फसल की बर्बादी नहीं झेल सकने वाले छह किसानों की मौत

By: | Last Updated: Friday, 10 April 2015 3:01 AM

बुलंदशहर: हाल ही में बारिश और ओलावृष्टि से अपनी फसलों की तबाही का संभवत: दुख बर्दाश्त नहीं करने वाले छह किसानों की मौत हो गई हालांकि प्रशासन ने इनकी मौत प्राकृतिक तरीके से होने का दावा किया है.

 

पहले मामले में अनूपशहर तहसील के दुगरिया गांव में 72 साल के मंगू सिंह की मौत हो गयी, लेकिन अनूपशहर के एसडीएम अरूण कुमार यादव ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर सिंह की मौत का कारण बड़ी उम्र बताया.

 

इसी प्रकार सदर तहसील के तहत ख्वाजापुर गांव के 42 वर्षीय श्याम सिंह की मौत को सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट लालता प्रसाद शाक्य ने प्राकृतिक मौत बताया है. शाक्य ने हालांकि इस बात पर सहमति जतायी कि 50 फीसदी फसल बारिश के कारण क्षतिग्रस्त हुई है.

 

बाकी चार मामलों में अंतिम संस्कार से पूर्व पोस्टमार्टम नहीं कराया गया लेकिन प्रशासन ने कहा कि मौत के कारणों की जांच की जाएगी. फसल बर्बादी का नुकसान नहीं झेल पाने के कारण विजय नांगलिया गांव के 51 वर्षीय नन्नू सिंह और डिबाई तहसील के तहत पेसरी गांव के 41 वर्षीय प्रेम शर्मा की भी मौत हो गयी.

 

लेकिन गांवों का दौरा करने के बाद डिबाई के तहसीलदार विजय शर्मा ने कहा कि मुआवजे की सिफारिश से पूर्व मौत के कारणों की जांच की जाएगी. सिकंदराबाद तहसील के सावली गांव के 55 वर्षीय लेखराज और औरंगाबाद के 28 वर्षीय अजय कुमार की मंगलवार की सुबह मौत हो गयी. उसने सरकारी बैंक से तीन लाख रूपये का रिण ले रखा था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: farmers commit suicide after their crops get destroyed
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ????? crop farmers suicide
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017