एबीपी सर्वे: नहीं चला किरन का जादू, अब भी CM पद की पहली पसंद हैं केजरीवाल

By: | Last Updated: Tuesday, 20 January 2015 2:09 AM
election_delhi assembly_kejriwal_modi_kiran bedi_congress_bjp_aap_abp survey_

नई दिल्ली: दिल्ली की सियासत में किरन बेदी के एंट्री के बाद कितनी बदली है दिल्ली की तस्वीर? मुख्यमंत्री की रेस में कौन है आगे और किसकी बनेगी सरकार?

 

दिल्ली के इसी सियासी मिजाज को समझने और मतदाताओं के मूड को भांपने की एबीपी न्यूज़-नीलसन की कवायद बता रही है कि चुनावी जंग में बीजेपी का झंडा लेकर किरन बेदी के कूदने के बाद भी जनता के बीच सीएम की रेस में अरविंद केजरीवाल नंबर वन हैं.

 

कौन है सीएम की पहली पसंद?

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन के ताज़ा सर्वे के मुताबिक सीएम की रेस में अरविंद केजरीवाल सबसे ज़्यादा 47 फीसद वोटरों की पसंद हैं, जबकि 43.9 फीसद जनता किरन बेदी को सीएम के तौर पर देखना चाहती है. सीएम की रेस में तीसरे और सबसे निचले पायदान पर हैं कांग्रेस के नेता अजय माकन, जो 6.7 फीसद जनता की पसंद हैं.

 

बीजेपी के लिए धड़कनें बढ़ाने वाली बात ये है कि जब जनता से पूछा गया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो किस पार्टी को वोट देंगे तो कांटे की टक्कर के आसार दिखे, लेकिन मामूली अंतर के साथ बहुमत ने आम आमदी पार्टी के पक्ष में हामी भरी.

 

किस पार्टी को देंगे वोट?

 

46 फीसद जनता ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो आम आदमी पार्टी को वोट देंगे, जबकि 45 फीसद वोटरों की राय थी कि वो बीजेपी को वोट देंगे. महज़ 8 फीसद जनता ने कांग्रेस को वोट देने की बात कही.

 

दिलचस्प बात यह है कि किरन बेदी के महिला होने के बावजूद ज्यादातर महिलाएं अरविंद केजरीवाल को ही वोट देना पसंद कर रही हैं. सर्वे के मुताबिक जहां 48.6 फीसद महिलाएं केजरीवाल को वोट देने का मन बना चुकी हैं तो सिर्फ 43 फीसद महिलाएं ही किरन बेदी को वोट देना चाहती हैं.

 

ताज़ा सर्वे से साफ है कि बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने दिल्ली में बीजेपी के अनेक दिग्गजों को नाराज़ करके किरन बेदी को लाने का जो फैसला किया वो उम्मीद के ठीक उल्टे नतीजे दे रहा है.

 

क्या होगा अगर किरन बेदी सीएम कैंडिडेट घोषित होती हैं?

एबीपी न्यूज़-नीलसन के सर्वे में जब वोटरों से जब पूछा गया कि अगर बीजेपी किरन बेदी को सीएम कैंडिडेट घोषित करती है तो आप किस पार्टी को वोट देगें क्या आपके उस फैसले पर असर पड़ेगा? इसके जवाब में 38.4 फीसद लोगों ने हां में हामी भरी. लेकिन 61.6 फीसद ने कहा कि बेदी के सीएम उम्मीदवार घोषित किए जाने के बावजूद वो किस पार्टी को वोट देंगे उनके उस फैसले पर असर नहीं पड़ेगा.

 

क्या किरन बेदी ने बीजेपी ज्वाइन करके सही फैसला किया?

 

जब सर्वे के दौरान वोटरों से पूछा गया कि क्या किरन बेदी ने बीजेपी ज्वाइन करके सही फैसला किया या उन्हें आम आदमी पार्टी में शामिल होना चाहिए? तो इस सवाल का जबाव काफी चौंकाने वाला रहा.

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन के सर्वे महज़ 32.9 फीसद वोटरों ने किरन बेदी के बीजेपी में जाने के फैसले को सही ठहराया, जबकि 43.8 फीसद वोटरों ने कहा कि किरन बेदी को आम आदमी पार्टी ज्वाइन करना चाहिए. 23.3 फीसद वोटरों की राय थी कि उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता कि किरन बेदी किस पार्टी में जाती हैं.

 

एबीपी न्यूज़ के ताज़ा सर्वे से साफ है कि दिल्ली की जनता का मूड किरन बेदी के आने से बीजेपी के पक्ष में जाता नहीं दिख रहा है.

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन का ये सर्वे किरन बेदी को बीजेपी में शामिल किए जाने के दूसरे दिन यानी 17 से 19 जनवरी के बीच किया गया है. ये सर्वे दिल्ली के 35 इलाकों के 1489 वोटरों की राय पर आधारित है.

 

संबंधित खबरें:

एबीपी न्यूज़ सर्वे: आम आदमी पार्टी की बड़ी छलांग, पर अभी भी बीजेपी बनेगी सबसे बड़ी पार्टी 

एबीपी सर्वे: सीएम की रेस में केजरीवाल बहुत आगे निकले, 54 फीसद की हैं पहली पसंद 

एबीपी न्यूज सर्वे: दिल्ली में बीजेपी को 34 और आप को 28 सीट मिलने का अनुमान 

ABP सर्वे: अरविंद केजरीवाल सीएम की पहली पसंद

ABP सर्वे: दिल्ली में मोदी लहर पड़ी धीमी, फिर भी झाडू पर भारी है कमल

ABP सर्वे: जानें झारखंड में कौन हैं सीएम की पहली पसंद?

सर्वे: दिल्ली में मोदी सबसे लोकप्रिय, पर सीएम की रेस में नंबर वन केजरीवाल

सर्वे: दिल्ली में झाडू पर भारी कमल, बीजेपी को पूर्ण बहुमत के आसार 

सर्वे : दिल्ली में BJP-AAP के बीच कड़ी टक्कर, त्रिशंकु विधानसभा के आसार

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: election_delhi assembly_kejriwal_modi_kiran bedi_congress_bjp_aap_abp survey_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published: