केजरीवाल: चट्टानी इरादा, धुन का पक्का

By: | Last Updated: Tuesday, 10 February 2015 1:49 PM

नई दिल्ली: राजनीति की दहलीज पर दस्तक देने से पहले अरविंद केजरीवाल स्वतंत्र विचारों वाला होने का तमगा लिए कई क्षेत्रों में घूम चुके व्यक्ति थे. वह लोकसभा चुनाव हारे, मगर मंगलवार को आए चुनाव परिणाम ने साबित कर दिया कि उन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता.

 

दिल्ली विधानसभा का यह चुनाव साल 2013 के चुनाव के करीब 15 माह बाद हुआ है. इस चुनाव ने उन्हें अनुभवी राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले कहीं ज्यादा पक्का इरादे वाला ‘लड़ाका’ साबित कर दिया.

 

दिल्ली के एक स्लम में ठेकेदारों और अधिकारियों के भ्रष्टाचार के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ने वाले अरविंद केजरीवाल अपनी वेशभूषा के कारण ‘मफलर वाला’ के नाम से पूरे देश में मशहूर हुए.

 

आयकर अधिकारी के पद को अलविदा कह राजनीति में आए केजरीवाल इस चुनाव में कड़ाके की सर्दी बीच गले में मफलर लपेटे कठिन परिस्थितियां और केंद्र के सत्ताधारियों व कांग्रेस के जहर बुझे तीर झेलते रहे और मुकाबले में चट्टान की तरह डटे रहे.

 

जो उन्हें करीब से जानते हैं, उनका कहना है कि केजरीवाल सामाजिक कार्यकर्ता व नेता से कहीं ज्यादा भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को समर्पित हैं. वह अपना लक्ष्य जानते हैं.

 

केजरीवाल को 15 सालों से जानने वाले पूर्व आईटी पेशेवर पंकज गुप्ता ने कहा, “एके की स्पष्ट सोच है. वे अपने उद्देश्य के प्रति अत्यंत सजग हैं.”

 

गुप्ता आम आदमी पार्टी (आप) में उसके गठन के समय (2012) से ही सक्रिय हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री एके अत्यंत कर्मठ, ऊर्जावान और धुन के पक्के हैं.

 

लेकिन केजरीवाल के दोस्त जिस वजह से उन पर फिदा हैं, वह है कि अप्रत्याशित जीत के बावजूद आप नेता का साधारण वेश में रहना और कामयाबी पर घमंड नहीं करना.

 

केजरीवाल आध्यात्मिक सोच से भरे हैं और बुजुर्गो का सम्मान करते हैं. असल में वह विनोदी स्वाभाव से भरे हैं और इसका प्रदर्शन उन्होंने कथित रूप से ऑनलाइन चैट शो ‘द विराल फीवर’ पर कहा था, “पार्टियां मेरे राजनीतिक बयान के लिए आलोचना करती हैं और घर पर मेरी पत्नी मेरे बैंक स्टेटमेंट के लिए आलोचना करती है. हर कोई मेरी आलोचना करता है.”

 

साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में आप को पराजय का सामना करना पड़ा था. वह खुद बनारस जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़े, पराजय झेली और इससे पूर्व 49 दिनों में इस्तीफा देकर पंगु दिल्ली सरकार को गिराने वाले पूर्व मुख्यमंत्री केजरीवाल चुटकुलों का पात्र होकर रह गए थे.

 

लग रहा था, सबकुछ खत्म हो गया. पार्टी बिखर रही है, लेकिन किसे पता था कि धुन के पक्के केजरीवाल फिर से पांच साल के लिए दिल्ली की गद्दी पर बैठेंगे.

 

भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले इस योद्धा को फिलिपींस में रेमन मैगसेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया था. इस अवार्ड को एशिया का नोबल पुरस्कार माना जाता है.

 

16 अगस्त 1968 में हरियाणा के हिसार जिले के सिवान गांव में एक मध्यवर्गीय परिवार में जन्मे केजरीवाल ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन को राजनीतिक आंदोलन में तब्दील कर दिया.

 

चिकित्सक बनने की तमन्ना रखने वाले केजरीवाल को पिता की इच्छा के अनुरूप भारतीय प्रौद्योगकी संस्थान-खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करनी पड़ी और बाद में वह भारतीय राजस्व सेवा में आए. उन्होंने मां से अनुमति लेकर एक विभागीय सहकर्मी सुनीता के साथ विवाह किया. उनके दो बच्चे हैं हर्षिता और पुलकित.

 

आयकर विभाग में अधिकारी रहते हुए केजरीवाल ने जो कर दिखाया, वैसा करने का साहस शायद कम ही लोग दिखा पाते हैं. उन्होंने प्रणाली को साफ करने का प्रयास किया.

 

दिल्ली के बिजली उपभोक्ताओं की लड़ाई लड़ने वाले केजरीवाल ने सालों पहले ‘परिवर्तन’ नाम से एनजीओ की स्थापना की. लोगों को जागरूक करना शुरू किया और सूचना के अधिकार का इस्तेमाल कर सुंदरनगरी में लोगों को ठग रहे भ्रष्ट ठेकेदारों और अधिकारियों की पोल खोली.

 

यह भी पढ़ें-

दिल्ली चुनाव: पांच उम्मीदवार जो रिकॉर्ड वोटों से जीते

वोटों में 25 फीसदी छलांग के साथ बजा ‘आप’ का डंका

राजनीति की फलक पर चमकता नया सितारा केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल : नए दौर की राजनीति के नायक

हकीकत से दूर रहे एग्जिट पोल के नतीजे 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: election_delhi assembly_delhi election_aam aadmi party_arvind kejriwal_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

नई दिल्ली: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 अगस्त से 12 अगस्त के बीच 48 घंटे के भीतर 36 बच्चों की...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का दावा: कांग्रेस
RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का...

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वाधीनता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के नाम...

'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं क्या...?
'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं...

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रिश्तों में टकराव के लिए चीन ने पीएम नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. http://bit.ly/2vINHh4  मंगलवार को...

 'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता
'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया...

नई दिल्ली: जानलेवा ‘ब्लू व्हेल’ गेम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को...

विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!
विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव कल यानि गुरुवार को अपनी ताकत के प्रदर्शन के लिए सम्मेलन...

भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं
भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं

बीजिंग: चीन ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में मंगलवार को दो बार भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश...

योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'
योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'

नई दिल्लीः यूपी के किसानों के लिए खुशखबरी का इंतजार खत्म हो गया है. कल सीएम योगी आदित्यनाथ 7 हज़ार...

दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान
दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान

नई दिल्ली: दिल्ली के कनॉट प्लेस इलाके में तेज रफ़्तार स्पोर्ट्स बाईक से एक्सिडेंट का बड़ा मामला...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017