faridabad: 18 lakh rupee bill given to family by asian hospital फरीदाबाद: एशियन अस्पताल पर आरोप, मां और बच्ची की मौत के बाद थमाया 18 लाख का बिल

फरीदाबाद: एशियन अस्पताल पर आरोप, मां और बच्ची की मौत के बाद थमाया 18 लाख का बिल

पिता का आरोप है कि उसे अपनी बीमार बेटी से मिलने तक नहीं दिया गया. जब वह 5 जनवरी को आईसीयू में एडमिट श्वेता से मिलने गए तो उनकी बेटी बेसुध पड़ी हुई थी.

By: | Updated: 11 Jan 2018 08:39 AM
faridabad: 18 lakh rupee bill given-to-family-by-asian-hospital
फरीदाबाद: निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर लाखों रुपये वसूलने का खेल जारी है. ताजा मामला फरीदाबाद के एशियन हॉस्पिटल का है.  इस अस्पताल पर बुखार के इलाज के नाम पर 22 लाख रुपये वसूलने का आरोप लग रहा है. हॉस्पिटल में बुखार से पीड़ित एक गर्भवती महिला की 22 दिन के इलाज के दौरान मौत हो गई. डॉक्टर इलाज के दौरान ना तो उस महिला को बचा पाए और ना ही पेट में पल रही 7 महीने की बच्ची को.

डॉक्टरों ने शुरू में जमा कराए साढ़े तीन लाख रूपए

एशियन हॉस्पिटल ने बुखार से पीड़ित महिला का 22 दिन के इलाज के दौरान 18 लाख रुपये से भी ज्यादा का बिल उसके परिजनों को थमा दिया. अब परिजन अस्पताल के खिलाफ जांच की मांग कर रहे हैं. फरीदाबाद के गांव नचौली रहने वाले सीताराम द्वारा अपनी बेटी 20 साल की श्वेता को 13 दिसंबर को बुखार होने पर एशियन हॉस्पिटल में भर्ती कराया था. तीन चार दिन के इलाज के बाद डॉक्टरों ने बताया कि बच्चा महिला के पेट में मर गया है और ऑपरेशन करना पड़ेगा. डॉक्टरों ने शुरू में साढ़े तीन लाख रूपए जमा कराने को कहा.

जब तक पैसे जमा नहीं किए तब तक नहीं किया ऑपरेशन

मृतक श्वेता के पिता सीताराम का आरोप है कि डॉक्टर ने रुपया जमा होने के बाद ही ऑपरेशन करने की बात कही और जब तक पैसे जमा नहीं करा दिए गए तब तक उसका ऑपरेशन नहीं किया. जिसकी वजह से श्वेता के पेट में इंफेक्शन हो गया, ऑपरेशन के दौरान श्वेता के गर्भ में पल रही 7 महीने की बच्ची मृत पाई गई.

asian hospital 02

श्वेता की हालत बिगड़ने के बाद उसे आईसीयू में ले जाया गया. उपचार के दौरान लगातार श्वेता के पिता से पैसे जमा कराए जाते रहे. आखिर में कुल 18 लाख का बिल थमा दिया गया.

अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग

सीताराम का आरोप है कि उसे अपनी बीमार बेटी से मिलने तक नहीं दिया गया. जब वह 5 जनवरी को आईसीयू में एडमिट श्वेता से मिलने गए तो उनकी बेटी बेसुध पड़ी हुई थी. अस्पताल की तरफ से जब और पैसे की मांग की गई तो उन्होंने पैसे जमा करने से मना कर दिया. जिसके बाद कुछ ही देर में श्वेता को मृत घोषित कर दिया, लेकिन अस्पताल की सफाई से श्वेता के परिजन संतुष्ट नहीं है और अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: faridabad: 18 lakh rupee bill given-to-family-by-asian-hospital
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कठुआ गैंगरेप: छात्र प्रदर्शनों से परेशान जम्मू-कश्मीर सरकार ने कोचिंग सेंटर्स पर लगाई तीन महीने की पाबंदी