पहली बार पाकिस्तानी NSA ने भारत को दी आतंकी घुसपैठ की जानकारी

By: | Last Updated: Sunday, 6 March 2016 5:18 PM
first time pakistan nsa share information to india

नई दिल्ली: पहली बार पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने भारत को आतंकी घुसपैठ की जानकारी दी. लश्कर के आठ से दस आतंकी गुजरात के तटीय इलाके में हमला कर सकते हैं. आईबी ने अलर्ट जारी किया.

गुजरात के तटीय क्षेत्रों में आतंकी हमले को लेकर आइबी ने अलर्ट जारी किया. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान के एनएसए नासिर अली जनजुवा ने भारत के एनएसए को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि लश्कर के 8 से 10 आतंकी तटीय क्षेत्र में घुसपैठ कर सकते हैं. ऐसा पहली बार हुआ है कि दोनों देशों के बीच एनएसए स्तर पर आतंकी घुसपैठ की आशंका को लेकर जानकारी का आदान प्रदान हुआ है.

आतंकवादी हमले को लेकर ‘परेशान करने वाली सूचनाएं’: सेना कमांडर
पठानकोट : सेना के एक शीर्ष कमांडर ने आज यहां खुलासा किया कि भारत में शिवरात्रि त्योहार एवं संसद के जारी सत्र के दौरान एक आतंकवादी हमले के बारे में कुछ ‘‘परेशान करने वाली’’ सूचनाएं हैं जिसका उद्देश्य ‘‘अधिकतम मीडिया प्रभाव’’ उत्पन्न करना है. सैन्य कमांडर ने साथ ही भरोसा दिया कि उससे मुकाबले के लिए कदम उठाये गए हैं.

सेना के पश्चिमी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे सिंह ने यहां एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘आज कुछ सुरक्षा संबंधी समस्याएं हैं. आपको पता है, महाशिवरात्रि आ रही है. ऐसी सूचनाएं हैं जो परेशान करने वाली हैं लेकिन इसके बावजूद अतिरिक्त ध्यान दिया गया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘देखिये न तो विस्तार से बताये जाने की जरूरत है और न ही ये उचित है. इन घटनाओं की योजना अधिकतम मीडिया प्रभाव उत्पन्न करने के लिए बनायी जाती हैं और मीडिया प्रभाव उस समय होता है जब संसद का सत्र चल रहा हो, जब त्योहार हो, इस समय दोनों हैं. इसी कारण से सूचनाएं हैं लेकिन हमने उसके खिलाफ कदम उठाये हैं. मैं आपको उसका भरोसा दिलाता हूं.’’ पश्चिमी कमान के जनरल आफिसर कमांडिंग इन चीफ :जीओसी इन चीफ: ने कहा कि ऐसी ‘‘शातिर’’ गतिविधियां से एक महान देश को भयभीत नहीं किया जा सकता क्योंकि भारतीय सेना किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने कहा, ‘‘जिस किसी के भी ये शातिर इरादें हैं हम उससे कहना चाहते हैं कि हमें किसी चीज से डराया नहीं जा सकता है, एक पठानकोट, एक अरनिया, एक जंगलोत, एक और सांबा, हमें डरा नहीं सकता. ये देश बहुत महान है. भारतीय सेना पूर्ण संगठित है. हम प्रत्येक स्थिति से निपट लेंगे.’’

इस सू़चना के बारे में पूछे जाने पर कि कुछ पाकिस्तान आधारित आतंकवादी कमांडर अपने कश्मीरी समकक्षों के साथ सम्पर्क में है, उन्होंने कहा, ‘‘कुछ सूचनाएं हैं. कुछ संकेत हैं. मुझे आपको यही कहना चाहिए कि हम उसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं.’’ पाकिस्तान से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास जम्मू में एक सुरंग का पता चलने के बारे में उन्होंने कहा कि इससे एक बड़ा आतंकवादी हमला टालने में मदद मिली.

उन्होंने कहा कि सभी सीमा क्षेत्रों में एक सर्वेक्षण किया जाएगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं ऐसी अन्य कोई सुरंग तो नहीं. इसके लिए गृह मंत्रालय एवं अन्य सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों की टीम गठित की गई है.

पठानकोट आतंकवादी हमले की जांच के लिए पाकिस्तान की एक जांच टीम की प्रस्तावित भारत यात्रा के बारे में लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने कहा कि कदम उठाने की जरूरत है ताकि टीम महत्वपूर्ण सूचना एकत्रित कर पाये.

पाकिस्तान द्वारा टी.ट्वेंटी मैच के फाइनल के लिए सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा के लिए एक टीम भेजे जाने के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘एक सैनिक के तौर पर मैं इन क्षेत्रों में नहीं जाता और इसमें से मैं केवल उन चीजों को देखता हूं जो मेरे लिए प्रासंगिक हैं. मेरे लिए यह प्रासंगिक है कि प्रत्येक ऐसी घटना में मुझे सुरक्षा चुनौतियों का विश्लेषण करना होगा.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: first time pakistan nsa share information to india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017