ऑपरेशन रेल नीर: कैसे हुआ घोटाला?

By: | Last Updated: Sunday, 18 October 2015 5:43 AM
Full information on rail neer scam

नयी दिल्ली: राजधानी एक्सप्रेस, दुरंतो एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस, भारतीय रेल की शान मानी जाती हैं ये ट्रेन. ज्यादा पैसा देकर आप इन ट्रेनों से इसलिए सफर करते हैं जिससे न सिर्फ आपकी यात्रा सुखद रहे बल्कि आपके खाने-पीने के साथ यहां कोई खिलवाड़ न हो. पर आपको इन ट्रेन में जो बोतलबंद पानी मिला था उसके साथ खिलवाड़ हुआ.

 

रेल नीर की जगह आपको दिये गए साधारण पानी के बोतल. अधिकारियों की मिलीभगत से कंपनियां रेल से नीर जल का पैसा लेती थी और आपको देती थी कम कीमत पर बिकने वाला सस्ता पानी. रेल नीर के खेल में अरबों रुपये की लूट हुई. सीबीआई को छापे में मिली अब तक 28 करोड़ रुपये की नकदी.

 

कैसे हुआ रेल नीर घोटाला? कौन है वो शख्स जिसने ट्रेन में मिलने वाले पानी का चला रहा है साम्राज्य?

 

रेलवे रेल नीर घोटाला सीबाआई को छापे में अब तक बरामद 27 करोड़ मिले, जिसमें  से 4 लाख फ़र्ज़ी नोट हैं. तीन लोगों को पांच दिन के लिए कोर्ट ने हिरासत में भेजा. जिसमें शामिल है नार्दन रेलवे के ही दो अफसर.  उस समय के सीसीएम केटरिंग – एम एस चालिया, और संदीप साइलस. और तीसरा नाम है शरण बिहारी अग्रवाल. शरण बिहारी अग्रवाल रेलवे कैटरिंग में आज की तारिख का सबसे बड़ा नाम है.  

 

क्या है रेल नीर घोटाला?

रेल नीर के नाम पर किस तरह आपकी सेहत से खिलवाड़ किया गया. किस तरह रेल को चूना लगाया गया. ये हम आपको बताएंगे आगे पहले पढ़िए क्या है ये रेल नीर घोटाला?

 

पूरे देश में रेलवे के पांच रेल नीर प्लांट हैं.

दानापुर

नांगलोई

चेन्नई

मुम्बई

और अमेठी. irctc इन रेल नीर प्लांट को चलाती है. इन पांच प्लांट से हर रोज 6.25 लाख बोतल रेल नीर की सप्लाई होती है जबकि रेलवे को प्रतिदिन सभी ट्रेनों के लिए 25 लाख बोतलों की जरूरत पड़ती है. यानी मांग से आपूर्ति चार गुना कम है. 

 

नियमों के मुताबिक रेलवे के सभी राजधानी. शताब्दी और दुरंतो एक्सप्रेस में रेल नीर ही यात्रियों को दिया जाना जरूरी है. भारतीय रेल 23 शताब्दी, 21 राजधानी, और 17 दुरंतो एक्सप्रेस चलाती है. जिसमें से 4 राजधानी, 17 दुरंतो और 4 शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों में रेल नीर देने का काम IRCTC ता है. मतलब सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई आईआरसीटीसी के पास 65 प्रीमियम ट्रेनों में से 25 ट्रेनों में पानी पहुंचाने का जिम्मा है. बाकी 40 ट्रेनों में रेल नीर पहुंचाने की जिम्मेदारी रेल ने प्राइवेट केटरर को दे रखा है. 

 

सूत्रों के मुताबिक रेल नीर में जो घोटाला हुआ वो इन्हीं 40 ट्रेनों में जिनमें  रेल नीर पहुंचाने की जिम्मेदारी प्राइवेट कैटरर के पास थी. इन निजी कंपनियों में से एक ऐसी कंपनी है जिसके परिवार का रेल नीर पर चलता है पूरा का पूरा साम्राज्य.

 

अब बताते है कैसे हुआ घोटाला?

