माता पिता को 24 घंटे बिजली नहीं मुहैया कराने का मलाल: कलाम

By: | Last Updated: Thursday, 2 July 2015 3:38 PM

नयी दिल्ली: पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को अपने जीवन में सबसे बड़ा अफसोस इस बात का है कि वह अपने माता पिता को उनके जीवनकाल में 24 घंटे बिजली उपलब्ध नहीं करा सके. अपने माता पिता से ईमानदारी और आत्म अनुशासन सीखने वाले डा. कलाम हालांकि इस बात से खुश हैं कि उनके 99 वर्षीय भाई एपीजे एम मरईकयार तमिलनाडु के रामेश्वरम में अपने घर पर अब 24 घंटे बिजली पा रहे हैं और इसका श्रेय तकनीक को जाता है.

 

डा. कलाम ने एक इन्टरव्यू में बताया, ‘‘मेरे पिता जैनुलाब्दीन 103 साल तक जीवित रहे और मां आशियाम्मा 93 साल तक जीवित रहीं. मेरे भाई इस समय 99 साल के हैं. अपने भाई के लिए मैंने यह सुनिश्चित किया है कि उन्हें 24 घंटे बिजली मिले, भले ही पावर कट हो. मैंने एक सोलर पैनल लगवाया हुआ है.’’ 83 वर्षीय कलाम वर्ष 2002 से 2007 तक देश के 11वें राष्ट्रपति रहे हैं.

 

वह कहते हैं, ‘‘लेकिन मैं अपने माता पिता को ऐसी सुविधा उपलब्ध नहीं करा सका क्योंकि उस समय ऐसी तकनीक नहीं थी. इसका मुझे सबसे बेहद अफसोस है.’’ घर में सबसे छोटा होने के कारण कलाम की घर में खास जगह थी. जब वह स्कूल में पढ़ रहे थे तो वहां बिजली नहीं थी. उनके घर में लालटेन से रोशनी होती थी और वह भी शाम को सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक.

 

लेकिन उनकी मां ने उन्हें विशेष रूप से एक छोटा किरोसीन का लैम्प दिया हुआ था ताकि वह रात 11 बजे तक पढ़ सकें. डा कलाम ने अपनी नयी किताब ‘‘रिइग्नाइटिड: साइंटिफिक पाथवेज टू ए ब्राइटर फ्यूचर’’ में अपनी जिंदगी के बहुत से अनछुए पहलुओं को पेश किया है. अपने करीबी सहयोगी सृजन पाल सिंह के साथ मिलकर लिखी गयी इस किताब में उन्होंने युवाओं को रोबोटिक, एयरोनोटिक्स, न्यूरोसाइंस, पैथोलोजी जैसे विषयों में कैरियर बनाने को लेकर सुझाव भी दिए हैं. कलाम और सिंह पिछले नौ सालों से मिलकर काम कर रहे हैं.

 

पेंग्विन द्वारा प्रकाशित किताब में लेखकों ने बच्चों से अपील की है कि वे अपनी छोटी छोटी घटनाओं को प्रेरणा स्तंभ बनाएं ताकि वे अपने भीतर एक नयी आग महसूस कर सकें. यह आग बच्चों के भीतर नये विचारों, नए उद्देश्यों को जन्म देगी और महानता का लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगी.

 

1997 में भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किए गए कलाम कहते हैं कि उनके बचपन के दिनों में अभाव सबसे बड़ी चुनौती था लेकिन उनके माता पिता ने कभी महसूस नहीं होने दिया कि उन्हें सब चीजों का इंतजाम करने में कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. उनके अनुसार देश के सर्वाधिक प्रतिभाशाली वैज्ञानिकों और दुनिया के महान लोगों में चार विशेषताएं रही हैं, एक उच्च लक्ष्य, लगातार ज्ञान को ग्रहण करना, कड़ी मेहनत और समस्याओं से न घबराना.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dr.apj abdul kalam_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे हुई ?
गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे...

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक नहीं लगाई
योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से छेड़खानी
CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से...

नई दिलली: राजधानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में महिला से छेड़खानी का एक सनसनीखेज मामला सामने...

आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त
आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त

गुरुवार को एडीआर के एक कार्यक्रम में चुनाव आयुक्त ने कहा, जब चुनाव निष्पक्ष और साफ सुथरे तरीके...

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017