'ऐसे दावे केवल हेडलाइन बनाते हैं'

By: | Last Updated: Saturday, 2 May 2015 11:26 AM

नई दिल्ली: अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने मोदी सरकार के कामकाज की तीखी आलोचना की है. ऐसे समय जब मोदी सरकार एक साल पूरा करने जा रही है, अरुण शौरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के दावों की पोल खोल दी है. शौरी ने कहा है कि मोदी सरकार की आर्थिक नीति दिशाहीन है.

 

बीजेपी के बड़े नेता अरुण शौरी ने किया मोदी सरकार पर तीखा हमला, कहा- 10 लाख का सूट पहनना ठीक नहीं 

वाजपेयी सरकार में अहम मंत्री रह चुके और भारतीय अर्थव्यवस्था की समझ रखने वाले प्रभावशाली लोगों में से एक अरुण शौरी ऐसे पहले ऐसे शख्स हैं जिसने 2009 में ही नरेंद्र मोदी को पीएम उम्मीदवार बनाने की वकालत कर दी थी. उस अरुण शौरी ने नरेंद्र मोदी पर किया है हमला.   

 

अरुण शौरी ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी देश की अर्थव्यवस्था से ठीक ढंग से नहीं निपट रहे हैं. अंग्रेजी न्यूज चैनल हेडलाइंस टुडे से इंटरव्यू के दौरान जब शौरी से ये पूछा गया कि क्या मोदी सरकार ने भारत को 8 प्रतिशत विकास दर के रास्ते पर लाने में पर्याप्त काम किया है, जो जल्द ही 10 प्रतिशत तक हो सकता है, अरुण शौरी ने कहा कि ये सरकार के बड़बोलेपन को दिखाता है. ऐसे दावे कुछ देर के लिए हेडलाइंस तो बन सकते हैं, लेकिन हकीकत में ऐसा संभव नहीं है. अर्थव्यवस्था दिशाहीन  है, सरकार के पास दावे हैं लेकिन आर्थिक योजनाओं का कोई खाका नहीं है. ऐसा दिखाई देता है कि सरकार सिर्फ हेडलाइंस में बने रहने के लिए काम कर रही है ताकि उसकी योजनाओं को मीडिया में जगह मिलती रहे.

 

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान विनिवेश, संचार और सूचना तकनीक मंत्रालय का जिम्मा संभाल चुके अरुण शौरी ने मोदी सरकार की उपलब्धियों की सूची को खारिज करते हुए शौरी ने कहा कि महंगाई, वित्तीय घाटा, एफडीआई, कोल ब्लॉक और स्पेक्ट्रम नीलामी जैसी चीजों के नतीजे कुछ ऐसे ही आने थे. इसमें सरकार ने कुछ नहीं किया है. मसलन- तेल और गैस की कीमतों में कमी का मसला अंतरराष्ट्रीय मामला है. इसमें सरकार ने कुछ नहीं किया .

 

शौरी से जब अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के दिल्ली दौरे के दौरान पहने गए मोदी के महंगे सूट को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि मैं खुद नहीं समझ पा रहा हूं कि उन्हें ऐसा करने और दिखाने की क्या जरूरत थी. आप लाखों का सूट पहन कर गांधीजी का नाम नहीं ले सकते.

 

अरुण शौरी सरकार ही नहीं बीजेपी की आलोचना करने से भी नहीं रुके उन्होंने कहा कि मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली की त्रिमूर्ति पार्टी को चला रही है. अरुण शौरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने दक्षिणपंथी गुटों की ओर से ईसाइयों और उनकी संस्थाओं पर हो रहे हमलों पर अपनी आंखें बंद कर ली है.

 

पिछले साल जब नरेंद्र मोदी की सरकार बन रही थी उस समय अरुण शौरी के मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होने को लेकर खूब चर्चाएं हुई थीं पर ऐसा हो नहीं सका. अरुण शौरी मोदी सरकार की पिछले साल दिसंबर में भी आलोचना कर चुके हैं. 

 

 

‘लव जिहाद’ और मुरादाबाद की हिंसा की घटना के संदर्भ में मुस्लिम युवकों के अलग थलग पड़ने की बात करते हुए शौरी ने कहा, ‘‘अगर 100 मुस्लिम युवक मिलकर आते हैं और कहते हैं कि हमें यहां न्याय नहीं मिल रहा और आईएसआईए सही है तो हमें समस्या होती है.’’

 

शौरी ने सवालों के जवाब में कहा कि मोदी, अमित शाह और अरूण जेटली पार्टी चला रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इन्होंने विपक्ष को नाखुश किया है और बीजेपी के सदस्यों को भी भयभीत किया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे गलतियों के लिए जिम्मेदार हैं और वे सुप्रीम कोर्ट भी हैं. तीनों नेता उचित प्रतिक्रिया नहीं ले रहे और कोई सुधारात्मक कदम नहीं उठाया जा रहा.’’

 

शौरी ने कुछ दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ मुलाकात में मोदी द्वारा पहने गये अपने नाम की कढ़ाई वाले विवादास्पद सूट का भी विषय उठाया और कहा, ‘‘यह समझ से बाहर थी और बड़ी गंभीर भूल थी. मुझे समझ नहीं आता कि उन्होंने सूट को लिया क्यों और फिर उसे पहना क्यों. आप गांधीजी का नाम लेकर इस तरह की चीजें नहीं पहन सकते.’’

 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अच्छी बात है कि उन्होंने जल्दी ही इससे छुटकारा पा लिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Economic policy “directionless” : Shourie
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017