दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर ने इस्तीफा दिया!

By: | Last Updated: Tuesday, 9 June 2015 2:19 PM

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर ने इस्तीफा दे दिया है. तोमर को दिल्ली पुलिस ने फर्जी डिग्री के आरोप में आज गिरफ्तार किया. तोमर की साकेत कोर्ट में पेशी हुई और जहां उनको 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है. गिरफ्तारी के बावजूद केजरीवाल ने सरकार से नहीं हटाने का फैसला किया है. गिरफ्तारी के बाद पार्टी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है कि देश में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा किए जा रहे हैं.

 

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि केंद्र के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने मंत्री कि किसी माफिया की तरह गिरफ्तार किया.  तोमर की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि मोदी सरकार इमरजेंसी जैसे हालात पैदा कर रही है. सिसौदिया ने बताया कि उन्होंने कल ही सीएनजी फिटनेस घोटाले में जांच के आदेश दिए हैं इसके इसके बाद भ्रष्टाचारी डर गए हैं और इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो रहे हैं. लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली सरकार और आम आदमी पार्टी के आरोपों को खारिज किया है .

 

कैसे हुई गिरफ्तारी ?

आम आदमी पार्टी के मुताबिक सुबह करीब 30 पुलिस वाले जीतेंद्र तोमर के एमएलए दफ्तर पहुंचे. पुलिस ने तोमर से कहा कि आप डिग्री वाले कागजात दिखाएं. तोमर ने डिग्री घर पर होने की बात कही जिसके बाद पुलिस ने घर चलने को कहा. रास्ते में तोमर के ड्राइवर को कार से उतार दिया गया और एसीपी खुद कार चलाने लगे . इसके बाद पुलिस ने तोमर को कहा कि आपको हिरासत में ले रहे हैं.

 

तोमर पर आरोप क्या ?

केजरीवाल के कानून मंत्री के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में फर्जी डिग्री का केस चल रहा है. आरोप है कि तोमर ने भागलपुर की तिलका मांझी यूनिवर्सिटी से जो कानून की डिग्री ले रखी है वो फर्जी है. फैजाबाद से ग्रेजुएशन की भी फर्जी डिग्री लेने का आरोप है. हालांकि तोमर अपनी डिग्री को सही बताते रहे हैं. डिग्री को लेकर बार काउंसिल ने केस कर रखा है.

 

जीतेंद्र तोमर दिल्ली के त्रि नगर से विधायक हैं और इस विवाद को लेकर मंत्री बनने के बाद से ही विरोधिय़ों के निशाने पर हैं . विरोधी मांग कर रहे हैं कि मंत्री को हटाने के साथ ही केजरीवाल को भी इस्तीफा देना चाहिए. दिल्ली पुलिस ने जीतेंद्र तोमर के खिलाफ पांच धाराओं में केस दर्ज किया है .

 

धारा 420 यानी धोखाधड़ी, धारा 467, 468, 471 यानी  फर्जी दस्तावेज को सही बताना और धारा 120 बी  यानी साजिश के तहत धोखाखड़ी करने का केस दर्ज किया गया है. इन धाराओं में आरोप साबित होने पर सात साल तक की सजा हो सकती है . 

 

कौन हैं जिंतेंद्र सिंह तोमर ?

तोमर ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत कांग्रेस से की. 2013 में तोमर कांग्रेस छोड़ आम आदमी पार्टी में शामिल हुए. 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी केउम्मीदवार से हार गए. इसके बाद 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में तोमर ने त्रिनगर विधानसभा क्षेत्र से जीते. जीतेंद्र सिंह तोमर को केजरीवाल ने अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया. इसके बाद से ही तोमर अपनी फर्जी डिग्री को लेकर विवादों में हैं.

 

पूरा विवाद जानें-

शपथ पत्र के मुताबिक, कानून की डिग्री उन्होंने तिलका मांझी, भागलपुर विश्वविद्यालय (बिहार) से ली है. उन पर लॉ की डिग्री को फर्जी लेने का आरोप है. इसे लेकर हाईकोर्ट में मामला भी चल रहा है.

 

हाई कोर्ट के आदेश पर दिल्ली की बार काउंसिल ने इस मामले की जांच की और कहा कि तोमर की स्नातक और लॉ की डिग्री फर्जी हैं. बार काउंसिल ने बताया था कि उन्हें यूपी की डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय से जानकारी मिली है कि तोमर ने वहां से स्नातक नहीं किया है.

 

दिल्ली बार काउंसिल ने जीतेन्द्र सिंह तोमर की स्नातक और वक़ालत की डिग्री को शुरूआती तौर पर की गयी जांच के बाद फर्जी माना है.

 

बार काउंसिल ऑफ़ दिल्ली ने जीतेन्द्र सिंह तोमर की बीएससी की डिग्री और मार्क शीट्स की जांच के लिए मार्च में डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध यूनिवर्सिटी को एक खत भी लिखा था, जवाब में यूनिवर्सिटी ने जानकारी दी की तोमर की बीएससी डिग्री, मार्कशीट और रोल नंबर फर्जी हैं.

 

दिल्ली हाई कोर्ट में चल रही मामले की सुनवाई के दौरान बिहार की तिलका मांझी भागलपुर यूनिवर्सिटी की तरफ से दिए गए जवाब में जीतेन्द्र सिंह तोमर के उस प्रोविज़नल सर्टिफिकेट को फ़र्ज़ी बताया है जो उन्होंने बार कॉउंसिल में एनरोलमेंट के दौरान दिया था.

 

काउंसिल ने अपनी शिकायत में कहा है कि इससे साबित होता है कि तोमर ने जाली दस्तावेज़ों के आधार पर पर बार काउंसिल ऑफ दिल्ली का एनरोलमेंट हासिल किया.

 

 इसके साथ ही बार काउंसिल ने दिल्ली पुलिस को एक शिकायत भी दी है जिसमें पुलिस से मामले में आईपीसी के तहत अपराधों की जांच करने की बात कही गई.

 

वसंत विहार थाने में जीतेंद्र सिंह तोमर पर धारा 420 (धोखाधड़ी करन) और धारा 467, 468, 471- (फर्जी दस्तावेज को सही बनाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है. अगर तोमर पर लागए गए ये आरोप साबित होते हैं तो उन्हें कम से कम सात साल की सजा हो सकती है.

 

नियमों के मुताबिक़ बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए बार कॉउंसिल ऑफ इंडिया से एफिलिएटेड यूनिवर्सिटी से लॉ की डिग्री और ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी होता है. लेकिन इस मामले में जीतेन्द्र सिंह तोमर की दोनों की डिग्रियां सवालों के घेरे में हैं.

 

आम आदमी पार्टी इस मामले में तोमर को क्लीन चिट दे चुकी है.

 

तोमर का कहना है कि उनके पास कोर्ट में पेश करने के लिए उनके  पास पुख्ता सबूत है. तोमर का कहना है, “मेरे पास ठोस सबूत हैं जो मैंने आरटीआई से हासिल किया है और यह मुझे निर्दोष साबित करने के लिए पर्याप्त है. मैं जैसे ही यह सबूत अदालत में पेश करूंगा, भाजपा चुप हो जाएगी.’’

 

फर्जी डिग्री मामला: दिल्ली के कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर गिरफ्तार

 

 जानें: जीतेंद्र सिंह तोमर का पूरा फर्जी डिग्री विवाद 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Delhi Law Minister sent four Day police custody
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज की दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज की दिनभर की बड़ी खबरें

1. यूपी के मुजफ्फरनगर में बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है. मुजफ्फरनगर में खतौली के पास कलिंग-उत्कल...

गोरखपुर ट्रेजडी: मृतक बच्चों के परिजनों से मिले राहुल गांधी, बोले- यह सरकार की बनाई 'राष्ट्रीय त्रासदी'
गोरखपुर ट्रेजडी: मृतक बच्चों के परिजनों से मिले राहुल गांधी, बोले- यह सरकार...

गोरखपुर: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले दिनों संदिग्ध...

पुराने अंदाज में दिखीं किरन बेदी, रात में स्कूटी पर सवार होकर लिया महिला सुरक्षा का जायजा
पुराने अंदाज में दिखीं किरन बेदी, रात में स्कूटी पर सवार होकर लिया महिला...

पुदुच्चेरी: पुदुच्चेरी की उप राज्यपाल किरन बेदी ने रात में भेष बदलकर केंद्र शासित प्रदेश में...

LIVE: मुजफ्फरनगर के पास ट्रेन एक्सीडेंट में 11 लोगों की मौत, घायलों की संख्या 65 हुई, रेलवे का मुआवजे का एलान
LIVE: मुजफ्फरनगर के पास ट्रेन एक्सीडेंट में 11 लोगों की मौत, घायलों की संख्या 65...

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है. मुजफ्फरनगर में खतौली के पास...

गायों के 'सीरियल किलर' की एक और काली करतूत, 93 लाख के घोटाले का आरोप!
गायों के 'सीरियल किलर' की एक और काली करतूत, 93 लाख के घोटाले का आरोप!

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में बीजेपी नेता हरीश वर्मा जो 200 से ज्यादा गायों को भूखा मारने के आरोप में...

गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी जाएंगे
गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी...

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पिछले दिनों बीआरडी अस्पताल में हुई बच्चों की मौत से मचे...

बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे
बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण...

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बड़ा भूकंप आने की तैयारी में है. महाराष्ट्र में कांग्रेस...

JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी
JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में नीतीश की पार्टी की जेडीयू...

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017