डॉक्यूमेंट्री विवाद: इंटरव्यू को अधिकारियों को क्यों नहीं दिखाया इसकी जांच की जाएगी- बस्सी

By: | Last Updated: Wednesday, 4 March 2015 1:10 PM

नई दिल्ली: 16 दिसंबर 2012 के सामूहिक बलात्कार के दोषी के विवादास्पद इंटरव्यू पर प्राथमिकी दर्ज करने के बाद दिल्ली पुलिस ने आज कहा कि इंटरव्यू की सामग्री को संबद्ध अधिकारियों को क्यों नहीं दिखाया गया, इसकी जांच करेंगे.

दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इजाजत क्यों दी गई यह हमारी जांच का हिस्सा नहीं है, जांच का मुद्दा इंटरव्यू की सामग्री है, जिसे संबद्ध अधिकारियों को नहीं दिखाया गया.’’ बस्सी ने कहा, ‘‘ प्रथम दृष्टया, इंटरव्यू लेने की इजाजत देने में कोई अपराध नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि डॉक्यूमेंट्री फिल्मकार को कुछ शर्तों के साथ इंटरव्यू करने की अनुमति दी गई थी, जिनमें से एक यह थी कि इसमें कुछ भी कानून के खिलाफ नहीं होना चाहिए.

 

दिल्ली पुलिस ने कल एक प्राथमिकी दर्ज की और मीडिया को इंटरव्यू का प्रसारण रोकने के लिए अदालत से आदेश भी लिया. इंटरव्यू से बवाल हो गया, जिसमें बताते हैं कि दोषी मुकेश सिंह ने कहा कि उसे उस जघन्य अपराध के लिए कोई पछतावा नहीं है.

 

हालांकि प्राथमिकी में किसी का नाम नहीं है. बस्सी ने कहा कि ‘मुख्य भूमिका’ उस शख्स की है जिसने ये दावे किए हैं. उन्होंने मीडिया से ऐसे दावों का प्रसारण नहीं करने की गुज़ारिश की, जिससे कानून का उल्लंघन होता हो.

 

बस्सी ने कल संवाददाताओं से कहा था, ‘‘ यह वीभत्स अपराध था. हर किसी को इस बात का एहसास होना चाहिए कि अपराध की रिपोर्टिंग करते हुए कानून के दायरे का उल्लंघन न हो और अगर ऐसा होता है तो कानून अपना काम करेगा.’’ ब्रिटिश फिल्म निर्माता लेस्ली उडविन और बीबीसी द्वारा लिए गए इंटरव्यू में मुकेश ने कहा कि रात में बाहर निकलने वाली महिलाएं अगर दुराचारी पुरूषों के गिरोह का ध्यान आकषिर्त करती हैं तो इसके लिए वे खुद ही जिम्मेदार हैं. मुकेश उस बस का चालक था जिसमें 16 दिसंबर 2012 को 23 वर्षीय पेरामेडिकल छात्रा के साथ छह व्यक्तियों ने बर्बर सामूहिक बलात्कार किया था.

 

उसने कहा, ‘‘ बलात्कार के लिए एक लड़की एक लड़के से कहीं ज्यादा जिम्मेदार होती है.’’

 

संबंधित खबरें-

डॉक्यूमेंट्री रोकने से रेपिस्ट की सोच रुकेगी? 

निर्भया डॉक्यूमेंट्री विवाद: संसद में उठा मुद्दा, अनु आगा और जावेद अख्तर ने की डॉक्यूमेंट्री दिखाने की वकालत 

निर्भया डॉक्यूमेंट्री विवाद: विवादास्पद इंटरव्यू की सरकार करवायेगी जांच, करेगी जिम्मेदारी तय

डॉक्यूमेंट्री विवाद: ‘देश के करोड़ों मर्दों को पता तो चले कि वे रेपिस्ट की तरह सोचते हैं’ 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: documentry_controversy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017