चारा घोटाला: लालू यादव के लिए कल थी 'कयामत की रात', आज सीबीआई कोर्ट सुनाएगी फैसला

चारा घोटाला: लालू यादव के लिए कल थी 'कयामत की रात', आज सीबीआई कोर्ट सुनाएगी फैसला

लालू यादव के वकील के मुताबिक सीबीआई ने पूरे मामले में अधूरी जांच की है और सिर्फ लालू यादव को फंसाने के लिए साजिश की है.

By: | Updated: 23 Dec 2017 05:21 AM
Fodder Scam Case Verdict Tomorrow, Lalu Prasad Heads to Ranchi

नई दिल्ली: लालू प्रसाद यादव के लिए साल 2017 बिल्कुल भी बढ़िया नहीं रहा. इसी साल लालू यादव पर IRCTC होटल घूसकांड को लेकर कार्रवाई हुई, जिसके चलते पटना में बन रहे उनके मॉल की जमीन तक जब्त हो गई. इसी साल बिहार की सत्ता से आरजेडी की विदाई हो गई.


अब 2017 खत्म होते-होते उनके सामने पुराने चारा घोटाले का जिन्न भी सामने आ गया है. रांची की विशेष सीबीआई अदालत चारा घोटाले से जुड़े एक और केस में आज लालू यादव और उनके करीबी रहे जगन्नाथ मिश्र पर फैसला सुनाएगी.


क्या है बिहार का चारा घोटाला?
चारा घोटाला 1990 से शुरू हुआ था, तब लालू यादव बिहार के मुख्यमंत्री थे. बिहार के पशुपालन विभाग में फर्जी बिल देकर राज्य के कई जिलों के कोषागार से लाखों रुपये निकालने का खेल चल रहा था. कई सालों तक करोड़ों की रकम अधिकारियों, ठेकेदारों और नेताओं की मिलीभगत से फर्जी तरीके से निकाले गए. मामला 70-80 लाख रुपये से शुरू हुआ था और 900 करोड़ रुपये तक जा पहुंचा. अलग-अलग जिलों में धांधली के लिए अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए गए. सीबीआई ने भी हर मामले के लिए अलग-अलग चार्जशीट दाखिल की.


चारा घोटाले में कुल 6 केस हैं. जिनमें से एक केस में 2013 में लालू यादव को 5 साल की सजा हो चुकी है, जिसके कारण वो चुनावी राजनीति से ही दूर हो गए. उस मामले में लालू यादव फिलहाल जमानत पर बाहर हैं. लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाले से जुड़े सभी मामलों की सुनवाई एक साथ करने की अपील की थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज करते हुए हर केस का ट्रायल अलग-अलग चलाने का आदेश दिया था .


किस मामले में फैसला आने वाला है?
जिस मामले में फैसला आने वाला है, वो है देवघर कोषागार से 85 लाख रुपये की अवैध निकासी का. इस मामले में लालू यादव और जगन्नाथ मिश्र समेत कुल 22 आरोपी हैं. रांची की विशेष सीबीआई अदालत में सुनवाई पूरी हो चुकी है अब फैसला सुनाया जाना है.


चारा घोटाले में सबूतों और साक्ष्यों को सामने लाने वाले याचिकाकर्ता सरयू राय के मुताबिक लालू यादव को भी ये पता नहीं होगा कि चारा घोटाला इतना बड़ा रूप ले लेगा कि उन्हें सजा हो जाएगी. सरयू राय मौजूदा समय में झारखंड में मंत्री हैं. याचिकाकर्ता और नीतीश कुमार के करीबी जेडीयू नेता ललन सिंह के मुताबिक लालू यादव और जगन्नाथ मिश्र इस मामले में बराबर के दोषी हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Fodder Scam Case Verdict Tomorrow, Lalu Prasad Heads to Ranchi
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बिहार: औरंगाबाद के डीएम के खिलाफ CBI ने दर्ज किया भ्रष्टाचार का मामला