16 दिसंबर गैंगरेप: SC ने दो आरोपियों की फांसी पर लगाई रोक

By: | Last Updated: Monday, 14 July 2014 10:46 AM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने देश के सबसे बहुचर्चित और बर्बर दिल्ली गैंगरेप केस के दो दोषियों की फांसी की सजा पर रोक लगा दी है.

 

सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला गैंगरेप के मुख्य आरोपी अक्ष्य और विनय की अर्जी पर दी है. अक्षय और विनय ने हाईकोर्ट के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है जिसमें उन्हें फांसी की सजा दी गई है.

 

एबीपी न्यूज़ के संवाददाता निपुण सहगल का कहना है कि इस तरह के मामले में जैसे ही सुप्रीम कोर्ट किसी की याचिका मंजूर करता है उसकी सजा पर रोक लगा दी जाती है और ये रोक तब तक जारी रहती है जब तक इस केस में फैसला नहीं आ जाता.

 

आपको बता दें कि पिछले साल साकेत की निचली अदालत ने इन दोषियों को अन्य आरोपों के साथ-साथ गैंगरेप, हत्या, हत्या का प्रयास, अप्राकृतिक अपराध, सुबूतों को नष्ट किए जाने और लूट दोषी पाया था और इन्हें मौत की सजा सुनाई थी.

 

पहले इन दोषियों ने हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया, लेकिन जब उन्हें यहां से भी राहत नहीं मिली तो अब इन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खट्खटाया है.

 

दिल्ली गैंगरेप: क्या हुआ था!

 

16 दिसंबर की रात दिल्ली में पैरा मेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंग रेप किया गया. पीड़ित छात्रा को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया.

 

16 दिसंबर से 26 दिसंबर तक इस लड़की का सफदरजंग अस्पताल में इलाज चला. जख्म इतने गहरे थे कि सफदरजंग अस्पताल में उसकी पांच बार सर्जरी की गई, लेकिन हालत बिगड़ते देख लड़की को 26 दिसंबर को सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल भेजा गया, जहां 29 दिसंबर को उसकी मौत हो गई.

 

दिल्ली गैंगरेप के खिलाफ देश में संसद से लेकर सड़क तक अभूतपूर्व गुस्सा दिखा था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: delhi_rape_convicted_stay_sc
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017