि सरकार साफ कर चुकी है कि बीजेपी को नेता प्रतिपक्ष का पद दिया जाएगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कैसरगंज से बीजेपी सांसद बृजभूषण के बिगड़े बोल, राहुल गांधी की तुलना कुत्ते से की