FULL INFORMATION: कन्हैया के छूटने का रास्ता साफ?

By: | Last Updated: Wednesday, 17 February 2016 8:08 PM
FULL INFORMATION: delhi police to not oppose kanhaiya bail!

नई दिल्ली: जेएनयू यानी जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में देश विरोधी नारों के विवाद में आज अदालत के बाहर वकीलों की गुंडागर्दी दिखी. देशद्रोह के आरोपी कन्हैया पर हमला तक कर दिया गया. हालात इतने बिगड़ गए कि सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ा. सुप्रीम कोर्ट के वकीलों की टीम के सदस्य राजीव धवन को बहन की गाली दी गई. इन सबके बीच पटियाला हाउस कोर्ट ने कन्हैया को 2 मार्च तक जेल भेज दिया है और पुलिस ने कहा है कि वो उसकी जमानत का विरोध नहीं करेगी.

ये वो तस्वीरें हैं जिन्होंने देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट को भी हिला कर रख दिया. पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर देशद्रोह के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया पर हमला हुआ. भारत माता की जय के नारे लगाते और तिरंगा लिए वकील दूसरों वकीलों से भिड़ गए. पत्रकारों पर पत्थर फेंके गए. राजनीतिक कार्यकर्ता को पीटा गया.

सुप्रीम कोर्ट के जज चेलामेश्वर ने पुलिस कमिश्नर बी एस बस्सी से बात की और पूछा ये कोर्ट में ये क्य़ा हो रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने पटियाला हाउस कोर्ट में हालात का जायजा लेने के लिए छह बड़े वकीलों का दल भेजा. कपिल सिब्बल, राजीव धवन, दुष्यंत दवे, एडीएन राव, अजीत सिन्हा, हरिन रावल. जैसे वकीलों ने फौरन पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचकर हालात का जायजा लिया. वकील राजीव धवन ने कोर्ट को बताया.

पटियाला हाउस कोर्ट में हालात बेहद खराब थे, डर का माहौल था, हमसे भी बदसलूकी हुई गाली दी गई, रेत फेंकी गई धक्का दिया गया किसी तरह पुलिस ने हमें बचाया. कन्हैया को मारा गया. कोर्ट के अंदर भी एक काले चश्मे वाले आदमी ने उसको एक बार धक्का दिया. वो चला गया, किसी ने उसको रोका नहीं. पुलिस अपना फ़र्ज़ निभाने में पूरी तरह नाकाम रही.

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के वकील से कहा कि वो तुरंत कमिश्नर से पूछें कि क्या वो व्यक्तिगत रूप से कन्हैया की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी लेने को तैयार हैं. वरना हम अपनी तरफ से आदेश जारी करेंगे. अदालत ने बस्सी को कन्हैया की सुरक्षा में नाकामी पर कल सुबह साढ़े दस बजे तक रिपोर्ट देने को कहा है.

r sbx kapil sibal and dabe vo 1702 LJ 02271405 r sbx kapil sibal and dabe vo 1702 LJ 02272215

इससे पहले आज सुबह ही सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को पटियाला हाउस कोर्ट में सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त करने का निर्देश दिया था. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि सुनवाई के दौरान कोर्ट में दोनो पक्षों के वकीलों के अलावा और कोई वकील नहीं होगा. वहीं आरोपी कन्हैया की तरफ से उसके परिवार के दो सदस्य या फिर उसकी तरफ से एक टीचर और एक छात्र मौजूद रह सकता है. इसके अलावा कोर्ट रूम के अंदर ज्यादा से ज्यादा 5 पत्रकारों और कोर्ट परिसर में 25 पत्रकारों की मौजूदगी की अनुमति दी गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने पटियाला हाउस कोर्ट में आने वाले लोगों की सही जांच पड़ताल के लिए दिल्ली हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को भी वहां मौजूद रहने का निर्देश दिया.

जेएनयू में लगे देश विरोधी नारों के विवाद में आखिरकार सुप्रीम कोर्ट को कड़ा रुख लेना पड़ा. दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार की इस किरकिरी के बाद विरोधियों ने भी मोदी सरकार पर हमला बोल दिया है. सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा है.

कन्हैया को चुप कराने की हर कोशिश हो रही है, हर उस शख्स को खामोश करने की कोशिश हो रही है जो संघ की विचारधारा का विरोध करता है. यही सुशासन है – आरएसएस वाला !!

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया कि अगर सर्वोच्च अदालत को कमान हाथ में लेने के लिए मजबूर होना पड़ा है तो यह प्रमाण है कि लोकतंत्र के पहले दो खम्भे पूरी तरह दरक चुके हैं.

हालांकि इस बीच देशद्रोह के आरोपी कन्हैया ने कोर्ट में कहा कि उसपर वकीलों ने हमला किया लेकिन उसे पुलिस ने बचाया. मुझे देश के संविधान पर भरोसा है. कन्हैया ने कोर्ट में हमला करने वाले वकील को भी पहचाना लेकिन वो वकील भाग निकलने में कामयाब रहा.

कोर्ट ने कन्हैया को 2 मार्च तक जेल भेजने का आदेश सुनाया. दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि पुलिस ने अदालत परिसर में हालात संभालने की पूरी कोशिश की थी. बस्सी ने ये भी का कि पुलिस कन्हैया की जमानत का विरोध नहीं करेगी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: FULL INFORMATION: delhi police to not oppose kanhaiya bail!
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Delhi Police kanhaiya kanhaiya bail
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017