सबसे बड़ा घोटाला: क्या 11 हजार 500 करोड़ रूपए वापस आ पाएंगे?

सबसे बड़ा घोटाला: क्या 11 हजार 500 करोड़ रूपए वापस आ पाएंगे?

नीरव मोदी और उसके सहयोगी पैसा वापस नहीं करते है तो ये पैसा डूब जायेगा. यानी अगर नीरव मोदी और उसके साथियों से पैसे की वसूली नहीं हुई तो जनता की गाढ़ी कमाई के साढ़े ग्यारह हजार करोड़ रूपए डूबने तय हैं.

By: | Updated: 15 Feb 2018 08:23 PM
ED seizes diamond, gold jewellery worth Rs 5100 crore in searches

नई दिल्ली: देश में 11,500 करोड़ का बैंकिंग घोटाला हो गया. घोटाला इतना बड़ा है कि देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक के ज़रिए देश के टैक्सपेयर्स के हज़ारों करोड़ रूपए डूबने की कगार पर हैं, ऐसे में इस महाघोटाले पर कई सवाल उठ रहे हैं. सबसे बड़ा सवाल है कि क्या 11 हजार 500 करोड़ रूपए वापस आ पाएंगे?


पीएनबी घोटालाः ईडी की बड़ी कार्रवाई, नीरव मोदी की 5100 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त


सूत्रों के मुताबिक दो दिन पहले जांच एजेंसियो और बैंक के अधिकारियों के बीच बैठक हुई. बैठक के दौरान बैंक के आला अधिकारियों ने साफ तौर पर कहा कि यदि नीरव मोदी और उसके सहयोगी पैसा वापस नहीं करते है तो ये पैसा डूब जायेगा. यानी अगर नीरव मोदी और उसके साथियों से पैसे की वसूली नहीं हुई तो जनता की गाढ़ी कमाई के साढ़े ग्यारह हजार करोड़ रूपए डूबने तय हैं.


जानिए PNB घोटाले से जुड़ी 10 खास बातें, आखिर कैसे किया नीरव मोदी ने ये घोटाला?


क्या नीरव मोदी से 11 हजार 500 करोड़ की वसूली हो पाएगी?
बैंकिंग सचिव राजीव कुमार से जब एबीपी न्यूज़ ने पूछा कि बैंक को हुए नुकसान की भरपाई कैसे हो पाएगी? बैंकिंग सचिव ने दावा किया कि नीरव मोदी के पास बहुत सम्पत्ति है और इसलिए पैसा निकलवाने में दिक्कत नहीं होगी.


जानिए, कौन है पंजाब नेशनल बैंक के 11,300 करोड़ लूटने वाला नीरव मोदी?


बैंकिंग सचिव राजीव कुमार ने ये जवाब संसदीय स्थायी समिति की बैठक में भी दिया. सवाल बैठक में मौजूद सांसदों ने पूछा था. एक तरफ बैंकिंग सचिव जवाब दे रहे थे तो दूसरी तरफ ईडी ने कार्रवाई शुरू कर दी. नीरव मोदी के ठिकानों पर पड़े छापों में प्रवर्तन निदेशालय ने 5100 करोड़ की कीमत की डायमंड ज्वैलरी और सोना जब्त कर लिया है.


Exclusive: PNB घोटाले का आरोपी नीरव मोदी देश छोड़ कर भागा, 9 ठिकानों पर ईडी की छापेमारी


क्या विदेश भाग चुके आरोपियों को वापस लाया जा सकेगा?
घोटाले में शामिल दोनों बैंक अधिकारियों को छोड़ दें तो बाकी के सभी आरोपी विदेश भाग चुके हैं. इस मामले का सबसे कमजोर पहलू यह है कि अन्य बड़े घोटाले के आरोपियों की तरह इस घोटाले के आरोपी भी बडे उधोगपति है. यदि वो विदेश से नहीं लौटना चाहेंगे तो विजय माल्या और ललित मोदी की तर्ज पर भारत सरकार को विदेश मे लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ सकती है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: ED seizes diamond, gold jewellery worth Rs 5100 crore in searches
Read all latest Business News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अफसर बनाम सरकार: केजरीवाल बोले- अमित शाह से सवाल पूछें एजेंसियां, BJP का पलटवार- भाषा की मार्यादा ना भूलें