पाकिस्तान में अपने कमरे में मंदिर बना रोज मन्नत मांगती थी गीता

By: | Last Updated: Monday, 26 October 2015 5:07 AM

नई दिल्ली : अपने वतन लौटने वाली गीता पिछले कई सालों से भगवान के आगे मुराद मांग रही थी. वो कराची में ईधी फाउंडेशन के एक कमरे में अपने देवी देवताओं का मंदिर बनाकर अपने भगवान से अपने वतन, अपने घर लौटने की फरियाद करती रही. इतने सालों बाद एक दिन अचानक गीता की फरियाद कुबूल हो गई. उसके भारत आने और अपने परिवार से मिलने का रास्ता साफ हुआ.

 

पढ़ें : …तो इस तस्वीर ने मिलाया गीता को उसके परिवार से

 

कराची में ईधी फाउंडेशन जिसने इतने सालों तक गीता का ख्याल रखा, उसे प्यार दिया और अब एक बेटी की तरह उसकी विदाई भी की. गीता के पास एक लॉकेट है जिस पर गीता लिखा है इसके अलावा गीता के पास एक खूबसूरत कढ़ाई वाला लहंगा है जिसे गीता दीवाली पर पहनने वाली है.

 

पढ़ें : गीता के गांव में जश्न, परिवार के लिए सबसे बड़ी दिवाली

 

आपको बता दें गीता पाकिस्तान से अकेले नहीं आएगी उसके साथ ईधी फाउंडेशन के सदस्य भी आ रहे हैं. जो आठ दिन तक भारत में रुकेंगे और गीता महतो परिवार की ही बच्ची है ये तसल्ली होने के बाद उसे यहां छोडकर जाएंगे.

 

पढ़ें : …तो क्या गीता की इस इच्छा को पूरा करेंगे सलमान

 

भारत पहुंचते ही गीता और महतो परिवार के डीएनए का मिलान किया जाएगा. नतीजा सही निकला तो गीता पटना से 370 किमी दूर सहरसा जिले के अपने छोटे से गांव कबीरा धाप पहुंच जाएगी. गीता के पिता कहना है कि वो डीएनए टेस्ट के लिए तैयार हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Feeta performs pooja in Pakistan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Delhi geeta Pakistan temple Welcome Geeta
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017