चिदंबरम को दिग्विजय का चैलेंज

By: | Last Updated: Sunday, 23 November 2014 5:57 AM
digvijay_challenges-chidambaram

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में हार के बाद पार्टी में हड़कंप मचा हुआ है. आए दिन कांग्रेस नेता सुझाव दे रहे हैं कि पार्टी में क्या होना चाहिए. कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह लगातार राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपने की मांग कर रहे हैं. एबीपी न्यूज से बात करते हुए दिग्विजय सिंह ने फिर ये बात दोहराई है. दिग्विजय सिंह ने चिदंबरम से कहा है कि वो भी चाहें तो कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ें. पीएम मोदी की राजनीति, पाकिस्तान से रिश्ते पर भी दिग्विजय सिंह ने भी अपनी राय रखी है.

 

सवाल- अमेरिका राष्ट्रपति बराक ओबामा के 26 जनवरी पर मुख्य अतिथि बनने पर आपका क्या कहना है?

 

जवाब- अगर ओबामा जी तशरीफ ला रहे हैं तो उनका हार्दिक स्वागत है. लेकिन पीएम ने अभी तक यह साफ नहीं किया कि WTO के मुद्दे पर अमेरिका से बातचीत नहीं हुई है. इसका किसानों पर क्या असर पड़ेगा? मोदी सरकार किसान विरोधी है. मोदी सरकार गरीब विरोधी और अमीरों की सरकार है.  क्लाइमेट चेंज के मुद्दे पर क्या बात हुई है इसे उन्होंने साफ नहीं किया इसका असर क्या होगा. न खाने की चीजों की कीमत कम हुई है न महंगाई कम हुई है.

 

सवाल- पाकिस्तान से बातचीत कर हल निकलना चाहिए?

 

जवाब- एबीपी न्यूज से कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा- काठमांडू में सार्क सम्मेलन के दौरान पीएम नवाज शरीफ से बात करें. कांग्रेस पार्टी हमेशा यह तरजीह देती है कि आज के माहौल में हथियार से नहीं बल्कि बातचीत से हल निकलना चाहिए. 

 

सवाल- संघ प्रमुख भागवत के 800 साल बाद देश में हिंदू सरकार कहने पर क्या कहना है?

 

जवाब- भागवत जी से मैं पूछना चाहता हूं कि हिंदू शब्द क्या है? हिंदू सिंधु से बना है. हमारे पुराणों में भी हिंदू शब्द नहीं बल्कि सनातन धर्म का जिक्र किया गया है. हिंदू धर्म जो है सनातन धर्म है. संघ के लोग समाज को विभाजित कर रहे हैं. आरएसएस प्रमुख अगर यूनिवर्सिटी में डायवर्सिटी की बात कर रहे हैं तो वहसंघ में मुस्लिमों को क्यों नहीं शामिल करते?

 

सवाल-मोदी सरकार छह महीने के अब तक के कामकाज पर क्या कहना चाहते हैं?

 

जवाब- दिग्विजय सिंह ने कहा, ”मोदी की मार्केटिंग जबरदस्त है, कम्युनिकेटर अच्छे हैं लेकिन उनके पास प्रोडक्ट नहीं है. मोदी सिर्फ अच्छा बोल सकते हैं.”

 

सवाल- एलपीजी सब्सिडी के मुद्दे पर आपका क्या कहना है?

 

जवाब- मोदी कॉरपोरेटर्स के प्रतिनिधि के तौर पर काम कर रहे हैं. मोदी सरकार सिर्फ अमीरों की सरकार है.

 

सवाल- राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपने पर आप क्या कहना चाहते हैं?

 

जवाब- दिग्विजय सिंह राहुल को पार्टी की कमान सौंपने की पैरवी करते दिखे. उनहोंने कहा, राहुल गांधी को पार्टी की पूरी जिम्मेदारी निभानी चाहिए. उनको और ज्यादा सक्रियता से मीडिया और जनता के बीच जाना चाहिेए. राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहिए.”

 

कांग्रेस का अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर उन्होंने जवाब दिया कि गांधी परिवार से बाहर भी कोई कांग्रेस सदस्य पार्टी अध्यक्ष का चुनाव लड़ सकता है. अगर चिंदबरम चाहें तो वह भी चुनाव लड़ सकते हैं.

 

प्रियंका गांधी को पार्टी में सक्रिय भूमिका निभाने पर पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी पर कोई फैसला उनका परिवार लेगा.