क्या बिहार की सरकार को अवाम की चिंता नहीं है? 

By: | Last Updated: Thursday, 4 June 2015 11:05 AM
dispute between nitish kumar and jeetan ram manjhi

नई दिल्ली: बिहार में मुख्यमंत्री निवास में लगे पेड़ों की सुरक्षा को लेकर राजनीति गर्मा गई है . मुख्यमंत्री निवास में अभी जीतन राम मांझी रह रहे हैं और उनका आरोप है कि नीतीश कुमार ने वहां आम के पेड़ों की सुरक्षा के लिए पुलिस वालों को तैनात कर रखा है . विवाद के बाद नीतीश कुमार जब मीडिया के सामने आये तो फोर्स तैनाती की जानकारी से ही इनकार कर दिया . नीतीश ने इसे तुच्छ मुद्दा बताया है .

कहने को तो आम के पेड़ मुख्यमंत्री के सरकारी बंगले में लगे हैं . लेकिन इस बंगले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नहीं बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी रह रहे हैं . मांझी का आरोप है कि नीतीश ने इन पेड़ों पर पुलिस का पहरा लगा दिया है और दलित होने की वजह से इसके इस्तेमाल से रोका जा रहा है . 

 

क्या है फल पर पहरे का विवाद ?

 

नीतीश जानकारी से इनकार कर रहे हैं . लेकिन मांझी की पार्टी की ओर से एबीपी न्यूज को एक सर्कुलर पेश किया गया है जिसमें आम की सुरक्षा में 24 पुलिस वालों की तैनाती की बात कही गई है . इनमें 8 दारोगा और 16 सिपाही शामिल हैं  .

 

मांझी से आम, लीची को बचाने के लिए नीतीश ने तैनात की फोर्स 

आम और अवाम की सुरक्षा के सवाल पर नीतीश विरोधियों के निशाने पर इसलिए भी हैं क्योंकि बिहार में लोगों की सुरक्षा भगवान भरोसे हैं .

 

100 पेडों की रखवाली के लिए 24 पुलिस वालों की तैनाती की गई है . जबकि 2012 का सरकारी आंकड़ा बताता है कि बिहार में 1492 लोगों की सुरक्षा एक पुलिस वाले के जिम्मे है . यानी 1 लाख लोगों की सुरक्षा में 67 पुलिस वाले तैनात हैं . जो कि देश में सबसे कम है . जबकि यहां आम के 4 पेड़ की रखवाली के लिए 1 पुलिस वाले की तैनाती की गई है . फरवरी महीने में नीतीश के सत्ता संभालने के बाद राज्य में अपराध का ग्राफ बढ़ा है .

 

फऱवरी में जहां हत्या के 211 मामले दर्ज हुए थे वहीं मार्च में 274 केस दर्ज किये गये . फरवरी में अपहरण के 561 केस दर्ज किये गये जबकि मार्च में आंकड़ा 619 का हो गया . इसी तरह रेप, डकैती और लूट की घटनाओं में भी फरवरी की तुलना में मार्च में बढ़ोतरी हुई है . इसके बाद भी नीतीश दावा कर रहे हैं कि उनकी सरकार अवाम की चिंता कर रही है न कि आम की . लेकिन आंकड़ें नीतीश के दावे के उलट है तो क्या वाकई में बिहार की सरकार को अवाम की चिंता नहीं है ?

 

आम का ये झगड़ा दस साल पुराना है. राबड़ी देवी ने तब मुख्यमंत्री निवास छोड़ा था लेकिन आम का स्वाद वो भूल नहीं पाई थी. तभी तो नीतीश से इस बात की शिकायत थी कि आम लगाए उन्होंने और स्वाद नीतीश कुमार ले रहे हैं. जब राबड़ी ने ताना मारा था तो नीतीश ने भी जवाब दिया कि आम तो खराब हो गया. लेकिन कुरेदने पर उन्होंने कह दिया कि वो आम भिजवा देंगे.

 

उस वक्त नीतीश ने आम भिजवाए थे या नहीं ये तो पता नहीं लेकिन आम का विवाद हुआ है तो नीतीश फिर कह रहे हैं कि वो आम भिजवा देंगे.

 

कितना बड़ा है बगीचा ?

 

सीएम आवास में इस वक्त

 

आम के 14

लीची के 10

कटहल के 8

अमरूद 20

और मेडिसिनल प्लांट लगे हैं.

 

नियम के मुताबिक मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद जीतन राम मांझी सीएम निवास में एक महीना तक रह सकते हैं . मांझी ने इसी साल 20 फरवरी को उन्होंने इस्तीफा दिया था लेकिन अभी तक उन्होंने बंगला खाली नहीं किया है.

 

सीएम आवास के फल खाने का नियम क्या है ?

 

नियम के मुताबिक कैंपस की फल सब्जियों पर सीएम का अधिकार है. सीएम अगर इस्तेमाल नहीं करते तो बेचने का पैसा खजाने में जाएगा. कोई दूसरा अगर इस्तेमाल करेगा तो उसे खरीदना होगा . यानी नीतीश इन आमों को फ्री में खा सकते हैं लेकिन मांझी को पैसे देने पड़ेंगे?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dispute between nitish kumar and jeetan ram manjhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Jeetan Ram Manjhi Nitish Kumar
First Published:

Related Stories

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017