जानें! देश में कहां-कहां बरपा भूकंप का कहर

By: | Last Updated: Saturday, 25 April 2015 5:48 PM
earthquake_india

नई दिल्ली: शनिवार को राजधानी समेत देश के विभिन्न हिस्सों में  भूकम्प के झटके महसूस किए गए. बिहार, यूपी समेत देश के अलग-अलग राज्यों से इस वकित जहां करीब 47 लोंगो के मरने की खबर हैं वहीं कई जगहों पर करीब 50 से अधिक लोंगो के घायल होने की सूचना प्राप्त हुई है.

 

मप्र में भूकंप के झटके से जन-धन हानि नहीं

 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में शनिवार को दो बार भूकम्प के झटके महसूस किए गए. इन झटकों से कोई जन-धन हानि तो नहीं हुई है, मगर लोगों का पूरा दिन जरूर दहशत के बीच गुजरा. मौसम विभाग ने कहा कि शनिवार को 11 बजकर 41 मिनट और 12 बजकर 15 मिनट पर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, सागर सहित जबलपुर व अन्य स्थानों पर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. भूकंप का केंद्र नेपाल था, जिसकी तीव्रता रिक्टर पर 7.9 और 6.6 थी और वह जमीन से 10 किलोमीटर की गहराई पर था.

 

आम दिनों की तरह शनिवार को भी सरकारी व निजी दफ्तरों में कामकाज पूरी रफ्तार से चल रहा था, तभी किसी ने टेबल पर रखी पानी की बोतल हिलते देखी तो किसी को लगा कि उनकी कुर्सी हिल रही है. इसके चलते लोग दफ्तरों और घरों से बाहर निकल आए. बच्चों और महिलाओं को जैसे ही पता चला कि भूकंप के झटके लगे हैं, उनमें दहशत और घर कर गई.

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बल्लभ भवन में अफसरों के साथ बैठक कर रहे थे, उन्होंने बताया कि अफसरों द्वारा प्रोजेक्टर पर प्रस्तुतीकरण दिया जा रहा था, तभी लगा कि कुछ हिल रहा है. यह समझते देर न लगी कि भूकंप आया है. इसी के चलते सभी लोग बाहर निकल आए.

 

चौहान ने बताया कि सभी कर्मचारियों से कह दिया गया कि वे भोजनावकाश के बाद तक भवन के भीतर न जाएं, जान सबसे कीमती है. लिहाजा सतर्कता बरतना जरूरी है. सभी दफ्तरों में भोजनावकाश के बाद ही कामकाज शुरू हुआ.

 

मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार की शाम को बताया कि राज्य में भूकंप के झटके आए मगर किसी भी तरह की जन-धन हानि की कोई सूचना नहीं है.

 

जबलपुर सहित अन्य स्थानों पर भूकंप के दो बार झटके महसूस किए गए. हर तरफ अफरा-तफरी मच गई और दफ्तरों में कामकाज रुक गया, मॉल खाली हो गए, सभी लोग घरों से बाहर निकल आए जिसके चलते कई इलाकों की सड़कों पर जाम के हालात बन गए. देर शाम तक लोग दहशत में रहे और घरों के भीतर आसानी से जाने को तैयार नहीं हुए. लोग अब भी सामान्य नहीं हो पाए हैं.

 

वहीं भोपाल स्थित मौसम विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय ने लोगों से सतर्क रहने की अपील करते हुए कहा है कि भूकंप के झटके कई बार आने की आशंका रहती है, उसी के चलते इस बार भी ऐसी ही आशंका है, लिहाजा लोगों को सतर्क रहना चाहिए.

 

बिहार में भूकंप से 24 मरे, कई मकान ध्वस्त

 

बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में शनिवार को दो बार भूंकप के झटके महसूस किए गए. भूकंप के कारण राज्य में कई मकान गिरने की सूचना है, जिससे 24 लोगों की मौत हो गई तथा कम से कम 30 लोग घायल हो गए. पूर्वी चंपारण में सबसे ज्यादा सात लोगों की मौत हुई है. बिहार सरकार ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है.

 

राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ब्यास जी ने बताया कि राज्य की राजधानी पटना के अलावा गया, सीतामढ़ी, नालंदा, बक्सर, पूर्णिया, बेगूसराय, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, दरभंगा सहित कई जिलों में लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए.

 

आपदा प्रबंधन विभाग के नियंत्रण कक्ष के अनुसार, भूकंप के कारण राज्य में जानमाल की व्यापक क्षति हुई है. राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में कई मकान गिर गए हैं, जिससे 24 लेागों की मौत हो गई है. सबसे अधिक पूर्वी चंपारण जिले में सात लोगों की मौत हुई है. मृतकों में सीतामढ़ी में छह, दरभंगा में तीन, सारण और सुपौल में दो-दो तथा अररिया, शिवहर और मधुबनी में एक-एक लोग शामिल हैं. मृतकों में बच्चों की संख्या अधिक बताई जा रही है.

