dilip pandey comment on prashant bhushan

dilip pandey comment on prashant bhushan

By: | Updated: 02 Mar 2015 08:46 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी एक बार फिर अपने पहले के बयानों से पलटती नजर आ रही है. चंदे के विवाद के पीछे आम आदमी पार्टी ने उस वक्त बीजेपी का हाथ बताया था. जबकि अब वह इसके पीछे प्रशांत भूषण को बता रहे हैं.

 

चलिए हम पहले आपको ताजा मामला बताते हैं. दिलीप पांडे ने अपनी चिट्ठी में योगेंद्र यादव के पीए विजय रमण और आप के अहम सदस्य सत्या के बीच हुई बातचीत के हवाले से आरोप लगाए हैं. चिट्ठी के कुछ अंशो के मुताबिक जब सत्या , विजय रमण से मिलने गए तब उन्हें बताया कि केजरीवाल में संयोजक बने रहने की राजनीति क्षमता नहीं है. लोकसभा चुनाव में बड़ी हार के बाद कई घटनाओं से पता चलता है कि प्रशांत भूषण, शांति भूषण और योगेंद्र यादव ने केजरीवाल के खिलाफ साजिश रची. 

 

 

शांति भूषण ने आशीष खेतान से कहा कि केजरीवाल को संयोजक पद से हटाने का बढ़िया तरीका ये है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बन जाए. दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनेगी तो केजरीवाल नेता विपक्ष बनेंगे और फिर हमलोग एक व्यक्ति एक पद की मांग तेज कर देंगे. योगेंद्र, प्रशांत और शांति भूषण ने पार्टी विरोधी मंच AVAM को खड़ा करने में मदद की. दिलीप पांडे ने आरोप लगाया है कि जब आशीष खेतान ने इन सबको रोकना चाहा, तो प्रशांत भूषण ने कहा- इसमें कुछ भी गलत नहीं है.

 

एनजीओ आवाम ने आरोप लगाया था कि आम आदमी पार्टी ने चंदे के नाम पर काले धन को सफेद किया. एनजीओ आवाम ने आम आदमी पार्टी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कमीशन देकर ब्लैक मनी को व्हाइट करने की बात कही थी. वहीं इसके जवाब में आम आदमी पार्टी ने कहा था कि हम पैसों के मामले में पारदर्शी हैं और आवाम के पीछे बीजेपी है.

 

अब इसके पीछे प्रशांत भूषण का हाथ आम आदमी पार्टी के दिलीप पांडे लगा रहे हैं. आखिर सच्चाई क्या है?

 

दिलीप पांडे की चिट्ठी लीक

अब आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता को चिट्ठी लिखकर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की शिकायत की है.

 

इस चिट्ठी में दिलीप पांडे ने लिखा है, '2014 के लोकसभा चुनाव से पहले योगेंद्र यादव के पीए विजय रमण ने पार्टी के अहम सदस्य सत्या को फोन किया. विजय ने सत्या से कहा कि आप की कोर टीम में शामिल करने के लिए योगेंद्र यादव उनका इंटरव्यू लेना चाहते हैं. जब सत्या रमण से मिलने गए तब उन्हें बताया गया कि केजरीवाल में संयोजक बने रहने की राजनीतिक क्षमता नहीं है. रमण ने सत्या से कहा कि केजरीवाल को हटाकर योगेंद्र यादव को राष्ट्रीय संयोजक बनाए जाने की जरूरत है. सत्या ये सुनकर चौक गए. सत्या ने इस बात की सूचना पार्टी के बड़े नेताओं को दी और बताया कि योगेंद्र यादव किस तरह केजरीवाल के खिलाफ साजिश रच रहे हैं.'

 

चिट्ठी में दिलीप पांडे ने लिखा है कि लोकसभा चुनाव में बड़ी हार के बाद कई घटनाओं से प ता चलता है कि प्रशांत, शांति भूषण और योगेंद्र ने केजरीवाल के खिलाफ साजिश रची. दिलीप पांडे ने लिखा है, 'जुलाई में नेशनल पॉलिसी कमेटी की बैठक में आशीष खेतान को भी भड़काया गया. शांति भूषण ने खेतान से कहा कि केजरीवाल को संयोजक पद से हटाने का बढ़िया तरीका ये है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बन जाए. दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनेगी तो केजरीवाल नेता विपक्ष बनेंगे और तब फिर हम लोग एक व्यक्ति एक पद की मांग तेज करेंगे.'

 

योगेंद्र यादव की प्रतिक्रिया

इन्हीं खबरों के बीच योगेंद्र यादव अब आम आदमी पार्टी के बचाव में उतर आए हैं. योगेंद्र यादव ने आज सुबह सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर जो भी खबरें चल रही हैं वह मनगढ़ंत और बेतुकी हैं.

 

क्या है 'आप' के चंदे का विवाद?

एनजीओ आवाम का आरोप है कि आम आदमी पार्टी ने चंदे के नाम पर 5 अप्रैल 2014 को फर्जी कंपनियों से 2 करोड़ रुपए का चंदा लिया.

 

एक ही शख्स के नाम पर आप ने चार अलग-अलग कंपनियों से 50-50 लाख का चंदा लिया. आप को चंदा देने वाली कंपनियां झोंपड़ी में चलती हैं.

 

आम आदमी पार्टी पर लगा है फर्जी कंपनियों से दो करोड़ का चंदा लेने का आरोप है. एनजीओ अवाम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और फंडिंग में धोखाधड़ी का आरोप लगाया. वहीं आम आदमी पार्टी का दावा है कि चंदे में कुछ भी गलत नहीं हुआ है.

 

आम आदमी पार्टी इन्हीं चार कंपनियों से दो करोड़ चंदे को लेकर आरोपों के घेरे में हैं और आरोप लगाने वाले आप के ही पुराने कार्यकर्ता हैं. आप वॉलेंटियर्स एक्शन मंच यानी अवाम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके आरोप लगाया है कि फर्जी कंपनियों के जरिये काला धन आप ने जमा किया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई: डॉक्टरों की निगरानी में हैं गोवा के सीएम पर्रिकर, हालत सामान्य