delhi_election_kiran bedi_arvind_kejriwal

delhi_election_kiran bedi_arvind_kejriwal

By: | Updated: 06 Feb 2015 04:16 AM

नई दिल्ली: दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म हो चुका है. कल वोटिंग होनी है. वोटिंग से पहले दिल्ली में नेता मंदिर, गुरुद्वारों की परिक्रमा कर रहे हैं. किरन बेदी आज अपने चुनाव क्षेत्र कृष्णानगर के गुरुद्वारे पहुंची. किरन बेदी ने यहां पर मत्था टेका और लंगर के लिए रोटी बनाती हुई दिखीं.

 

यहां पर किरन बेदी ने कहा कि ये मैं पहली बार नहीं कर रही हूं. मैं बचपन में दादी के साथ गुरूद्वारे जाते थे. स्कूल में भी मैं चर्च में प्रार्थना करती थी. मेरी परवरिश सर्व धर्म है. ये मेरी परवरिश है. मैंने अपने जीवन में मानवता सीखी है. मेरा धर्म सर्वधर्म है जिसमें सभी धर्मों के लिए इज्जत है.'

 

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भी कहा है कि वो आज मंदिर और गुरुद्वारे जाएंगे. केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा है, 'आज मैं मंदिर गुरूद्वारे जारऊंगा, भगवान से दुआ करूंगा कि सच की जीत हो. आम आदमी पार्टी की जीत हो.

 

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार शाम को चुनाव प्रचार थम गया. प्रचार के आखिरी दिन बीजेपी, आप और कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंकी. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को बीजेपी की सीएम उम्मीदवार किरन  बेदी ने रोड शो किया. आम आदमी पार्टी के आखिरी दिन पद यात्रा  निकाली  और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी रोड शो किया.

 

चुनाव के चलते पूरी दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी, यूपी, हरियाणा से लगी दिल्ली की सीमाएं सील कर दी गई हैं. दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर कल सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे.

 

दिल्ली के 1 करोड़ 33 लाख मतदाता, कुल 673 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे, कुल 12,177 पोलिंग बूथ में से 714 संवेदशनशील और 191 अतिसंवेदन शील हैं.

 

दिल्ली में चुनाव के लिए करीब 95 हजार सरकारी अधिकारी लगाए गए हैं, सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों को पूरी दिल्ली में तैनात किया जाएगा. चुनाव को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने मेट्रो सर्विस का समय बढ़ाया, कल सुबह 4 बजे से ही दिल्ली मेट्रो दौड़ेगी.

 

सात फरवरी को दिल्ली में मतदान

आपको बता दें कि दिल्ली में 7 फरवरी को वोटिंग होगी तो 10 फरवरी को वोटों की गिनती होगी. साल 2013 में दिल्ली में हुए विधानसभा  चुनाव में बीजेपी को 32,आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय कांग्रेस के समर्थन से आप ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया.

 

एबीपी न्यूज़ की आपसे अपील है कि आप वोट जरूर करें और सबसे तेज चुनाव नतीजे जानने के लिए 10 फरवरी को एबीपी न्यूज़ देखें.

 

यह भी पढ़ें-

पांच बड़े सर्वे के मुताबिक कौन जीत सकता है दिल्ली का दिल!  

दिल्ली चुनाव में 200 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान: एसोचैम

'हार-जीत के लिए मोदी जिम्मेदार' 

सात सर्वे की जुबानी: जानें दिल्ली की जंग कौन जीतेगा?

'बीजेपी को हराने' के लिए ममता ने थामा 'आप' का झाड़ू

अमित शाह से एबीपी न्यूज़ की EXCLUSIVE बातचीत 



दिल्ली चुनाव में हार-जीत मोदी जी की होगी: शत्रुघ्न सिन्हा

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर