गांव में हुआ गजेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार, परिवार से CBI जांच की मांग की

By: | Last Updated: Thursday, 23 April 2015 1:16 AM
Farmer suicide: Police registers FIR

नई दिल्ली: दिल्ली के जंतर मंतर पर आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान खुदकुशी करने वाले किसान गजेंद्र का अंतिम संस्कार राजस्थान के दौसा में उनके गांव में किया गया. अंतिम संस्कार में हजारों लोग शामिल हुए.

 

गांव वालों ने गजेंद्र की मौत को खुदकुशी नहीं शहादत बताया. अंतिम संस्कार करते समय सभी लोगों ने गजेंद्र के लिए नारा दिया- ‘गजेंद्र का बलिदान, याद करेगा हिंदुस्तान’, ‘जय जवान, जय किसान’.

 

आज सुबह किसान गजेंद्र सिंह का शव दिल्ली से राजस्थान के दौसा के नांगल झामरवाड़ा गांव पहुंचा. शव पहुंचते ही परिवार ही नहीं पूरे गांव में मातम पसर गया. पिता और छोटे भाई की तबीयत बिगड़ गई. शव के पहुंचने से पहले दोनों डॉक्टर की निगरानी में रहे. परिवार के लोगों का रो-रोक कर बुरा हाल था. रिश्तेदार और दोस्त परिवार को संभालने में लगे थे.

 

किसान गजेंद्र के गांव में आज नेताओं का जमघट लगा था. राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, अर्जुन मेघवाल गांव गजेंद्र के गांव पहुंचे.

 

‘आप’ नेताओं से हो सकती है पूछताछ

किसान गजेंद्र सिंह के रिश्तेदारों और दोस्तों ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से पूरे मामले की सीसीआई जांच की मांग के साथ दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की है.

 

इम मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम गजेंद्र सिंह के घर पहुंची. सूत्रों के हवाले से खबर है कि दिल्ली पुलिस आम आदमी पार्टी के नेताओं से पूछताछ कर सकती है.

 

दिल्ली में राजनीति गरम

दूसरी तरफ, दिल्ली में गजेंद्र सिंह की खुदकुशी को लेकर दिल्ली में राजनीति का पारा चढ़ा हुआ है. यूथ कांग्रेस ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ उनके घर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया है. यहां पर युथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पोस्टर्स को जलाकर अपना विरोध जताया है.

 

किसान गजेंद्र की खुदकुशी मौत पर बीजेपी आज आईटीओ से दिल्ली सचिवालय तक विरोध प्रदर्शन कर रही है.

 

आपको बता दें कि गजेंद्र ने जब जंतर मंतर पर पेड़ से फांसी लगाकर जान दी थी उस समय आप की रैली चल रही थी. नेता भाषण दे रहे हैं और दिल्ली पुलिस को कोस रहे थे.

 

केजरीवाल के पोस्टर पर कालिख

इंडिया गेट के आसपास दिल्ली सरकार के विज्ञापन को कालिख पोतकर निशाना बनाया गया. अरविंद केजरीवाल की तस्वीर पर विरोधियों ने कालिख लगाई है. दिल्ली में आम आदमी सेना ने केजरीवाल के पोस्टरों पर कालिख पोतकर हत्यारा लिखा है. पढें- गजेंद्र की खुदकुशी को लेकर घिरे अरविंद केजरीवाल

 

दिल्ली पुलिस मे रैली करने से मना किया था

अब बड़ा खुलासा ये हुआ है कि जिस जंतर-मंतर पर आप ने रैली की थी वहां रैली करने से ही दिल्ली पुलिस ने मना किया था. दिल्ली पुलिस ने आप को दो बार चिट्ठी भेजकर रैली रामलीला मैदान में करने को कहा था लेकिन आप जंतर मंतर पर रैली पर अड़ी रही. डीसीपी की ओर से 17 और 21 अप्रैल को चिट्ठियां भेजी गई थी.

 

‘आप’ ने जंतर मंतर पर रैली क्यों की?

 

अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज

दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है और मामले की जांच अपराध शाखा को सौंप दी गई है.

 

इस बीच, पुलिस ने कहा है कि आखिरी वक्त तक रैली के लिए कोई लिखित अनुमति नहीं दी गई थी और उन्होंने आयोजकों से अनुरोध किया था कि वे रैली की जगह जंतर-मंतर से बदलकर रामलीला मैदान कर लें.

 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि अंत तक रैली की जगह बदलने को लेकर बातचीत जारी थी पर आयोजक संसद तक मार्च करने और संसद का घेराव करने पर अड़े हुए थे.

इस मामले में आईपीसी की धारा 186, 306, 304-ए के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने बताया, ‘‘हमने आईपीसी की धारा 186, 306 और 304-ए के तहत संसद मार्ग पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की है और मामले की जांच अपराध शाखा को सौंपी गई है.’

 

500 पुलिसवालों की मौजूदगी में लगाई फांसी

देश की संसद से महज एक किलोमीटर दूर जंतर मंतर पर बुधवार को किसान गजेंद्र सिंह खुदकुशी की जहां करीब पांच हजार लोग मौजूद थे और पांच सौ पुलिसवाले ड्यूटी पर थे.

 

जिस पेड़ के ऊपर एक किसान की जान गई उस पेड़ के पास बारह से पंद्रह पुलिस वाले थे. जिस पेड़ पर एक जिंदगी खत्म हो गई उस पेड़ के सामने मंच पर आम आदमी पार्टी के तमाम बड़े नेता मौजूद थे. दिल्ली सरकार की कैबिनेट. पार्टी के सांसद और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के बीच राजस्थान से आए किसान गजेंद्र ने गले में पड़े गमछे से लटककर जान दे दी.

पेड़ और मंच की दूरी मुश्किल से पचास कदम की थी और पेड़ पर करीब 35 से 40 फीट ऊंचाई पर गजेंद्र लटकने की कोशिश कर रहा था. पुलिस ने फायर ब्रिगेड को मैसेज किया था कि पेड़ पर एक शख्स चढ़ा है और उसे उतारें लेकिन फायर ब्रिगेड आई ही नहीं.

 

करीब पंद्रह मिनट तक पेड़ पर गजेंद्र चढ़ा रहा और फिर उसने खुद को फांसी लगा ली. एक मिनट के भीतर ही गजेंद्र की सांसें उखड़ गई और उसने दम तोड़ दिया.

 

किसान गजेंद्र का शव अंतिम संस्कार के लिए पहुंचा गांव 

 

 

विधानसभा का चुनाव लड़ चुके थे गजेंद्र!

गजेंद्र सिंह कल्याणवत मूल रूप से दौसा जिले के बांदीकुई विधानसभा इलाके के रहने वाले थे. वो बीजेपी के स्थानीय कार्यक्रमों में भागीदारी करते रहते थे और चुनाव लड़ने की ख्वाइश भी रखते थे. 2003 में जब बीजेपी की तरफ से गजेंद्र सिंह को टिकट नहीं मिला, तो उन्होंने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया.

 

 

हालांकि 2013 में उन्होंने विधानसभा टिकट मिलने की आस में कांग्रेस का दामन थाम लिया. लेकिन जब कांग्रेस में गजेंद्र सिंह की अनदेखी की गई, तो वो आम आदमी पार्टी के करीब आ गए.

 

बताया जाता है कि गजेंद्र सिंह घरेलू कलह से जूझ रहे थे और घर से निकाल दिए गए थे. गजेंद्र ने अपने सुसाइड नोट में भी इस बात की तरफ इशारा किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि मेरे पिता ने मुझे घर से निकाल दिया है.

 

गजेंद्र सिंह जयपुरिया साफे का कारोबार करते थे. उन्होंने देश-दुनिया के नामचीन लोगों को अपने हाथों से साफा पहनाया था, जिनमें बिल क्लिंटन, नेपाल के राष्ट्रपति परमानंद, मुरली मनोहर जोशी, अटल बिहारी वाजपेयी जैसी हस्तियां शामिल हैं. गजेंद्र सिंह इस कला में इतनी महारत रखते थे कि वो एक मिनट में 12 लोगों के सिर पर पगड़ी बांध देते थे. इसके अलावा गजेंद्र 33 स्टाइल की पगडियां बांधने में भी निपुण थे. अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए उन्होंने बाकायदा वेबसाइट भी बनाई थी, तो फेसबुक जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी वो सक्रिय थे.

 

यह भी पढ़ें-

केजरीवाल का झूठ: जब भाषण दे रहे थे, तब मर चुके किसान को जिंदा बता रहे थे 

‘केजरीवाल के पेड़ पर चढ़ने’ वाले विवादित बयान पर आशुतोष ने मांगी माफी

15 मिनट पेड़ पर रहे गजेंद्र की सांसे 1 मिनट में उखड़ गई

केजरीवाल की रैली में किसान ने दी फांसी लगाकर जान, आप नेता भाषण देते रहे 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Farmer suicide: Police registers FIR
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड क्रॉस
नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड...

जिनेवा: आईएफआरसी यानी   ‘इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज’ ने...

‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार
‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार

बीजिंग:  चीन ने शुक्रवार को जापान को फटकार लगाते हुए कहा कि वह चीन, भारत सीमा विवाद पर ‘बिना...

यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड
यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड

मथुरा: योगी सरकार ने साढ़े 7 हजार किसानों को बड़ी राहत देते हुए उनका कर्जमाफ किया है. सीएम योगी...

JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरु, शरद यादव पर बड़ा फैसला ले सकते हैं नीतीश
JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरु, शरद यादव पर बड़ा फैसला ले सकते हैं...

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में (जनता दल यूनाइटेड) जेडीयू की...

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए
यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. यहां पर कुछ...

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017