ABP News की खबर का असर: यूपी सरकार को आया होश, मुआवजे के नाम पर दिए गए 60 रुपये, 75 रुपये के चेक बदलने का फैसला

By: | Last Updated: Monday, 13 April 2015 6:26 AM
farmers_check

नई दिल्ली: बेमौसम बारिश से फसलें बर्बाद हो गईं, किसान तबाह हो गए, किसी ने जान दी तो सदमे से किसी की जान चली गई. किसानों की तबाही का सवाल देश का मुद्दा बन गया है लेकिन यूपी की अखिलेश यादव सरकार किसानों की मौत के नाम पर मजाक कर रही है. इसी के साथ एबीपी न्यूज़ की खबर का असर भी हुआ है, फैजाबाद जिले में नया कैंप लगाया गया है जहां किसानों के मुआवजे के चेक बदलने शुरु हो गए हैं. इसके साथ ही फैजाबाद में लेखपाल को भी सस्पेंड कर दिया गया है.

 

अखिलेश सरकार पहले तो ये मान नहीं रही है कि बेमौसम बारिश से किसी किसान की मौत हुई है. यूपी सरकार किसानों से हमदर्दी के नाम पर मुआवजे का चेक काट रही है लेकिन चेक पर लिखी गई रकम किसानों के जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है.

यूपी के फैजाबाद में किसानों के साथ प्रशासन का मजाक, बांटे 60-75 रुपए के चेक 

मुआवजे के नाम पर किसी को 75 रुपये का चेक तो किसी को 230 का चेक मिला है. किसानों को उनकी बर्बाद फसल के बदले मुआवजे के रूप में महज 75 ,100 ,125 ,150 और 230 रुपए के चेक दिए गए हैं. अब किसान यह समझ नहीं पा रहे कि इन पैसों से वह करें क्या? सबसे बड़ा सवाल भी है कि यह मुआवजा है या किसानो के साथ मजाक.

ABP News की खबर का असर, फैजाबाद में लेखपाल सस्पेंड 

मरे हुए किसानों को भी कब्रिस्तान के नाम पर जारी किए चेक

किसानों के साथ सबसे बड़ा मजाक यह है कि जहां ज़िंदा किसान मुआवजे और राहत के लिए तरस रहे हैं, तो दूसरी ओर जिन लोगों को मरे हुए सालों हो गए उन्हें भी राहत का चेक जारी कर दिया गया है.

उत्तर प्रदेश के फैजाबाद जिले में ही अब तक दर्जनों ऐसे लोगों को फसल बर्बाद होने के राहत के नाम पर प्रशासन ने राहत के रूप में चेक बांटे हैं जो सालों पहले इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं. राबिया ,जनकदुलारी ,अलीहसन,कालीप्रसाद ,सुन्दरलाल ,इश्तियाक ,कम्रुनिशा शिवदुलारी जैसे कितने ही नाम हैं जो एक ही गावं के हैं और इनके मरे हुए सालों बीत चुके हैं. ज़िंदा किसानों और मुर्दा किसानों में समानता है तो केवल इस बात की कि उन्हें भी मुआवजे में 100 रुपए ही मिले हैं तो उन जमीनों पर भी चेक जारी किये गए हैं जहां मुर्दा लोगों को दफनाया जाता है. ऐसे आठ लोगों की अब तक पड़ताल हो चुकी है.

 

अब क्षेत्र के एसडीएम पूरे मामले पर जांच की बात कह रहे हैं. जब ग्रामीण इसकी शिकायत करते हैं तो वह कैमरे पर ही डाट देते हैं.

 

UP सरकार ने मरे हुए किसानों के नाम भी काट दिए मुआवजे का चेक

 

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष किसानों से सहानभूति दर्शाने की पूरी कोशिश करते हुए उनकी लड़ाई आगे तक लड़ने की बात कह सियासी दांव भी चल देते हैं.

इस मामले को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने आज फैजाबाद के उन गावों में पहुँच गए जहां राहत देने के नाम पर यह पूरा गड़बड़ झाला हुआ है.

ABP News की खबर का असर, किसानों के मुआवजे के चेक बदलना शुरु 

उन्होंने ना सिर्फ वहां के एसडीएम को तलब कर फटकार लगाईं बल्कि किसानों की लड़ाई लड़ने का एलान भी कर दिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: farmers_check
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017