यमन में भारत का बचाव अभियान पूरा, 5 हजार से ज्यादा लोग निकाले गए

By: | Last Updated: Friday, 10 April 2015 2:19 AM
evacuation operation from Yemen is over

नई दिल्ली: भारत ने यमन के सबसे बड़े शहर सना से अपने अन्य 630 नागरिकों को लाने के साथ ही वहां से भारतीयों को निकालने से संबंधित हवाई अभियान गुरुवार को संपन्न कर लिया.

 

यमन से अब तक कुल 4,640 भारतीयों को युद्ध प्रभावित यमन से वापस लाया जा चुका है. इसके अलावा 41 देशों के 960 नागरिकों को भी भारत ने वहां से बाहर निकाला.

 

यमन से भारत लाए लोगों में एक 3 दिन का नवजात भी शामिल है, इसे डॉक्टरों की देखरेख में इनक्यूबेटर में लाया गया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी.

 

भारतीयों को वहां से निकालने के अभियान की निगरानी के लिए जिबूती गए विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह ने बताया कि सना से लोगों को ले कर जा रहे विमान को बमबारी होने की वजह से रास्ता बदलना पड़ा. उन्होंने ट्वीट किया ‘‘शुरू में हमें अनुमति नहीं दी गई, फिर बमबारी की वजह से विमान को रूकना पड़ा और हमें रास्ता बदलना पड़ा.’’

 

विदेश मंत्रालय ने बताया कि बचाव अभियान के तहत 5,600 से अधिक लोगों को वहां से निकाल लिया गया है. मंत्रालय के अनुसार, सना से आज एयर इंडिया के तीन विशेष विमानों से 630 से अधिक लोगों को लाए जाने के साथ ही भारत ने वहां से लोगों को हटाने के लिए तीन अप्रैल से शुरू किया गया अपना हवाई अभियान को समाप्त कर दिया. भारत ने कल 140 नर्सों के समूह के आग्रह के बाद अभियान की अवधि एक दिन और बढ़ाने का फैसला किया था.

सिंह ने कहा कि जो लोग भारत आने के इच्छुक थे उन सभी को वहां से हटाया जा चुका है और हवाईअड्डे पर कोई भी शेष नहीं है. उन्होंने कहा ‘‘एक संतोषजनक दिन…’’

 

यमन के सबसे बड़े शहर सना से विमानों के जरिये हटाए जाने वाले भारतीयों की संख्या 2,900 से अधिक हो गई. इन लोगों को 18 विशेष उड़ानों के जरिये वहां से हटाया गया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: evacuation operation from Yemen is over
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017