दिल्ली में सरकार पर एबीपी न्यूज का त्वरित सर्वे, जनता चाहती है बीजेपी की बने सरकार

By: | Last Updated: Friday, 18 July 2014 3:29 PM

नई दिल्ली: दिल्ली में सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ जारी है. बीजेपी और आम आदमी पार्टी दोनों ही दल सरकार बनाने में जुटे हैं और दोनों ही पार्टियों पर सरकार बनाने के लिए तिकड़मबाज़ी के आरोप लग रहे हैं.

 

इस जोड़-तोड़ के बीच एबीपी न्यूज़-नीलसन के त्वरित सर्वे से जो तस्वीर उभरती है उसके मुताबिक़ दिल्ली में सरकार बनाने पर दिल्ली की जनता की राय सीधे दो हिस्सों में बंटी हुई है.

 

कौन पार्टी बनाए सरकार?

एबीपी न्यूज़-नीलसन ने दिल्ली की जनता से पूछा कि दिल्ली में किस पार्टी (बीजेपी या आप) को सरकार बनानी चाहिए?  इस सवाल के जवाब में दिल्ली की जनता सीधे बंटी हुई दिखी. 47 फीसदी जनता ने जहां आम आमदी पार्टी के पक्ष में अपना मत रखा वहीं महज़ एक फीसदी ज्यादा यानी 48 फीसदी जनता ने बीजेपी के हक़ में हामी भरी.

 

जनता की इस राय से साफ है कि जहां तक दिल्ली में बीजेपी या आप के सरकार बनाने का सवाल है तो जनता दो हिस्सों में बंटी हुई है.

 

चुनाव हुए तो किसे देंगे वोट?

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन सर्वे का अगला सवाल था कि अगर आज विधानसभा चुनाव हुए तो वे किस पार्टी को वोट देंगे. इस सवाल पर भी दिल्ली की जनता दो भागों में बंटी हुई दिखी, लेकिन जनता का झुकाव बीजेपी की ओर ज्यादा था.

 

45 फीसदी अवाम ने कहा कि अगर अभी चुनाव हुए तो वे आम आदमी पार्टी को वोट देंगे, जबकि 48 फीसदी जनता का कहना था कि वे बीजेपी को वोट देगी. सात फीसदी जनता ने कांग्रेस के पक्ष में वोट करने का मन दिखाया.

 

जनता की इस ताज़ा राय से साफ है कि अगर आज चुनाव हुए तो बीजेपी का पलड़ा भारी रहेगा, लेकिन जो झुकाव है वह बहुत ही मामूली है.

 

शायद जनता का यही मूड है कि पार्टियां चुनाव में जाने से डर रही हैं और जोड़ तोड़ से सरकार बनानी में जुटी हैं.

 

कैसे हुआ सर्वे

 

एबीपी न्यूज और  नीलसन  के इस सर्वे में कुल 565 वोटरों से जानी गई है उनकी राय. ये सर्वे आज ही यानी 17 जुलाई को किया गया.

 

दिल्ली विधानसभा का मौजूदा गणित

 

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा के चुनावों में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभकर सामने आई, जबकि आप दूसरे नंबर पर आई. बीते 15 साल से सत्ता का सुख भोग रही कांग्रेस का सूपड़ा ही साफ हो गया.

 

विधानसभा चुनावों के नतीजों में बीजेपी को 31 और उसके सहयोगी अकाली दल को एक, आप को 28 और कांग्रेस को 8 सीटें मिलीं. एक सीट जेडीयू को मिली, जबकि एक सीट निर्दलीय की झोली में गई.

 

अब आप का एक विधायक पार्टी छोड़ चुका है, जबकि बीजेपी के तीन विधायक सांसद बन चुके हैं यानी 70 सीटों वाली दिल्ली विधानसभा में अभी तीन सीटें खाली हैं. सरकार बनाने के लिए अब 34 का जादुई आंकड़ा चाहिए जो किसी भी दल के पास नहीं है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: delhi voter survey opinion abp news Nielsen
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017