भूकम्प के झटकों से दहला यूपी: पांच लोगों की मौत

By: | Last Updated: Saturday, 25 April 2015 10:13 AM
five death in UP earthquake

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनउ समेत राज्य के अधिकांश हिस्सों में आज भूकम्प के झटके महसूस किये गये. जलजले के कारण छत तथा दीवार गिरने की घटनाओं में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी तथा 10 अन्य घायल हो गये.

 

प्रदेश के लगभग सभी जिलों में कई बार आये भूकम्प की वजह से समूचे प्रदेश में भय और अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया और घबराये लोग अपने-अपने घरों, दफ्तरों तथा दुकानों से बाहर निकल आये. भूकम्प से कई मकानों तथा इमारतों में दरार आ गयी और टेलीफोन, इंटरनेट समेत दूरसंचार सेवाओं पर असर पड़ा.

 

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वरिष्ठ अधिकारियों को भूकम्प से हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश देने के साथ-साथ इसके कारण हुए हादसों में घायल लोगों को 20-20 हजार रपये सहायता देने का एलान किया है.

 

मौसम विभाग के सूत्रों के मुताबिक लखनउ में पूर्वाहन 11 बजकर 45 मिनट पर करीब 30 सेकेंड और फिर करीब 12 बजकर 15 मिनट पर लगभग 10 सेकेंड तक भूकम्प के झटके महसूस किये गये. भूकम्प का केन्द्र नेपाल में बताया जाता है.

 

बाराबंकी से पुलिस थाना प्रभारी रविन्दर सिंह के हवाले से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक मोहम्मदपुर खाला थाना क्षेत्र के वसंतापुर गांव में भूकम्प के दौरान उदल यादव नामक व्यक्ति के मकान की निर्माणाधीन दीवार ढहने से मलबे में दबकर एक महिला तथा दो बच्चों की मौत हो गयी. इस हादसे में आठ अन्य लोग भी घायल हुए हैं जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

 

गोरखपुर से थानाध्यक्ष जयवर्धन सिंह के हवाले से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक गुलहरिया थाना क्षेत्र के ठाकुरपुर में भूकम्प के कारण दीवार गिरने से ढाई साल के एक बच्चे की मृत्यु हो गयी. जलजले से शहर की अनेक पुरानी इमारतों में बड़ी दरारें आ गयी. धर्मशाला बाजार मुहल्ले में एक पुरानी इमारत काफी क्षतिग्रस्त भी हो गयी.

 

संतकबीर नगर से थाना प्रभारी दिनेश यादव के हवाले से प्राप्त खबर के मुताबिक मेहदावल थाना क्षेत्र के पुरवा गांव में भूकम्प से कच्चा मकान ढहने से मलबे में दबकर खुशबू :आठ: नामक लड़की की मौत हो गयी तथा दो अन्य लोग घायल हो गये. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भूकम्प की सूचना मिलने पर स्कूलों में तत्काल छुट्टी करने का आदेश दे दिये. इसके अलावा उन्होंने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के अलावा सभी जिलाधिकारियों और जिला पुलिस प्रमुखों को भूकम्प से हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश भी दिये.

 

मुख्यमंत्री ने भूकम्पजनित हादसों में घायल लोगों को 20-20 हजार रपये की सहायता देने का एलान करते हुए उनके मुफ्त इलाज के निर्देश दिये हैं.

 

लखनउ के अलावा प्रदेश के फिरोजाबाद, प्रतापगढ़, हरदोई, बलरामपुर, जालौन, नोएडा, बलिया, सीतापुर, फर्रखाबाद, अमेठी, मैनपुरी, गाजियाबाद, हाथरस, गोरखपुर, वाराणसी, सुलतानपुर, रायबरेली समेत अनेक जिलों में भूकम्प के झटके महसूस किये गये. इनमें से अनेक स्थानों पर भूकम्प के कारण इमारतों में दरारें पड़ गयीं.

 

जलजले से घबराये लोग अपने-अपने घरों, दफ्तरों और प्रतिष्ठानों से बाहर निकल आये और सड़कों पर जमा हो गये, जिससे ना सिर्फ यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई, बल्कि मोबाइल, इंटरनेट तथा लैंडलाइन टेलीफोन समेत तमाम दूरसंचार सेवाओं पर भी असर पड़ा.

 

केन्द्रीय मौसम विभाग के मुताबिक पूर्व और उत्तर भारत के विभिन्न हिस्से जबरदस्त भूकम्प से हिल उठे जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7. 5 मापी गयी है और इसका केंद्र नेपाल में स्थित था.

 

भूकम्प के झटके दिल्ली, बिहार, झारखण्ड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल तथा पंजाब में भी महसूस किये गये.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: five death in UP earthquake
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Earthquake UP
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017