सीबीआई के मुताबिक प्राइवेट कंपनी IRCTC से रेल नीर 10 रुपये 50 पैसे प्रति बोतल खरीदती थी और इसे 15 रुपये के हिसाब से रेलयात्रियों को बेचती थी. मतलब करीब 5 रूपए प्रति बोतल का फायदा. अब देखिए घोटाला कैसे हुआ. प्राइवेट कंपनियों ने रेल नीर की मांग और आपूर्ति में चार गुना कमी का कुछ इस तरह से फायदा उठाया.

 

प्राइवेट कंपनियों ने रेल नीर की जगह साधारण पानी के बोतल खरीद कर राजधानी और शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनों में सप्लाई करना शुरू कर दिया. सीबीआई के मुताबिक साधारण ब्रांड की इन बोतलों की कीमत 5.70 पैसे से लेकर 7 रूपए तक होती थी. यानी रेल नीर का बोतल पर 5 रुपये का फायदा और साधारण बोतल पर सीधे करीब 10 रुपये का फायदा. 

 

रेल नीर से जब हमने कैमरे पर इस बावत बात करनी चाही तो कैमरे पर किसी ने कोई बात नहीं की लेकिन बिना कैमरे पर इतना जरुर बताया कि प्राइवेट केटर्रर अपने डिमांड का केवल 60 प्रतिशत ही ऑडर रेल नीर के लिए देते थे, बाकि 30 फीसदी दूसरा ब्रांड ही चलाते थे. और इसकी जानकारी हर महीने लिखित में रेलवे के नार्दन डिविजन को रेल नीर लिख कर देती थी. आखिरी चिट्टठी इस करी में 17.09.2015 को रेल नीर में नार्दन रेलवे को लिखी. यानी साफ है कि रेलवे के नाक के नीचे चल रहे इस गड़बड़ झाले का पता, रेलवे के नार्दन डिविजन को था. इसलिए सवाल रेलवे पर भी उठ रहे है कि फिर रेलवे के तरफ से क्या कार्यवाई की गई.

 

अब देखिए किस स्तर पर प्राइवेट कंपनियों ने पैसा लूटा. एक ट्रेन में 22-24 कोच होते हैं. एक कोच में 72 सीट फ़र्ज़ कीजिए 1000 पैसेंजर एक गाड़ी में चलतें हैं इनमें से 30 प्रतिशत यानी 300 लोगों को रेल नीर का 10.50 रुपये वाले बोतल की जगह 5.50 रुपये पैसे वाली बोतल दी जाती है, तो एक ट्रेन के एक ट्रिप से सिर्फ पानी घोटाले से कैटरर की कमाई हुई 1500. अगर कैटरर की पास 50 गाड़ियां भी दिन की हैं तो एक दिन में कमाई हुई 75000 रुपये. और महीने में कमाई हुई सिर्फ पानी से 22,50,000 रूपए.

 

आप समझ जाइए. एक महीने में सिर्फ पानी से तकरीबन साढे 22 लाख रुपये का कंपनी ने चूना लगाया ऊपर से आपकी सेहत से खिलवाड़ किया गया. 

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Full information on rail neer scam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: CBI Rail Neer scam Railway
First Published:

Related Stories

बिहार: लालू का नीतीश पर सृजन घोटाला दबाने का आरोप, तेजस्वी की सबौर सभा में लगी धारा 144
बिहार: लालू का नीतीश पर सृजन घोटाला दबाने का आरोप, तेजस्वी की सबौर सभा में...

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा
यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा

बहराइच: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ आने से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. इस बीच बहराइच में...

बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगा आयकर
बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल...

नई दिल्ली:  लालू परिवार के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाली है. एबीपी न्यूज को जानकारी मिली है कि...

अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की हत्या
अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की...

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल की...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए...

गोरखपुर: बीते हफ्ते गोरखपुर अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से हुई 36 बच्चों की मौत के मामले...

अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक सकते: CM योगी
अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धार्मिक स्थलों और कांवड़ यात्रा के दौरान...

बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली: तंत्र साधना के लिए 2 साल के बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट...

जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’
जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’

बेंगलूरू: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक सरकार की सस्ती खानपान सुविधा का उद्घाटन...

घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट
घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट

नई दिल्ली: घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों के लिए अच्छी खबर है. मोदी सरकार ने नी-रिप्लेसमेंट...

बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस
बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस

पटना: पडोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के कारण अचानक आयी बाढ़ से बिहार बेहाल...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017