 

राज्य सरकार ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये बतौर मुआवजा देने तथा घायलों को मुफ्त इलाज कराने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने तथा सतर्क रहने की अपील की है. उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सभी अधिकारी राहत कार्य में लगे हुए हैं.

 

उन्होंने कहा, “इस भयंकर आपदा की परिस्थिति में सबको मिलकर काम करने की जरूरत है और यह सबका दायित्व भी है.”

 

मुजफ्फरपुर, मधुबनी, सीतामढ़ी, गोपालगंज, मुंगेर में कई घर गिरे हैं. पूर्णिया में भी कुछ घरों में दरार आई है. भूकंप के कारण एहतियातन कई स्थानों पर कुछ घंटे के लिए बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई थी. सुपौल में जेल की दीवार गिर गई है जबकि पटना के एक मॉल की दीवारों में दरार पड़ गई है. भूकंप का केन्द्र नेपाल बताया जा रहा है.

 

उधर, मंगलवार को आए चक्रवाती तूफान से प्रभावित पूर्णिया, मधेपुरा सहित विभिन्न जिलों में भूकंप के बाद लोग दहशत में हैं.

 

बंगाल : भूकंप से 3 मरे, ममता ने मोदी से बात की

 

भूकंप का केंद्र नेपाल में होने का असर शनिवार को पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्से पर भी देखा गया. राज्य में भूकंप से एक महिला सहित तीन व्यक्तियों की मौत हो गई और 30 अन्य घायल हो गए. इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की और हालात की जानकारी दी. कोलकाता में संवादाताओं से ममता ने कहा कि भूकंप से सबसे अधिक प्रभावित उत्तरी बंगाल का वह रविवार को दौरा करेंगी.

 

उन्होंने कहा, “मैंने प्रधानमंत्री से बात की है और उन्हें राज्य के हालात की जानकारी दी है. अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है और 30 घायल हो गए हैं.”  उन्होंने कहा कि वह रविवार को भूकंप प्रभावित उत्तर बंगाल का दौरा करेंगी. आपदा राहत की एक टीम आज रात रवाना हो रही है.

 

उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन समूह का एक नियंत्रण कक्ष बनाया गया है. इसका टोलफ्री नंबर भी है. पुलिस के मुताबिक, दार्जिलिंग जिले के सिलीगुड़ी इलाके में दो व्यक्तियों की मौत हुई है, वहीं जलपाईगुड़ी जिले में अंबारी इलाके में एक व्यक्ति की मौत हो गई.

 

पुलिस उपायुक्त ओ.जी. पाल ने बताया, “सिलीगुड़ी में दीवार गिरने से 35 साल के एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि नक्सलबाड़ी में इमारत का एक हिस्सा ढह जाने से 45 वर्षीय महिला की मौत हो गई.”

 

सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग कालिमपोंग और कुर्सियांग में करीब 20 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.  दार्जिलिंग के जिलाधिकारी पुनीत यादव ने बताया, “भूकंप का कई इमारतों पर असर हुआ है, बिजली तथा टेलीफोन के खंभे उखड़ गए हैं और सड़कें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं.”

 

उत्तर बंगाल के 19 नगर पालिकाओं में शनिवार को चल रहा मतदान अस्थायी तौर पर रोक दिया गया, क्योंकि भूकंप को लेकर लोग दहशत में थे.

 

कोलकाता में भी झटके महसूस करने के बाद लोग ऊंची इमारतों से बाहर आ गए. मेट्रो सेवा भी प्रभावित हुई और कई स्टेशनों को खाली करा दिया गया. शहर और उपनगरीय इलाके में कई लोग अपने घरों से निकल आए. कोलकाता की कुछ पुरानी इमारतों में दरारें पड़ गईं.

 

छत्तीसगढ़ में भूकंप के हल्के झटके

 

छत्तीसगढ़ सहित पड़ोसी राज्य मध्यप्रधेश में शनिवार सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए. राजधानी रायपुर के अलावा भिलाई, बिलासपुर, कोरबा, बलरामपुर, सरगुजा क्षेत्र में झटके महसूस किए जाने की खबर है.

 

नई राजधानी स्थित मंत्रालय भवन, भिलाई इस्पात संयंत्र में झटके से कर्मचारियों-अधिकारियों के कार्यालय से बाहर आने की भी खबर मिली है. वैसे किसी जनहानि के समाचार नहीं मिले हैं.

 

नया रायपुर स्थित मंत्रालय भवन के कर्मचारी कार्यालय से बाहर आ गए, वहीं भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्यालय भवन में दरार आ गई. भयभीत अधिकारी तथा कर्मचारी कार्यालय से निकल आए.

 

रायपुर मौसम केंद्र के निदेशक एम.एल. साहू ने बताया कि छत्तीसगढ़ के सरगुजा और बिलासपुर संभाग के कुछ जिलों में भूकंप के झटके महससू किए गए. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5 मापी गई.

 

इसके पहले 5 जनवरी 1954 को दंतेवाड़ा जिले के दक्षिणी क्षेत्र में, 12 फरवरी 1996 को कोरबा के उत्तरपूर्व, 10 अक्टूबर 2000 को अंबिकापुर क्षेत्र, 12 जून 2001 को ओड़िशा से लगे सीमावर्ती क्षेत्रों में, 13 अप्रैल 2007 को धर्मजयगढ़ के उत्तर में भूकंप के झटके आ चुके हैं.

