'अब निजी कंपनियों पर है परमाणु समझौते को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी'

By: | Last Updated: Wednesday, 11 February 2015 3:01 AM
expectation from private companies to take the atomic deal ahead says america

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुम्बई: अमेरिका ने आज कहा कि भारत के साथ असैन्य परमाणु समझौते को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी अब निजी कंपनियों पर है. अमेरिका ने इसके साथ निजी कंपनियों को दोनों देशों की सरकारों से सभी आवश्यक मदद मुहैया कराने का भी वादा किया. परमाणु समझौते का मुद्दा पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान प्रमुखता से छाया रहा था.

 

भारत में नवनियुक्त अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा ने आज देर शाम यहां एशिया सोसाइटी की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘निजी कंपनियों को दिये गए भरोसे का आकलन करना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि वे विधिक माहौल के साथ ही अंतरराष्ट्रीय व्यवहारों को लेकर सहज हैं.’’

 

उन्होंने कहा कि दोनों देशों की सरकारें उन कंपनियों की मदद करेंगी जो पिछले महीने ओबामा की भारत यात्रा के दौरान हुए उस समझौते से उत्पन्न संभावनाओं से लाभ उठाना चाहती हैं जिससे कुछ वर्ष पहले हुए ऐतिहासिक असैन्य परमाणु समझौते को क्रियान्वित करने का मार्ग प्रशस्त हुआ हैं.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछले सितम्बर की वाशिंगटन यात्रा के बाद परमाणु साझेदारी पर गठित सम्पर्क समूह इन प्रयासों में कंपनियों की मदद करेगा. इस समूह ने ओबामा की यात्रा के दौरान सहमति बनाने के लिए मतभेदों को दूर करने में मदद की थी.

 

भारत और पाकिस्तान के बीच गत वर्ष विदेश सचिव स्तरीय वार्ता रद्द होने के बाद संबंधों में आये तनाव पर वर्मा ने कहा कि अमेरिका नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच रचनात्मक वार्ता बहाल करने के लिए दोनों देशों के साथ मिलकर काम करेगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: expectation from private companies to take the atomic deal ahead says america
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017