delhi_election_result

delhi_election_result

By: | Updated: 10 Feb 2015 01:33 AM

नई दिल्ली: दिल्ली 14 महीने बाद दिल्ली में हुए चुनाव न सिर्फ दिल्ली की जनता के लिए अहम हैं बल्कि बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की साख भी दांव पर है.

 

अगर दिल्ली भी बीजेपी जीतती है तो बीजेपी कहेगी कि 2013 से शुरू हुई मोदी लहर अब भी कायम है लेकिन अगर हार मिलती है तो मोदी लहर खत्म मानी जाएगी.

 

अरविंद केजरीवाल के भविष्य का फैसला

दिल्ली चुनाव से अरविंद केजरीवाल का राजनीतिक भविष्य जुड़ा हुआ है. अगर दिल्ली में आप की सरकार बन जाती है तो मोदी लहर को रोकने का क्रेडिट मिलेग. चुनाव में उठाए मुद्दों की वजह से केजरीवाल मिडिल क्लास के नेता माने जाएंगे और पार्टी विस्तार कर सकेगी लेकिन अगर केजरीवाल हारे तो लोकसभा चुनाव में पार्टी की बुरी गत के बाद दिल्ली भी हाथ से निकल जाएगी.

 

अमित शाह की रणनीति की असली परीक्षा

लोकसभा चुनाव से अमित शाह की चुनावी रणनीति का डंका बज रहा है. चुनाव बाद अमित शाह अध्यक्ष बने और उन्होंने महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में बीजेपी को शानदार जीत दिलाई वहीं जम्मू कश्मीर में बीजेपी किंग मेकर की भूमिका में हैं. 

 

अब अगर दिल्ली में बीजेपी जीतती है तो फिर अमित शाह चुनावी रणनीति के चाणक्य बनकर उभऱेंगे लेकिन अगर बीजेपी हार जाती है तो फिर उनके कई फैसलों पर सवाल उठेंगे.

 

किरन बेदी का क्या होगा ?

किरन बेदी का राजनीतिक भविष्य़ दिल्ली चुनाव से जुड़ा हुआ है. अगर दिल्ली में बीजेपी की सरकार बन जाती है तो फिर उनकी बल्ले बल्ले लेकिन अगर बीजेपी का विजय रथ थम गया तो फिर किरन बेदी का राजनीतिक भविष्य अधर में लटक सकता है. 

 

बिहार,पश्चिम बंगाल, यूपी के चुनाव पर असर

दिल्ली चुनाव का असर इस साल होनेवाले बिहार और उसके बाद पश्चिम बंगाल और यूपी के चुनाव पर पड़ सकता है. दिल्ली में बीजेपी की जीत होती है तो फिर वो पूरे उत्साह के साथ बाकी राज्यों में विजय पताका फहराने में जुट जायेगी लेकिन अगर दिल्ली में बीजेपी हारी तो फिर बिहार, पश्चिम बंगाल और यूपी के चुनाव पर भी असर पड़ सकता है और मोदी विरोधी नया समीकरण तैयार हो सकता है

 

कांग्रेस के भविष्य पर असर

दिल्ली चुनाव में कांग्रेस की साख भी दांव पर लगी है.. लोकसभा में मिली हार के बाद महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड और जम्मू कश्मीर में भी पार्टी सरकार नहीं बचा सकी थी. ऐसे में अगर पार्टी दिल्ली में तीसरे नंबर पर रहती है तो पार्टी की प्रतिष्ठा पर चोट पहुंचेगी लेकिन अगर कांग्रेस दिल्ली में अच्छा प्रदर्शन करती है तो फिर पार्टी के लिये ये शुभ संकेत होगा.

 

बजट सत्र पर असर

दिल्ली चुनाव का असर बजट सत्र पर भी दिख सकता है. अगर दिल्ली में बीजेपी की जीत होती है तो फिर बीजेपी नये उत्साह के साथ संसद में विपक्ष का सामना करेगी लेकिन अगर बीजेपी की हार होती है तो फिर विपक्ष एकजुट हो सकता है और फिर इसका असर तमाम अध्यादेश को पास कराने में पड़ सकता है.

 

 

यह भी पढ़ें

LIVE: कौन बनेगा दिल्ली का सीएम? 8 बजे से वोटों की गिनती होगी शुरु

एबीपी न्यूज़ टीवी, मोबाइल फोन सहित सभी प्लेटफार्म पर पाएं चुनाव के सबसे तेज नतीजे 

दिल्ली चुनाव: कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना आज 

क्या सारे सर्वे गलत साबित होंगे? 

 

 

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story केजरीवाल सरकार का फैसला, दिल्ली में राशन के लिए आधार कार्ड नहीं होगा अनिवार्य