छत्तीसगढ़ टेप कांड: चुनाव आयोग ने दिया जांच का आदेश, सीएम बोले जांच कराएंगे

By: | Last Updated: Thursday, 31 December 2015 8:19 AM
Election Commission asks Chhattisgarh to probe audio tape controversy

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में पिछले साल विधानसभा की एक सीट के लिए हुए उपचुनाव से जुड़े एक कथित आडियो टेप के सामने आने के बाद चुनाव आयोग ने बुधवार को राज्य के मुख्य सचिव को इस मामले में तत्काल उचित जांच गठित करने का निर्देश दिया. मुख्य सचिव को सात जनवरी तक अपनी रिपोर्ट सौंपनी है.

raman singh

छत्तीसगढ़ में पिछले साल विधानसभा की एक सीट के लिए हुए उपचुनाव से जुड़े एक कथित आडियो टेप के सामने आने के बाद चुनाव आयोग ने आज राज्य के मुख्य सचिव को इस मामले में ‘‘तत्काल उचित जांच’’ गठित करने का निर्देश दिया. इस आडियो में उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार के मैदान से हट जाने के पीछे कथित तौर पर वित्तीय प्रलोभन दिए जाने की बात की गयी है.

पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हए मु्ख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा ये कांग्रेस का अंदरूनी झगड़ा है । इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मामले की जांच की भी बात कही है.

कांग्रेस ने मांगा रमन सिंह का इस्तीफा

 इंडियन एक्सप्रेस के खुलासे पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस की ओर से पहली प्रतिक्रिया आई है. छत्तीसगढ़ कांग्रे के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा, ”अंतागढ़ में भारी लेनदेन हुआ है. काले धन का उपयोग कर के उसे प्रजातंत्र को कलंकित करने का काम किया गया है.” इसके साथ ही बघेल ने अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को कारण बताओ नोटिस जारी करने की बात भी कही. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री रमन सिंह के इस्तीफे की भी मांग की.

bhupesh

बघेल ने कहा, ”हम राज्यपाल से निवेदन करेंगे की इस सरकार को बर्खास्त करे. नरेंद्र मोदी कहते हैं न खाऊंगा न खाने दूंगा. उन्ही के पार्टी के मुख्यमंत्री ने न केवल खाया है बल्कि खिलाया भी है.” बघेल ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी के गठन की मांग की.

अजीत जोगी और अमित जोगी के मुद्दे पर बोलते हुए बघेल ने कहा, ”अमित जोगी को 7 दिन के अंदर कारण बताओ नोटिस का जवाब देना होगा. अजीत जोगी से जानकारी मांगी जायेगी और पार्टी आलाकमान को अवगत कराया जाएगा.”

टेप से मची खलबली

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल लाने वाला ऑडियो टेप जारी किया है. पिछले साल कांकेर की अंतागढ़ विधानसभा सीट के लिए सौदेबाजी का खुलासा किया है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बातचीत की रिकॉर्डिंग 2014 की है.

बीजेपी को उपचुनाव में वॉकओवर मिल जाए, इसके लिए कांग्रेस उम्मीदवार को मैदान से हटाने के लिए सौदेबाजी हुई जिसमें छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह, उनके दामाद पुनीत गुप्ता, पूर्व सीएम अजित जोगी और उनके अमित जोगी का जिक्र है. कई की ऑडियो रिकॉर्डिंग का भी दावा इंडियन एक्सप्रेस ने किया है जिसकी पुष्टि एबीपी न्यूज नहीं करता है.

क्या है पूरा मामला?
13 सितम्बर 2014 को छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के अंतागढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था. इसमें कांग्रेस ने मंतुराम पवार को बीजेपी ने भोजराज नाग को अपना उम्मीदवार बनाया था. चुनाव जीते थे भोजराज नाग. कांग्रेस के मंतूराम पवार ने चुनाव के ठीक पहले अपना नाम वापस ले लिया था. बीजेपी इसके बाद आसानी से जीत गई. जिसके बाद कांग्रेस को यह सीट खाली छोड़नी पड़ी थी. जो बातचीत की रिकॉर्डिंग हुई वो इसी सीट को लेकर हुई थी. जिसमें कांग्रेस उम्मीदवार मंतूराम के हटने से बीजेपी को वाकओवर मिला था.

रिकॉर्डिंग में आखिर है क्या ?
अखबार ने जो रिकॉर्डिंग जारी की है उसमें बार बार पैसों का भी जिक्र हो रहा है. पुनीत गुप्ता से हो रही एक रिकॉर्डिंग में अजित जोगी के बेटे अमित जोगी कह रहे हैं कि वो दस की उम्मीद कर रहे हैं. हमें सात तक जाना होगा. हमें उन्हें नीचे लाना होगा लेकिन इतना भी नहीं कि वो भाग ही जाए.

एक और बातचीत में अमित जोगी रमन सिंह की पत्नी वीना सिंह की सेहत का हाल पूछ रहे हैं. वो वीऩा को आंटी कह रहे हैं और पुनीत गुप्ता अमित जोगी को भइया और अजित जोगी को अंकल पुकार रहे हैं. जिस समय ये लेन देन चल रहा था उस समय रमन सिंह की पत्नी का इलाज विदेश में चल रहा था.

इस केस में कौन कौन से नाम आए हैं और उनकी भूमिका क्या थी

  • अजित जोगी और उनके अमित जोगी, रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता हैं.
  • फिरोज सिद्दीकी, पूर्व जोगी समर्थक रमन सिंह के लिए काम कर रहा था.
  • मंतूराम पवार, कांग्रेस उम्मीदवार जो चुनाव से हटा.
  • अमीन मेनन, जोगी समर्थक जो कांग्रेस उम्मीदवार मंतू को हटाने के लिए सौदेबाजी कर रहा था.

अमीन मेनन औऱ फिरोज सिद्दीकी के बीच जो बातचीत हुई उसके मुताबिक पैसे मिलने में देरी हुई क्योंकि रमन सिंह की पत्नी बीमार थी. अमीन पैसे पर अड़ा और फिरोज बार बार पत्नी की बीमारी का हवाला देकर अमीन से इंतजार करने को कहा था.

बिग बॉस कौन है ?
मंतूराम पवार के उम्मीदवारी छोड़ने पर उनके सम्मान की बात हुई. बातचीत हुई अमित जोगी और फिरोज सिद्दीकी के बीच. इसी बातचीत में एक बिग बॉस का भी जिक्र आया. अमित जोगी ने कहा कि अब सम्मान देना पड़ेगा. सिद्दीकी ने कहा कि चार बजे पेमेंट पहुंच जाएगा. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस टेप में उनकी आवाज है.

कौन हैं मन्तूराम पवार
मंतूराम पवार ने नारायणपुर विधानसभा से 1990 में सीपीआई से चुनाव लड़ा था. इसके बाद 1993 से 2013 तक कांग्रेस की टिकट से पांच बार चुनाव लड़े, जिसमें से 1998 में ही वे चुनाव जीते थे. 2008 में परिसीमन के बाद अंतागढ़ विधानसभा अस्तित्व में आया. इस चुनाव में पवार केवल 191 वोट से पीछे रहे थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Election Commission asks Chhattisgarh to probe audio tape controversy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017