दिल्ली का बजट: बिजली का बिल हुआ सस्ता, 400 यूनिट की खपत पर मिलेगी सब्सिडी

By: | Last Updated: Friday, 18 July 2014 6:57 AM
delhi_budget_arun_jaitly

नई दिल्ली: लोकसभा में आज दिल्ली का बजट पेश किया गया है. सबसे बड़ी बात ये है कि बजट के बाद दिल्ली के लोगों के बिजली का बिल घटेगा. 400 यूनिट तक खपत करने पर सरकार सब्सिडी देगी. अब 200 यूनिट तक खपत पर एक रुपये 20 पैसे की सब्सिडी मिलेगी वहीं 200 से 400 यूनिट तक खपत पर प्रति यूनिट 80 पैसे की सब्सिडी मिलेगी. दूसरी बड़ी बात ये है कि बजट में दिल्ली वालों पर कोई नया टैक्स नहीं लगाया गया है.

 

राष्ट्रपति शासन के अधीन दिल्ली राज्य के वित्त वर्ष 2014.15 के लिए 36,776 करोड़ रूपये का बजट पेश करते हुए अरूण जेटली ने आज कहा कि दिल्ली में किसी नये कर का प्रस्ताव नहीं किया गया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में और अधिक रात्रि आश्रय स्थल खोले जायेंगे.

 

दिल्ली के रोहिणी में अत्याधुनिक अस्पताल स्थापित किया जायेगा, साथ ही दिल्ली के विभिन्न इलाकों में 50 डायलिसिस केंद्र खोले जायेंगे. इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चार नये जलमल शोधन संयंत्र स्थापित करने का प्रस्ताव किया गया है. झुग्गी झोपड़ी बस्तियों में सामुदायिक शौचालय खोले जायेंगे सरकार ने दिल्ली में 260 करोड़ रूपये की बिजली सब्सिडी का प्रस्ताव किया है.

 

कांग्रेस और विपक्षी सदस्यों द्वारा बजट प्रस्तावों के विरोध के बीच अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि चर्चा के दौरान सदस्य मुद्दों को उठा सकते हैं. जेटली ने बाद में कहा कि वह केवल बजट प्रस्ताव पेश कर रहे हैं जिसे चर्चा के बाद पास किया जायेगा.

 

बजट के हाईलाइट्स-

  • सरकार ने दिल्ली में 260 करोड़ रूपये की बिजली सब्सिडी का प्रस्ताव किया

  • 400 यूनिट तक बिजली के खपत पर सब्सिडी, 200 यूनिट पर एक रुपया 20 पैसा और 200-400 यूनिट तक बिजली पर मिलेगी 80 पैसे सब्सिडी.

  • रोहिणी क्षेत्र में नया मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा

  • दक्षिण दिल्ली में एक मल्टी स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल खोला जाएंगा

  • पीपीपी मॉडल पर 50 डायलिसिस यूनिट्स लगाए जाएंगे

  • एक्सीडेंट को देखते हुए 110 मोबाइल एंबुलेंसेज दिल्ली के अंदर रहेंगी

  • गरीबों के लिए 18 हजार घर

  • चार लाख 30 लोगों को वृद्धा पेंशन, इससे पहले तीन लाख 90 हजार लोगों को मिलती थी

  • मानसिक दृष्टि से विकलांग लोगों को तीन नए घर

  • 185 नए शेल्टर है इन्हें भी बढ़ाया जाएगा

  • झुग्गी झोपड़ी बस्तियों में सामुदायिक शौचालय खोले जायेंगे

  • आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 1864 घरों का निर्माण

  • वर्किंग महिलाओं के लिए 6 नए हॉस्टल

  • गरीबों के लिए 18 हजार घर

  • दो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स, 500 वाटर एटीएम, 4 नए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट्स,

  • 1380 नई लो फ्लोर बसेज

  • तीस नए स्कूल खोले जाएंगे