आर्थिक सर्वे की खास बातें

By: | Last Updated: Friday, 27 February 2015 10:28 AM
economic survey

नई दिल्ली: देश का बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया . सर्वे में अगले साल के लिए 8 फीसदी की दर से विकास दर का अनुमान लगाया गया है और आगे चलकर 10 फीसदी तक को मुमकिन बताया गया है.

 

साल 2014-15 के आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ों में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अर्थव्यवस्था के विकास की रफ्तार और तेज होने की उम्मीद जताई है.

 

आर्थिक सर्वेक्षण में बताया गया है कि साल 2014-15 में महंगाई की दर घटी है. अप्रैल 2014 से दिसंबर 2014 तक महंगाई की दर 6 पर्सेंटेज पॉयंट तक घटी है.

 

आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है कि राजकोषीय घाटे को जीडीपी के 3 फीसदी तक लाने की कोशिश होनी चाहिए. कोयला, बीमा और भूमि अध्यादेश को कानून में बदलने की जरूरत इसलिए है, ताकि निवेशकों में भरोसा जगे और कानूनी तौर पर उनकी जिम्मेदारी तय हो सके. जीएसटी लागू करने के लिए संविधान संशोधन विधेयक को कानून में बदलने की जरूरत है. इसमें कृषि क्षेत्र में चार प्रतिशत वृद्धि दर बनाए रखने की बात भी कही गई है.

 

आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक राजस्व बढ़ाने की योजनाओं पर सरकार का जोर रहेगा और सब्सिडी की नये सिरे से समीक्षा की जाएगी. देश में कौशल विकास में तेजी आए, इसके लिए आर्थिक सर्वेक्षण में मेक इन इंडिया पर जोर देने की जरूरत बताई गई है.

 

कुल मिलाकर, आर्थिक सर्वेक्षण के नजरिए और विकास दर के बढ़े हुए अनुमानों को देखते हुए आने वाले बजट में आर्थिक सुधारों के और तेज होने की उम्मीद की जा सकती है.

 

संबंधित खबरें-

आर्थिक सर्वे: महंगाई घटी, अगले साल 8 से 10 फीसदी की रफ्तार से विकास होने का अनुमान 

आर्थिक सर्वेक्षण: साल 2014-15 में विकास दर 5.4 से 5.9 फीसदी रहने का अनुमान 

BUDGET 2015 LIVE: महंगाई घटी, अगले साल 8 से 10 फीसदी की रफ्तार से विकास होने का अनुमान- आर्थिक सर्वे 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: economic survey
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017