‘विवादों से भरा कार्यकाल’ पूरा करने के बाद डीयू के वीसी रिटायर

By: | Last Updated: Wednesday, 28 October 2015 5:39 PM
Dinesh Singh’s controversial tenure as DU VC to end tomorrow

नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति के तौर पर सबसे विवादित कार्यकाल पूरा करने के बाद दिनेश सिंह आज पदमुक्त हो गये . पांच साल के कार्यकाल के दौरान सिंह को हटाने की कई बार मांग की गयी.

 

उन्हें चार साल के स्नातक कार्यक्रम (एफवाईयूपी) की शुरूआत के बाद से मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय के साथ टकराव के लिए जाना जाता है. जहां यूजीसी के हस्तक्षेप के बाद शुरूआत के एक साल बाद ही कार्यक्रम को बंद करना पड़ा, सिंह ने कई उतार चढ़ावों का सामना किया जो उनके कार्यकाल के अंत तक जारी रहा. साथ ही सिंह विश्वविद्यालय के 93 साल के इतिहास में अकेले ऐसे कुलपति रहे जिन्हें एचआरडी मंत्रालय ने एक कारण बताओ नोटिस जारी किया.

 

नोटिस में उनसे स्पष्ट करने के लिए कहा गया कि एफवाईयूपी को लेकर मंजूरी ना लेने के लिए उन्हें क्यों ना हटा दिया जाए. हालांकि सिंह लगातार कहते रहे कि उन्होंने सभी जरूरी मंजूरियां ली थीं, मंत्रालय ने उन्हें लगातार निशाने पर बनाए रखा और उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के अलावा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (विश्वविद्यालय के विजिटर) से उन्हें हटाने की सिफारिश भी की. ऐसा लगा कि सिंह की वर्तमान सरकार से नहीं बन रही थी हालांकि उनका कहना था कि उनपर कोई राजनीतिक दबाव नहीं है.

 

इस महीने की शुरूआत में तब एक नया विवाद शुरू हो गया जब मंत्रालय ने हितों के टकराव के एक मामले में शामिल होने के आरोपों को लेकर सिंह को अनिवार्य छुट्टी पर भेजना चाहा. सिंह द्वारा अपने उत्तराधिकारी के चयन के लिए गठित एक समिति में इसरो के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन की नियुक्ति को लेकर हितों के टकराव की बात उठी थी क्योंकि कस्तूरीरंगन डीयू के मानद प्रोफेसर हैं. हालांकि चयन समिति ने नए कुलपति की नियुक्ति को औपचारिक रूप नहीं दिया है, सिंह द्वारा ‘कार्यकाल से इतर’ एक भी ज्यादा दिन पद संभालने से इनकार करने के बाद विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति सुधीश पचौरी कार्यवाहक कुलपति का पद संभालेंगे.

 

विश्वविद्यालय ने पचौरी की नियुक्ति को लेकर आज एक अधिसूचना भी जारी की. पचौरी विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग में प्रोफेसर हैं. वह कल अपना पदभार संभालेंगे. सिंह को हटाने की मांग को लेकर उनके टकराने वाले दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) ने उनके कार्यालय में उनके आखिरी दिन को ‘छुटकारा के अच्छे दिन’ के तौर पर मनाया. डूटा ने पूर्व में सिंह के कामकाज में वित्तीय एवं प्रशासनिक गड़बड़ियों का आरोप लगाते हुए एक श्वेत पत्र भी जारी किया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Dinesh Singh’s controversial tenure as DU VC to end tomorrow
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017