 

उप्र में भूकंप के 3 झटके, स्कूल-कॉलेज रहे बंद

 

उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित विभिन्न जिलों में शनिवार सुबह आधे घंटे के अंदर तीन बार भूकंप के झटके महसूस किए गए. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तत्काल स्कूल, कॉलेज बंद करने के आदेश दिए. (17:40)

पहला झटका करीब 11.42 मिनट पर आया. इस दौरान लगभग 20 से 25 सेकेंड तक घर, स्कूल, अस्पताल व अन्य इमारतें हिलती रहीं. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.4 बताई जा रही है. इसके बाद लगभग 12 बजकर 25 मिनट पर एक बार फिर से भूंकप के झटके महसूस हुए. स्कूल, अस्पताल, होटल, दफ्तर से सभी लोग तुरंत बाहर निकल आए.

 

भू-वैज्ञानिक और लखनऊ यूनिवर्सिटी में भूगर्भ विज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ. ध्रुवसेन सिंह ने बताया कि 20 से 30 सेकेंड तक झटके महसूस किए गए. लखनऊ में इस तरह के झटके 35 साल बाद आए.

 

प्रदेश के बाराबंकी में भूकंप के झटकों से तीन बच्चों के घायल होने की खबर है. वहीं, गोरखपुर में दीवार गिरने से एक व्यक्ति घायल हो गया. इलाहाबाद में कचहरी से वकील तुरंत बाहर निकल आए. मथुरा में एसपी ऑफिस की दीवार में दरार पड़ गई. इस दौरान कई कंपनियों के नेटवर्क व्यवस्था बिगड़ गई. वहीं अयोध्या के कमाख्या मंदिर की छत भूकंप के झटके से गिर गई.

 

आगरा, बांदा, कौशांबी, हापुड़, सुलतानपुर, एटा, कासगंज, गोरखपुर, फिरोजाबाद, मथुरा, बिजनौर, बागपत में भी भूकंप के तगड़े झटके लगे. अमेठी, आजमगढ़, बरेली, लखीमपुर खीरी, मैनपुरी, औरैया, संतकबीरनगर, बहराइच व पीलीभीत में भी झटके महसूस किए गए.

 

प्रतापगढ़, बाराबंकी, गोंडा व मिर्जापुर में भी लोग दहशत के कारण मकानों से बाहर भागे. कानपुर, वाराणसी, लखनऊ इलाहाबाद, बलिया, रामपुर, फैजाबाद, सीतापुर, नोएडा, गाजियाबाद तथा बुलंदशहर में भूकंप के झटकों से लोगों में दहशत फैल गई. जमीन में करीब 30 सेकेंड तक कंपन होने के बाद अफरातफरी मच गई. भयभीत लोग अपनों का हालचाल लेने के लिए फोन लगाते रहे, लेकिन फोन लग नहीं रहा था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: earthquake_india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Bihar Earthquake India MP UP
First Published:

Related Stories

बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली: तंत्र साधना के लिए 2 साल के बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट...

जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’
जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’

बेंगलूरू: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक सरकार की सस्ती खानपान सुविधा का उद्घाटन...

घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट
घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट

नई दिल्ली: घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों के लिए अच्छी खबर है. मोदी सरकार ने नी-रिप्लेसमेंट...

बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस
बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस

पटना: पडोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के कारण अचानक आयी बाढ़ से बिहार बेहाल...

गोरखपुर ट्रेजडी: पिछले दो दिनों में और 35 बच्चों की मौत, DM की जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा
गोरखपुर ट्रेजडी: पिछले दो दिनों में और 35 बच्चों की मौत, DM की जांच रिपोर्ट में...

गोरखपुर: गोरखपुर में पिछले दो दिनों में 35 और बच्चों की मौत हो चुकी है. मेडिकल कॉलेज में 10 से 12...

दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू, देश में अबतक 600 की मौत
दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू, देश में अबतक 600 की मौत

नई दिल्ली: देश के कई इलाकों में स्वाइन फ्लू कहर बरपा रहा है. अकेले गुजरात में ही इस साल स्वाइन...

सऊदी अरब: रियाद में फंसी लड़की की वापसी के लिए बहनों ने सुषमा से लगाई गुहार
सऊदी अरब: रियाद में फंसी लड़की की वापसी के लिए बहनों ने सुषमा से लगाई गुहार

नई दिल्ली/रियाद:  विदेशों में फंसे भारतीयों की जी जान से मदद करने वाली विदेश मंत्री सुषमा...

J&K: पुलवामा में लश्कर के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को किया गया ढेर
J&K: पुलवामा में लश्कर के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को किया गया ढेर

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर को आज...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी हादसे की जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली...

नई दिल्ली: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 अगस्त से 12 अगस्त के बीच 48 घंटे के भीतर 36 बच्चों की...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017