इनसे बचो तो जीतोगे कार्डिफ

By: | Last Updated: Wednesday, 27 August 2014 3:46 AM

दूसरा वनडे इंग्लैंड के कार्डिफ में है. लेकिन इस जीत के लिए टीम इंडिया के सामने कई मुसीबत हैं जिनसे पार पाना ही होगा.

 

1. सलामी बल्लेबाजी सुधारो

भारतीय पारी शुरू होते ही पहली समस्या ओपनिंग की आ जाती है. इंग्लैड की इस वर्तमान सीरीज में ही नहीं बल्कि  लंबे वक्त से ओपनिंग बड़ी समस्या बनी हुई है. सहवाग-गंभीर की जोड़ी के जाने के बाद भारत को कोई पक्का ओपनर नहीं मिला है. धोनी वनडे में लगातार रोहित शर्मा और शिखर धवन पर भरोसा दिखा रहे हैं लेकिन रोहित और शिखर दोनों ही टेस्ट में फेल रहे.

 

वनडे अलग खेल हैं. लेकिन 2013 में वेस्टइंडीज के भारत दौरे के बाद से वनडे में भी दोनों की पार्टनरशिप फेल रही है. दस वनडे मैचों में  23.6 की औसत से दोनों के बीच 236 रन की पार्टनरशिप हुई है. इन दोनों की पार्टनरशिप सर्वाधिक 64 रन की रही है जो बेहद चिंता की बात है. इंग्लैंड दौरे से पहले हुए विदेशी दौरे में न्यूजीलैंड दौरे पर शिखर धवन 4 मैचों में 81 रन बना पाए थे और उनकी औसत 20.25 की थी जबकि रोहित शर्मा ने 5 मैच में 145 रन बनाए थे 29 की औसत से.

 

2. लंबी पारी कौन खेलेगा? 

कोई चमत्कारी पारी खेल कर मैच बचा लेगा. ऐसा सोचना दरअसल क्रिकेट को कम करके आंकना है. यहां खेल पार्टनरशिप में होता है और उसके लिए हर किसी को जिम्मेदारी के साथ आखिर तक मैच में टिकना जरूरी है. लेकिन विदेशी दौरों पर लगातार भारतीय खिलाड़ी ऐसा करने में नाकाम रहे हैं. विराट कोहली से उम्मीद है, रैना का रिकॉर्ड इंग्लैंड में खराब नहीं है, वो 11 अर्धशतक लगा चुके हैं और धोनी ने तो टेस्ट मैचों में भी जिम्मेदारी दिखाई थी. अब वनडे में सभी खिलाड़ियों को जिम्मेदारी लेकर खेलना होगा. विकेट फेंककर आउट होने से बचेंगें तो जीतेंगे.

 

 

3. प्लीज! फिल्डिंग में ‘पहले आप’ ना करें

टेस्ट में हारने की बड़ी वजह थी खिलाड़ियों की खराब फिल्डिंग. इसके मुखिया खुद महेंद्र सिंह धोनी ही थे. कई गेंदों पर धोनी ‘पहले आप’ करते नजर आए और नतीजे में फर्स्ट स्लिप पर खड़े खिलाड़ी ने भी यही रवैया अपनाया. धोनी झुकने से बचते नजर आए. बॉल उनके पास से निकल गई. ऐसे में धोनी को फिर से चुस्त बनना होगा या फिर संजू सैमसन को मौका देना होगा जो विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर शामिल किए गए हैं.

 

सबसे बडी समस्या स्लिप पर फिल्डिंग ठीक करने की होनी चाहिए. मैच प्रैक्टिस में स्लिप पर जमकर प्रैक्टिस भी कराई गई. लेकिन असल परीक्षा तो मैदान पर होगी.

 

4. तेज गेंदबाजों पर भरोसा

उमेश यादव ने ‘अंगूठा तोड यॉर्कर’ की चेतावनी दी है. ये डराने की कला भी हो सकती है लेकिन भारतीय तेज गेंदबाज अगर इंग्लैंड की पिचों पर धार नहीं दिखा सकते तो न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले विश्वकप के लिए कोई भी उम्मीद करना बेमानी है. हमें अपने सीमर्स पर भरोसे के साथ ही मैदान पर उतरना होगा.

 

5. विवादों को पीछे रखिए

टेस्ट सीरीज में सबसे बड़ी दिक्कत बिना बात के विवाद में पड़ना था. जाडेजा-एंडरसन मामले में धोनी मैदान का जवाब मैदान में देने से चूक गए. इस बार भी डंकन फ्लैचर के मुद्दे पर धोनी-बीसीसीआई के साथ टकराव की स्थिति में नजर आए. लेकिन ये भी तय है कि विवादों को पीछे रखे बिना खेल पर फोकस करना मुश्किल है.

 

खेल का सीधा उसूल है कि जीतने के लिए तैयारी करो और मैदान पर अपना सबसे अच्छा खेल खेलो. टेस्ट में हम ऐसा करने से चूक गए लेकिन वनडे के हम मौजूदा शहंशाह हैं. अगर अब भी नहीं जागे तो वनडे शहंशाह के ताज को बचाए रखना मुश्किल साबित होगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: five things Indian cricket team needs to do for winning second one day match
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017