फैज़ाबाद के गुमनामी बाबा ही तो नहीं थे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस?

By: | Last Updated: Saturday, 18 April 2015 12:08 PM
Faizabad_Gumnami Baba

नई दिल्ली: फैज़ाबाद के गुमनामी बाबा ही तो नहीं थे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ? अगर वही थे तो क्यों छुपाया उन्होंने ये राज ? मामले की जांच के लिए तीन कमेटियां बनी , लेकिन अभी भी रहस्य बना हुआ है की क्या है गुमनामी बाबा का  सच , फैज़ाबाद के रामभवन में मौजूद तमाम सबूतों को क्यों झुठालाया जा रहा है.

 

इस घर के मालिक शक्ति सिंह के मुताबिक सुभाष चन्द्र बोस की मौत विमान दुर्घटना में नहीं हुयी. ताईवान की सरकार ऐसा शपथ पत्र भी दे चुकी है. अदालत के आदेश पर कई सबूत फैज़ाबाद के कोषागार में मौजूद हैं जो सच  के बहुत करीब ले जा सकतें हैं.

 

ज्यादातर लोग मानते हैं  विमान दुर्घटना में नेता जी मारे गए,लेकिन वहां से कोई ऐसा ब्लैक बॉक्स नहीं मिला. उनकी मौत पर रहस्य है ,लेकिन एक और रहस्य है जो उससे भी बड़ा है. जिसकी शुरुआत होती  अयोध्या के पश्चिमी कोने यानी फैजाबाद से , यहाँ के रामभवन के मालिक शक्ति सिंह बताते हैं साल 1983  में किराये पर रहने यहाँ एक बाबा आये.

 

जिनका नाम तो था भगवन, लेकिन तीन सालों तक उनका चेहरा कोई न देख सका. ख़ास  बात ये थी की कोलकाता से अक्सर मिलने वाले लोग आया जाय करते थे. लेकिन तेईस जनवरी यानि नेता जी के जन्म की तारीख में लोगों आमद बढ़ जाती,.उनके पास बंगाल से प्रकशित वहां के  भाषा के अख़बार और पात्रिकाएं आती.

 

शक्ति सिंह बताते हैं की बाबा खुद का नाम भगवन बताते थे , बोलते काम थे , लेकिन जितना बोलते पूरे तर्क और ज्ञान के साथ.शक्शियत ऐसी थी शक्ति सिंह माकन के मालिक होते हुए भी उस छोठी सी कोठारी में रहने वाले बाबा के किरायेदार हो चुके थे. शक्ति बताते हैं धीरे धीरे फैज़ाबाद और आस पड़ोस के लोगों ने गुमनांमी बाबा को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मानने लगे थे. 

 

शक्ति सिंह बताते हैं 16 सितम्बर 1985 को उनकी मौत हो गयी , जिनको कोलकाता से आये उनके शिस्यों ने यहाँ के गुप्तार घाट के पास अंतिम संस्कार कर दिया.  बाद में जब उनके कमरे की तलाशी ली गयी तो वहां मिले सामानों ने शक्ति सिंह के परिवार को पुख्ता कर दिया की गुमनामी बाबा ही सुबाष चन्द्र बोसे थे. शक्ति सिंह ने संस्कार स्थल पर बाद में एक समाधी बनायी.

 

कमरे की तलाशी में कई दुर्लभ फोटो मिली जिसमें नेताजी और उनके करीबियों की तस्वीरें थी ,नेताजी की रोलेक्स घडी जो जर्मनी में मिली थी. जापान की बनी ओमेगा रिस्ट वाच , उनके सात चश्मे ,ढेर सारा  बंगाली सहित्य और अखबार जो कलकत्ता से फैजाबाद  सिर्फ उनके लिए आते थे , सुभाष चन्द्र बोस से जुडी हर खबर की कटिंग , जिन  पर लिखी उनकी पंक्तियाँ , तमाम चिट्ठियां, टेलीग्राम , विदेशी साहित्य , डब किये कैसेट , ग्रामोंफोन,छोटा जर्मन टाइप राईटर. 

 

जिनकी बिना पर शक्ति सिंह के परिवार को यकीं हो गया की वो शख्सियत नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ही थे.  शक्ति बताते हैं इसकी जांच के लिए उन्होंने अदालत का दरवाजा खटखटाया तो दलात ने सारा सामान सरकारी कोषागार में जमा करा दिया.

 

तीन तीन कमेटियां इस मामले की जाँच के लिए बनायीं गयी , लेकिन उनकी जांच रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गयी जैसे सच सामने लाने की मनाही हो. दो साल  पहले ही इलाहबाद हाईकोर्ट ने उनके सामान को संग्रहालय में रखने और सच सामने लाने के लिए एक रिटायर जज की कमिटी बनाने का आदेश दिया था.  लेकिन न जाने क्यों अमल नहीं हुआ.  अभी भी फैज़ाबाद के लोग गुप्तार घाट की उनकी समाधि पर इस भरोसे से जाते हैं की गुमानमी बाबा ही सुभाष चन्द्र बोस थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Faizabad_Gumnami Baba
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक नहीं लगाई
योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से छेड़खानी
CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से...

नई दिलली: राजधानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में महिला से छेड़खानी का एक सनसनीखेज मामला सामने...

आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त
आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त

गुरुवार को एडीआर के एक कार्यक्रम में चुनाव आयुक्त ने कहा, जब चुनाव निष्पक्ष और साफ सुथरे तरीके...

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017